एनएचएम कर्मचारियों के रिन्युअल एवं योजनाओं में सुस्ती पर अफसर खफा

Spread the love

देहरादून। एनएचएम कर्मचारियों के रिन्युअल एवं नियुक्ति में लेटलतीफी पर सीएमओ ने डीपीएम से कड़ी नाराजगी जताई और तत्काल रिन्युअल के कार्य को पूरा कर पत्रावलियां उनके सामने प्रस्तुत करने के आदेश दिये। वहीं एनएचएम के तमाम कार्यों में सुस्त गति को लेकर अफसरों ने अधीनस्थ अफसरों एवं कर्मचारियों को सुधार का अल्टीमेटम दिया। ऐसा न होने पर कार्रवाई की चेतावनी दी। सीएमओ डा. मनोज उप्रेती एवं एसीएमओ डा. दिनेश चौहान ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत चल रहे कार्यक्रमों की समीक्षा गुरुवार को कार्यालय में की। मातृत्व स्वास्थ्य, शिशु स्वास्थ्य, नियमित टीकाकरण, किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम, बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम, आशा कार्यक्रम, संस्थागत प्रसव, एएनएसी, तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम, परिवार नियोजन, पीसी-पीएनडीटी, टीबी नियंत्रण कार्यक्रम आदि की समीक्षा की गई। कई कार्यक्रमों में बेहद सुस्त रफ्तार पर कड़ी फटकार लगाई गई। सीएमओ ने कहा कि कार्यक्रमों का क्रियान्वयन प्राथमिकता के आधार पर किया जाना जरूरी है। कार्यक्रमों के संचालन में लापरवाही को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जिला कार्यक्रम प्रबंधक को कार्मिकों के वार्षिक रिन्युअल को अविलंब पूरा करने के निर्देश दिये। वहीं लंबित नियुक्ति प्रक्रिया में तेजी लाने को कहा। एसीएमओ डा. चौहान ने कहा कि जिन ब्लॉकों की स्थिति लचर है उनसे जवाब तलब किया जाएगा। जिन कार्यक्रमों के लक्ष्य पूरे नहीं हो पाए हैं उन्हें प्राथमिकता के आधार पर दूसरी तिमाही में अनिवार्य रूप से पूरा कर लिया जाए। जिला लेखा प्रबंधक को कार्मिकों का लॉयल्टी बोनस प्राथमिकता के आधार पर निर्गत करने के निर्देश दिये। कार्मिकों का मासिक मानदेय एक तारीख को जरूर निकल जाए। कर्मियों के ईपीएफ प्रकरण पर कार्रवाई में तेजी लाएं व इसका निस्तारण करें। इस दौरान जिला कार्यक्रम प्रबंधक लक्ष्मण सिंह रावत, जिला कार्यक्रम अधिकारी किशोर स्वास्थ्य अनूप चौहान, डॉ. अमिदत कुमार, विवके गुसाई, बिमल मौर्य, पूजन नेगी, ममता बहुगुणा, अर्चना उनियाल, रेखा उनियाल, गीता शर्मा, दिनेश पाण्डेय, पंचम बिष्ट, देवेन्द्र पंवार,अंकुर नेगी, दीपा नांरग आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!