ट्रेंचिंग ग्राउंड में लगी भीषण आग, सहमे आसपास के लोग

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

-शुक्रवार रात से शुरू हुई आग, रुक-रुक शनिवार को भी रही जारी
-दमकल कर्मचारियों के आग पर काबू पाने में छूटे पसीने
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार : नगर निगम कोटद्वार के गाड़ीघाट स्थित ट्रेंचिंग ग्राउंड ने लोगों का जीना मुश्किल किया हुआ है। कभी यहां उठती तीखी दुर्गंध व कभी लगने वाली आग के कारण लोगों का सांस लेना तक मुश्किल हो गया है। गत शुक्रवार रात भी टेंचिंग ग्राउंड में भीषण आग लग गई जो शनिवार दिन तक रुक-रुक जारी रही। भीषण आग की घटना से टेंचिंग ग्राउंड के आसपास रहने वाले लोगों में रात भर दहशत का माहौल बना रहा। साथ ही नगर निगम की कार्यप्रणाली पर भी रोष व्यक्त किया है।
नगर निगम गठन के बाद गाड़ीघाट स्थित ट्रेंचिंग ग्राउंड में चालीस वार्डों का कूड़ा डाला जा रहा है। ट्रेंचिंग ग्राउंड में वर्तमान में प्रतिदिन साठ से सत्तर टन कूड़ा डाला जाता है। जिस कारण वहां सड़क पर भी कूड़ा फैल गया है और लोगों को आवाजाही में परेशानी उठानी पड़ रही है। इसके अलावा कूड़े का निस्तारण न होने के कारण ट्रेंचिंग ग्राउंड में कूड़े के विशाल पहाड़ खड़े हो गए हैं। जिससे उठती दुर्गंध के कारण लोगों का सांस लेना तक मुश्किल हो गया है। इसके अलावा यहां आग लगने की घटना भी आम हो गई है जो खुलेआम एनजीटी के नियमों का उल्लंघन है। गत शुक्रवार रात भी ट्रेंचिंग ग्राउंड में भीषण आग लग गई। जिससे झूलाबस्ती, लकड़ीपड़ाव व गाड़ीघाट समेत आसपास के लोग सहम गए। तेज हवा के साथ आग की पलटों का आबादी क्षेत्र में फैलने का डर बना हुआ था। लोगों ने इसकी सूचना दमकल कर्मचारियों को दी। जिसके बाद रात करीब साढ़े नौ बजे दमकल कर्मचारियों की एक टीम मौके पर पहुंची और बड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। जैसे ही टीम वहां से निकली, करीब पौने बारह बजे फिर से टे्रंचिंग ग्राउंड में आग भड़क गई। जिससे फिर से दमकल की टीम मौके पर पहुंची और सुबह चार बजे तक आग पर काबू पाने का प्रयास करती रही। इसके बाद शनिवार को भी दिन में करीब 12 बजे ट्रेंचिंग ग्राउंड की आग भड़क गई और एक बार फिर दमकल कर्मचारियों की टीम ने मौके पर पहुंच कर किसी तरह आग पर काबू पाया। यह आग लगने और बुझाने का खेल काफी समय से चल रहा है, लेकिन नगर निगम प्रशासन इस ओर कोई ठोस कार्रवाई को तैयार नहीं है।

ट्रेंचिंग ग्राउंड के जहरीले धुएं से बीमारियों का खतरा
सिर्फ ट्रेंचिंग ग्राउंड की आग ही लोगों के लिए मुसीबत नहीं बनी हुई है, बल्कि इससे उठने वाले धुएं ने भी लोगों की चिंता बढ़ा रखी है। दरअसल, ट्रेंचिंग ग्राउंड के इस जहरीले धुएं के कारण गंभीर बीमारियों के फैलने का डर बना हुआ है। ऐसे में लोगों में नगर निगम प्रशासन के प्रति आक्रोश बढ़ता जा रहा है।

शव दहन करना भी हो रहा मुश्किल
ट्रेंचिंग ग्राउंड का जहरीला धुआं पास ही स्थित मुक्तिधाम तक भी पहुंच रहा है। जिससे यहां शह दाह करना भी मुश्किल हो रखा है। हालात यह हैं कि अब अंतिम यात्रा में आने वाले अधिकांश लोग भी स्टेडियम के पास से ही वापस मुड़ जाते हैं। क्योंकि ट्रेंचिंग ग्राउंड के जहरीले धुएं के आगे सांस लेना तक मुश्किल हो जाता है।

पास में ही है स्टेडियम, खिलाड़ियों के स्वास्थ्य पर भी बुरा असर
गाड़ीघाट के जिस क्षेत्र में ट्रेंचिग ग्राउंड बनाया गया है, वहीं राजकीय स्पोट्र्स स्टेडियम भी है। स्टेडियम में प्रतिदिन स्थानीय युवा खेल प्रशिक्षण लेने आते हैं। लेकिन, इस जहरीले धुएं के बीच उनके लिए प्रशिक्षण लेना भी मुश्किल हो रहा है। ऐसे में सरकार के खेलो इंडिया अभियान का भी खुलेआम मजाक बन रहा है।

शुक्रवार रात ट्रेंचिंग ग्राउंड में आग लगने की सूचना मिली। जिस पर दमकल कर्मचारियों की टीम मौके पर भेजी गई। इसके अलावा शनिवार को भी दिन में ट्रेंचिंग ग्राउंड में आग लगी, जिस पर भी काबू पा लिया गया था।
सुरेश चंद्र, अग्नि शमन अधिकारी, कोटद्वार।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!