एसडीएम के आश्वासन के चार वर्ष बाद भी नहीं बना मोटर मार्ग

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार।
एसडीएम के आश्वासन के चार साल भी पुलिण्डा-तछयाली-स्यालिंगा मोटर मार्ग नहीं बन पाया है। उक्त मोटर निर्माण की दिशा में अभी तक धरातल पर कोई काम नहीं हुआ है। स्व. सरोजनी देवी लोक विकास समिति इस मामले में आंदोलन की राह अपनाने की तैयारी में है।
समिति के अध्यक्ष राजेंद्र सिंह नेगी ने कहा कि विकास के दृष्टिकोण से घाड़ क्षेत्र की उपेक्षा एवं विभिन्न निर्माण कार्य लंबित होने के विरोध स्वरूप क्षेत्रीय जनता की सहमति से समिति के तत्वावधान में वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में नोटा के दबन का निर्णय लिया गया था। जिसकी सूचना भारत के निर्वाचन आयोग, मुख्यमंत्री एवं उच्च प्रशासनिक अधिकारियों को प्रेषित की गई थी। तत्पश्चात तत्कालीन उपजिलाधिकारी राकेश तिवारी द्वारा लंबित निर्माण कार्यों को पूरा करवाने का समिति को आश्वसन देने के साथ ही संबंधित अधिकारियों की बैठक बुलाई गई थी। लंबित निर्माण कार्यों में घराट-मुंडल मोटर मार्ग, पुलिण्डा-बल्ली-मथाणा मोटर मार्ग का सुधारीकरण, पुलिण्डा-लछयाली-भरतनगर-बल्ली पेयजल योजना, बल्ली-चौंडली मार्ग, चरेख-धरगांव-गहडगांव मोटर मार्ग एवं बल्ली-मथाणा-सिमलना-पोखरीखाल मार्ग आदि थे। उन्होंने कहा कि तत्कालीन उपजिलाधिकारी राकेश तिवारी द्वारा समिति को दी गई सूचना के अनुसार लोनिवि दुगड्डा द्वारा वर्ष 2017 के पश्चात पुलिण्डा-तछयाली-स्यालिंगा मोटर मार्ग का कार्य करने का लिखित आश्वासन दिया गया था, जो कि चार वर्ष पश्चात भी नहीं हो पाया है। उन्होंने कहा कि मोटर मार्ग के अभाव में ग्रामीणों को भारी दिक्कतों का सामना करना करना पड़ रहा है। जनहित में जल्द से जल्द मोटर मार्ग का निर्माण किया जाना आवश्यक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!