पढिए कोटद्वार की प्रमुख खबरें: कोटद्वार में डेंगू नहीं है फिर भी डेंगू व मलेरिया से सतर्क रहने की जरूरत, सिद्धबली मंदिर परिसर की मिट्टी अयोध्या भेजी जाय, यूथ कांगेस ने कोरोना जांच बढ़ाने की मांग की, मंत्री ने सनेह में दुकान बन्द कराई तो वैन से खुलेआम बेच रहे हैं शराब, महिलाओं ने दी आंदोलन की चेतावनी, पर्यावरण संरक्षण के लिए लोगों से आगे आने की अपील, मनमोहन झिक्वाण की स्मृति में किया वृक्षारोपण, पदोन्नति की मांग को लेकर आज से कर्मचारी कार्यबहिष्कार पर, कोटद्वार में दिनभर की भरी बारिश से जन जीवन अस्त-व्यस्त, पूर्व प्रधानाचार्य हरिचरण चतुर्वेदी नहीं रहे, वेशभूषा में कोटद्वार की प्रियांक्षा, त्योहार में रानीखेत के विशाल ने मारी बाजी, सिद्धबली के पास पहाड़ी से एनएच पर गिरा बोल्डर, हादसा टला, पौड़ी गढ़वाल में दो दिन से नहीं आया कोरोना केस, डीएम ने दिये आयुष रक्षा किट को प्राथमिकता से वितरित करने के निर्देश, विभिन्न विभागों में तैनात 250 कार्मिकों को भेंट की आयुष रक्षा किट, डीएम ने किया कोषागार का निरीक्षण, कोटद्वार की कौड़िया पुलिस चैकपोस्ट को टक्कर मार कर 15 पेटी शराब लेकर तश्कर पहुंचे सतपुली, कौड़िया चेक पोस्ट व सतपुली बैरियर में पुलिस कर्मियों को मारी टक्कर, हादसा टला, 12 सितम्बर को लगेगी ई-लोक अदालत, श्रीनगर से गुमशुदा महिला का शव ऐठाणा के जंगल में मिला, संजय ध्यानी बनें गढ़वाल विश्वविद्यालय के उपकुलसचिव

Spread the love

कोटद्वार में डेंगू नहीं है फिर भी डेंगू व मलेरिया से सतर्क रहने की जरूरत
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। जिस मौसम में डेंगू का मच्छर पनपता है, वो मौसम आने वाला है, ऐसे में प्रशासन को इसके लिए तैयार रहने और लोगों को सतर्क रहने की आवश्यकता है। नगर निगम प्रशासन डेंगू व मलेरिया को लेकर गंभीर हो गया है। निगम प्रशासन ने क्षेत्र में फोगिंग करना शुरू कर दिया है। स्वास्थ्य विभाग भी डेंगू को लेकर सर्तक हो गया है।
बरसात के मौसम में डेंगू और मलेरिया की बीमारी होने का खतरा अधिक रहता है। क्योंकि बरसात के समय ज्यादा दिनों से पानी जमा होने से डेंगू का मच्छर पैदा हो जाता है। पिछले दो-तीनों सालों में डेंगू ने कोटद्वार में खूब दहशत फैलाई थी। पिछले साल कोटद्वार में डेंगू से कई लोग संक्रमित हुए थे। यही वजह है कि नगर निगम प्रशासन ने इसके लिए अभी से कसरत शुरू कर दी है। नगर आयुक्त पीएल शाह ने अधिकारियों की बैठक लेकर उन इलाकों पर ज्यादा फोकस करने के लिए कहा है, जहां पिछले वर्ष बहुत ज्यादा डेंगू के केस मिले थे। नगर आयुक्त पीएल शाह ने बताया कि वार्डों में फागिग की जा रही है। जब तक आयवश्यकता होगी तब तक फागिग लगातार कराई जायेगी। साथ ही बंद पड़ी नालियों की भी सफाई कराई जा रही है। इसके अलावा जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। कूड़ा वाहनों में अब कुछ समय के लिए स्वच्छता के बजाय डेंगू और मलेरिया संबंधी गाने चलाये जायेगें। उन्होंने बताया कि नगर निगम की प्राथमिकता है कि बरसात के समय जलजनित बीमारियां न फैले।
वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. जेसी ध्यानी ने कहा कि वर्तमान में डेंगू के केस नहीं है। बरसात में डेंगू के मरीजों की संभावना बढ़ जाती है। इसका मच्छर साफ पानी में पैदा होता है। लोगों को इससे बचने के लिए बस इस बात का ध्यान रखना है कि घर और आसपास सफाई रखें। कहीं पर भी पानी अधिक समय तक न भरा रहने दें। जहां कहीं पर पानी हो वहां दवा आदि का छिड़काव करायें। यदि किसी को कमजोरी, जोड़ों में दर्द जैसी बुखार के दौरान शिकायत होती है तो वह किसी भी दशा में दर्द की दवा बिना डाक्टर की सलाह के न लें। डेंगू और मलेरिया रोग किसी न किसी माध्यम से फैलते हैं। बरसात में पानी इकट्ठा होने से मच्छरों के लार्वा पनपने लगता है। इससे बीमारी बढ़ने लगती हैं। डेंगू के लक्षणों के प्रति लापरवाही भारी पड़ सकती है। क्योंकि इससे प्लेटलेट्स घटने लगती हैं। इससे आंतरिक रक्तस्राव हो सकता है और मृत्यु हो सकती है। इसलिए लक्षण दिखने पर तुरंत नजदीक के किसी स्वास्थ्य केन्द्र पर दिखाना चाहिए। डेंगू के लक्षणों को हल्के में नहीं लेना चाहिए। इसकी तत्काल जांच कराकर इलाज कराना चाहिए। डॉक्टर ने बताया कि बरसात के समय फुल स्लीव कपड़े पहनने चाहिए, ताकि मच्छर काट न सके।

इकट्ठा नहीं होने दें पानी
मॉनसून में मच्छर के पनपने की सबसे अनुकूल परिस्थिति होती है, इसलिए मॉनसून में मच्छरों से अधिक सतर्क रहने की जरूरत होती है। डेंगू का मच्छर अन्य मच्छरों की तुलना में काफी अलग होता है। मच्छरजनित एवं संचारी रोगों से बचाव के लिए कूलर में ज्यादा समय तक पानी इकट्ठा नहीं होने दें। कूलर व टूटे-फूटे पड़े प्लास्टिक के बर्तनों में इकट्ठा पानी को बार-बार निस्तारित करते रहें। पानी इकट्ठा रहने वाले स्थान पर सप्ताह में एक बार जले मोबिल का छिड़काव जरूर करें। सोते समय मच्छरदानी का इस्तेमाल करना चाहिए।

एडीज मच्छर के कारण होता है डेंगू
मादा एडीज मच्छर के कारण डेंगू फैलता है। एडीज मच्छर दिखने में अन्य मच्छरों से बहुत ही अलग होता है। इस मच्छर के शरीर पर चीते जैसी धारियां बनी होती हैं। अन्य मच्छरों की तरह यह मच्छर रात में नहीं, बल्कि दिन में अधिक काटते हैं। इसलिए इस मच्छर से बचने के लिए सुबह और दिन के समय अधिक सतर्क रहने की जरूरत होती है। मादा एडीज मच्छर ज्यादा ऊंचाई तक उड़ नहीं सकती हैं। इनके उड़ने की क्षमता इंसानों के घुटनों तक ही होती है, इसलिए अपने शरीर के साथ-साथ पैरों को जरूर कपड़ों से ढककर रखें। यह मच्छर गंदी नालियों के पानी में नहीं, बल्कि साफ-सुथरे पानी में पनपते हैं, इसलिए अपने आस-पास साफ पानी को भी इकट्ठा ना होने दें। साफ-सुथरे शहरी इलाके के लोगों को डेंगू के मच्छर अधिक प्रभावित करते हैं।

सिद्धबली मंदिर परिसर की मिट्टी अयोध्या भेजी जाय
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। वरिष्ठ अधिवक्ता एवं आर्युवेद विश्वविद्यालय उत्तराखण्ड सरकार के सीनेट सदस्य अरूण कुमार भट्ट ने प्रदेश सरकार से प्रसिद्ध सिद्धबली मंदिर परिसर की मिट्टी राम निर्माण हेतु अयोध्या भेजने की मांग की है।
वरिष्ठ अधिवक्ता अरूण कुमार भट्ट ने कहा कि खोह नदी के किनारे स्थित प्रसिद्ध हनुमान जी के सिद्धबली मंदिर की मिट्टी भी राममंदिर निर्माण हेतु अयोध्या भेजी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि पौराणिक कथाओं में इस बात का भी जिक्र है कि श्री हनुमान जी संजीवनी बूटी लेने इस रास्ते से गये थे तथा कुछ समय इस सिद्ध स्थान पर रूके थे। वैसे भी राम भक्त हनुमान व श्री राम का निरन्तर साथ है। लिहाजा राम मंदिर निर्माण में सिद्धबली मंदिर परिसर की मिट्टी का मिश्रण भेजा जाना जरूरी है।

यूथ कांगेस ने कोरोना जांच बढ़ाने की मांग की
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। भारतीय राष्ट्रीय यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी पौड़ी गढ़वाल से जिले में कोरोना जांच बढ़ाने की मांग की है। ताकि कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। उन्होंने कहा कि जिले में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। लेकिन ना सिर्फ जिले में स्वास्थ्य व्यवस्था की स्थिति चिंताजनक है बल्कि जिले में प्रतिदिन बढ़ रहे संक्रमण के अनुपात में प्रतिदिन होने वाली सैंपल जांच की संख्या काफी कम है।
यूथ कांगे्रस के विधानसभा अध्यक्ष कोटद्वार विजय रावत ने प्रमुख अधीक्षक राजकीय बेस अस्पताल कोटद्वार डॉ. वीसी काला के माध्यम से मुख्य चिकित्सा अधिकारी पौड़ी गढ़वाल को प्रेषित पत्र में कहा कि वर्तमान में पूरे देश में कोविड-19 की महामारी चरम पर है। दिन प्रतिदिन देश-प्रदेश में कोरोना के मामले बढ़ते जी जा रहे है। संक्रमण के इस गंभीर दौर में यह अति आवश्यक है कि इस संक्रमण को फैलने से रोकने हेतु कोरोना संक्रमित लोगों की पहचान कर उन्हें जल्द आइसोलेट कर जरूरी उपचार उपलब्ध कराया जाय। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोविड-19 के संक्रमण को रोकने के लिए कोरोना जांच को बढ़ाना होगा। पौड़ी गढ़वाल में कोविड-19 की जांच को बड़े पैमाने पर विस्तारित करने हेतु स्वास्थ्य विभाग द्वारा व्यापक रूप से अभियान चलाया जाय, ताकि संक्रमित रोगियों की पहचान कर तत्काल आवश्यक उपचार करने के लिए कदम उठाये जा सके और संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। ज्ञापन देने वालों में नीरज बहुगुणा जिला महासचिव, सूर्यमणि नगर मंत्री, हिमांशु बहुखण्डी छात्र संघ अध्यक्ष, आरीफ, मुदित, सुनील थापा आदि शामिल थे। (फोटो संलग्न है)
कैप्शन01: प्रमुख अधीक्षक डॉ. वीसी काला को ज्ञापन सौंपते हुए यूथ कांगे्रस कार्यकर्ता।

मंत्री ने सनेह में दुकान बन्द कराई तो वैन से खुलेआम बेच रहे हैं शराब
महिलाओं ने दी आंदोलन की चेतावनी
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। सनेह क्षेत्र की महिलाओं ने आरोप लगाते हुए कहा कि स्थानीय विधायक एवं काबीना मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत के आश्वासन के बावजूद भी सनेह चौराहे पर वैन से खुले आम शराब बेची जा रही है। जिससे महिलाओं में रोष व्याप्त है। महिलाओं ने जल्द ही वैन से शराब की बिक्री बंद न होने पर आंदोलन की चेतावनी है।
मंगलवार को सनेह क्षेत्र की महिलाएं समाजसेवी अंजू पुण्डीर के नेतृत्व में तहसील पहुंची। महिलाओं ने प्रभारी तहसीलदार विकास अवस्थी को ज्ञापन सौंपते हुए कहा कि सनेह तल्ली में शराब का ठेका खेला गया। जिसके विरोध में स्थानीय महिलाओं ने आंदोलन किया। आंदोलन बाद शराब की दुकान पर तो ताला दिया गया, लेकिन सनेह चौराहे पर वैन खड़ी करके शराब की बिक्री की जा रही है। उन्होंने कहा कि एक माह पूर्व स्थानीय विधायक एवं प्रदेश के वन मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत से शराब की वैन हटाने की मांग को लेकर महिलाओं का एक प्रतिनिधि मंडल मिला। काबीना मंत्री ने महिलाओं को शराब की वैन हटाने का आश्वासन दिया था। महिलाओं ने मंत्री के आश्वासन पर दो सप्ताह के लिए धरना प्रदर्शन स्थगित कर दिया था, लेकिन एक माह बीत जाने के बावजूद भी शराब की वैन सेनह चौराहे पर खुल्लेआम शराब बेची जा रही है। जिस कारण स्थानीय लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि सनेह चौराहे पर वैन से शराब की बिक्री होने से स्थानीय महिलाओं व लड़कियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं युवा भी नशे के आदी हो रहे है। ज्ञापन में अंजू पुण्डीर, बीना कोटियाल, सतेश्वरी देवी, रेनू कोठियाल, सतेश्वरी देवी, कुसुम नेगी, शांति नेगी, हिमानी देवी, अर्चना देवी, कमला देवी, रीना, सुमन देवी, मीना देवी, संगीता देवी, किरन देवी, मालती देवी, नन्दी देवी, बबली देवी, उर्मिला देवी, सावित्री देवी, मीना देवी, आशा देवी, सुनीता देवी, विमला देवी, सुशीला देवी, देवेश्वरी देवी, शोभा देवी, छोटी देवी, दीपा देवी, अभिलाषा देवी, गणेशी देवी, रजनी देवी, शशि देवी, लीला देवी, वीना कोटियाल, रेनू कोटियाल, कमला देवी, सुनीता देवी, सुशीला देवी, पार्वती देवी, शोभा देवी, लक्ष्मी देवी, राधा, ऊमा देवी के हस्ताक्षर है।


 सनेह क्षेत्र की महिलाएं प्रभारी तहसीलदार विकास अवस्थी को ज्ञापन सौंपते हुए।

पर्यावरण संरक्षण के लिए लोगों से आगे आने की अपील
मनमोहन झिक्वाण की स्मृति में किया वृक्षारोपण
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। वृक्षारोपण के प्रति लोगों में जागरूकता करने के उद्देश्य से जय हो छात्र संगठन द्वारा वन विभाग की भूमि में वृक्षारोपण किया गया। इस दौरान समाज सेवियों व छात्रों ने फलदार प्रजाति के 100 पौधे रोपे। छात्रों ने आमलोगों से पौधरोपण के लिए आगे आने की अपील की। उन्होंने कहा कि पर्यावरण संरक्षण आज की जरूरत है। यह किसी एक व्यक्ति के वश की बात नहीं है। पर्यावरण संरक्षण सामूहिक जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि पौधरोपण से पर्यावरण स्वच्छ रहेगा तथा भूमिगत जल भी सुरक्षित रहेगा। यह हमारी आने वाली पीढ़ियों के लिए अति आवश्यक है।
मंगलवार को त्रिभुवन झिक्वाण के निवास ग्रास्टनगंज के निकट जगंल में वृक्षारोपण अभियान चलाया गया। पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष अरूण मोहन डोबरियाल ने कहा कि जय हो छात्र संगठन द्वारा जय हो के संस्थापक स्व. मनमोहन झिक्वाण की स्मृति में 15 हजार वृक्ष लगाने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि पर्यावरण प्रदूषण के कारण कई समस्याएं उत्पन्न हो रही हैं। इससे बचाव के लिए स्वच्छ पर्यावरण बनाए रखना जरूरी है। लोगों को इको फ्रेंडली होना होगा। तभी स्वच्छ पर्यावरण मानव जीवन के लिए उपयोगी होगा। उन्होंने पौधरोपण व इनके संरक्षण पर जोर देते हुए कहा कि स्वस्थ वातावरण के लिए जागरूक रहना होगा। इस अवसर पर त्रिभुवन झिक्वाण, राजीव पटवाल, ऋषभ रावत, राजेश रावत, रोहित नेगी, अरूण, अनुराग रावत, आजीम, शुभम डोबरियाल, अजीत आदि मौजूद थे।

पदोन्नति की मांग को लेकर आज से कर्मचारी कार्यबहिष्कार पर
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। एजुकेशनल मिनिस्ट्रीयल ऑफिसर्स एसोसिएशन उत्तराखण्ड गढ़वाल मंडल से जुड़े कर्मचारी वरिष्ठ सहायक से प्रधान सहायक पद पर पदोन्नति की मांग को लेकर बुधवार और गुरूवार को कार्यबहिष्कार पर रहेगें। 31 जुलाई को ऑनलाइन बैठक के माध्यम से आंदोलन की रणनीति तय की जायेगी।
जनपद पौड़ी में मुख्य शिक्षा अधिकारी पौड़ी को ज्ञापन देते हुए मंडलीय सचिव सीताराम पोखरियाल ने कहा कि निदेशालय प्रारंभिक शिक्षा उत्तराखंड द्वारा 30 जून 2020 को वरिष्ठ सहायक से प्रधान सहायक पदों पर बिना पदस्थापना के सूची जारी की गई, परन्तु 28 दिन बीतने के बाद भी 28 जुलाई 2020 तक पदस्थापना ना होने से कर्मचारियों में रोष व्याप्त है। उन्होंने कहा कि गूगूल ऐप के माध्यम से 25 एवं 27 जुलाई 2020 को समस्त गढ़वाल मंडल के समस्त मंडलीय/जनपदीय पदाधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुई बैठक में लिए गए निर्णय के क्रम में मंगलवार को गढ़वाल मंडल में सभी जनपदीय कार्यकारणी द्वारा मुख्य शिक्षा अधिकारियों के माध्यम से महानिदेशक विद्यालयी शिक्षा उत्तराखण्ड और निदेशक प्रारम्भिक शिक्षा उत्तराखण्ड को ज्ञापन प्रेषित किया गया। उन्होंने कहा कि 29 एवं 30 जुलाई 2020 को गढ़वाल मण्डल में एजुकेशनल मिनिस्ट्रीयल ऑफीसर्स एसोसिएशन के समस्त सदस्य कार्य बहिष्कार पर रहेंगे। मुख्य शिक्षा अधिकारी पौड़ी को ज्ञापन देने वालो में मंडलीय सचिव सीताराम पोखरियाल, जनपदीय सचिव पौड़ी दीपक बहुगुणा, विजयपाल सिंह रावत, कुलदीप रावत, दिनेश गैरोला, नवल किशोर निराला, नरेंद्र सिंह रावत आदि शामिल थे।

कोटद्वार में दिनभर की भरी बारिश से जन जीवन अस्त-व्यस्त
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। मंगलवार सुबह करीब चार बजे से लगातार हो रही झमाझम बारिश से जन जीवन अस्तव्यस्त रहा। बारिश से लोगों के चेहरे भी खिल गए। बारिश के चलते मंगलवार सुबह बाजार में भी सन्नाटा रहा। तेज बारिश से शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्र में सड़क कीचड़ में तब्दील हो गई। बारिश के चलते लोगों का घरों से निकलना भी मुश्किल हो गया। बारिश के बाद तापमान में भारी गिरावट आ गई।
मंगलवार सुबह चार बजे से लेकर लगभग 10 बजे तक हुई झमाझम बारिश से जन-जीवन प्रभावित रहा। लगातार बारिश होने से लोग घरों में रहे। वहीं बारिश से खोह, सुखरो, मालन नदी का जल स्तर बढ़ गया है। बारिश ने उमस से काफी राहत दी। लोगों ने बारिश में भीगकर खूब मजा लिया। बारिश होने से मौसम ठंडा हो गया, लेकिन जगह-जगह जल भराव होने से नगर निगम की पोल भी खुल गई। बारिश होने से झण्डाचौक, बदरीनाथ मार्ग, स्टेशन रोड, मालगोदाम रोड, गाड़ीघाट, आमपड़ाव, देवी रोड, काशीरामपुर तल्ला, सिताबपुर रोड, पदमपुर रोड में जल भराव होने से लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। बारिश के कारण कूड़े से पटी नालियां चोक होने में देर नहीं लगी। जिससे सड़कों पर पानी भरा गया। स्थानीय लोगों का कहना है कि झण्डाचौक पर बरसात के समय पानी भरना आम बात है। यह सिलसिला पिछले कई वर्षों से चला आ रहा है। उन्होंने कहा कि नगर निगम प्रशासन ने झण्डाचौक के आसपास नालियों की सफाई भी समय से नहीं कराई थी। बारिश होने से नालियों का सारा कूड़ा-कचरा सड़क पर बहने लगा। जिस कारण राहगीरों व वाहन चालकों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा। उन्होंने कहा कि इस समस्या के निराकण के लिए नगर निगम प्रशासन को ठोस योजना बनाने की जरूरत है।


 पदमपुर रोड में सड़क पर पानी जमा होने से फंसी कार।

सिम्बलचौड़ में हुआ जल भराव
मंगलवार सुबह मूसलाधार बारिश होने से सिम्बलचौड़ में नाला चौक होने से सिम्बलचौड़ में लोगों के घरों में पानी घुस गया। जिस कारण स्थानीय निवासियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा। सूचना पर नगर निगम की टीम मौके पर पहुंची। टीम ने जेसीबी मशीन के माध्यम से नाले को खुलवाया।
मंगलवार सुबह क्षेत्र में हुई भारी बारिश से सिम्बलचौड़ क्षेत्र में जलभराव ने क्षेत्रवासियों को परेशान कर दिया। नाला बंद होने से हुए जलभराव का पानी कई घरों में जा पहुंचा। प्रभावित परिवारों का कहना है कि कई बार जलभराव की समस्या नगर निगम के अधिकारियों तक पहुंचा चुके हैं, लेकिन समस्या का समाधान नहीं हुआ। स्थानीय निवासी विकास का कहना है कि थोड़ी देर बारिश भी लोगों को परेशान कर देती है। इसकी वजह वे नाले की समुचित निकासी न होना, नाले का गहरा न होना और समस्या के समाधान में नगर निगम की दिलचस्पी न लेना बताते हैं। उन्होंने कहा कि सिम्बलचौड़ में कई जगह हो रहे जलभराव ने राहगीरों का सड़क पर चलना मुश्किल कर दिया है। कई बार की शिकायत पर भी शहर की व्यवस्थाओं को संभालने वाले नगर निगम सुनवाई नहीं कर रहा है। नगर निगम के सफाई निरीक्षक सुनील कुमार ने बताया कि जेसीबी मशीन से नाले की सफाई करा दी गई है।

पूर्व प्रधानाचार्य हरिचरण चतुर्वेदी नहीं रहे
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सक्रिय कार्यकर्ता एवं मेहरबान सिंह कंडारी विद्या मंदिर इंटर कॉलेज के पूर्व प्रधानाचार्य 65 वर्षीय हरिचरण चतुर्वेदी का मंगलवार सुबह हृदयगति रूकने से आकस्मिक निधन हो गया है। उनके निधन से क्षेत्र में शोक की लहर व्याप्त है। उनके निधन पर क्षेत्र के विभिन्न सामाजिक संगठनों ने शोक व्यक्त किया। उनका अंतिम संस्कार बुधवार सुबह किया जायेगा।


65 वर्षीय हरिचरण चतुर्वेदी मानपुर में अपनी पत्नी कुसुमलता चतुर्वेदी के साथ रहते थे। समाजसेवी विनोद चन्द्र कुकरेती ने बताया कि एक-दो दिन पूर्व हरिचरण चतुर्वेदी मार्निग वॉक पर घूमने गये थे। मार्निग वॉक से लौटने के बाद उन्हें बेचैनी महसूस हुई। जिसके बाद वह राजकीय बेस अस्पताल में पहुंचे। जहां चिकित्सकों ने उन्हें वॉक के दौरान मास्क न पहनने की सलाह दी। साथ ही उन्हें दवाएं भी दी। मंगलवार सुबह करीब दस बजे घर पर वह नाश्ता कर रहे थे। इसी दौरान अचानक नाश्ता करते हुए टेबिल पर गिर गये। आस-पड़ोस के लोग उन्हें लेकर राजकीय बेस अस्पताल पहुंचे। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। हरिचरण चतुर्वेदी राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ में जिला बौद्धिक प्रमुख, जिला प्रचार प्रमुख, जिला कार्यवाह आदि पदों पर रहे। वह देवभूमि विचार मंच, साहित्यांचल, नागरिक मंच, वरिष्ठ नागरिक मंच, नव वर्ष अभिनन्दन समारोह समिति सहित विभिन्न सामाजिक संगठनों से जुड़े हुए थे। वह अपने पीछे पत्नी और दो बेटों का परिवार छोड़ गये है। बड़ा बेटा पुनीत हल्द्वानी में रहता है। जबकि छोटा बेटा विनीत चतुर्वेदी दुबई में सॉफ्टवेयर इंजीनियर है।

वेशभूषा में कोटद्वार की प्रियांक्षा, त्योहार में रानीखेत के विशाल ने मारी बाजी
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। डॉ. पिताम्बर दत्त बड़थ्वाल हिमालयन राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय कोटद्वार द्वारा एक भारत श्रेष्ठ भारत क्लब के तत्वाधान में विरासत अपना उत्तराखंड अपनी संस्कृति श्रृंखलाबद्ध ऑनलाइन ज्ञान प्रतियोगिता का आयोजन 19 जुलाई से 8 अगस्त तक किया जा रहा है। वेशभूषा में प्रियांक्षा जंग बीएड द्वितीय वर्ष महाविद्यालय कोटद्वार प्रथम, त्योहार प्रतियोगिता में विशाल चंद फुलारा एमए संगीत महाविद्यालय रानीखेत ने प्रथम स्थान प्राप्त किया।
क्लब के समन्वयक डॉ. महंत मौर्य ने बताया कि इस श्रृंखलाबद्ध सांस्कृतिक ज्ञान प्रतियोगिता के प्रथम सप्ताह में 19 से 25 जुलाई तक प्रतिभागियों को त्योहार तथा वेशभूषा दो विधा में से किसी एक पर जानकारी देते हुए अपनी वीडियो क्लिप बनाकर पोस्ट करना था। इस प्रतियोगिता में उत्तराखंड के कुमाऊं तथा गढ़वाल मंडल के राजकीय महाविद्यालयों के साथ-साथ कुमाऊं विश्वविद्यालयके डीएसबी परिसर नैनीताल, और उत्तराखंड ओपन विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं ने प्रतिभाग किया। प्रतियोगिता संयोजिका डॉ. सीमा चौधरी ने बताया कि प्रतियोगिता का उद्देश्य छात्र-छात्राओं में अपनी संस्कृति के प्रति जागरूकता पैदा करना है। प्रतियोगिता में छात्र-छात्राओं का बढ़ चढ़कर प्रतिभाग करना दर्शाता है कि आज की युवा पीढ़ी भी अपनी संस्कृति के प्रति जागरूक है। आयोजन सचिव डॉ. संजीव कुमार ने बताया कि प्रथम विधा वेशभूषा में प्रियांक्षा जंग बीएड द्वितीय वर्ष महाविद्यालय कोटद्वार प्रथम, पुष्पा जोशी एमएसडब्लू द्वितीय सेमेस्टर यूओयू देहरादून और अंजली भट्ट बीए चतुर्थ सेमेस्टर महाविद्यालय ऋषिकेश ने संयुक्त रूप से द्वितीय, नियंता गढ़कोटी एमएससी चतुर्थ सेमेस्टर भौतिक विज्ञान महाविद्यालय ऋषिकेश और रितिक कुमार टम्टा बीए द्वितीय सेमेस्टर महाविद्यालय लोहाघाट चंपावत ने संयुक्त रूप से तृतीय स्थान प्राप्त किया। त्योहार प्रतियोगिता में विशाल चंद फुलारा एमए संगीत महाविद्यालय रानीखेत प्रथम, गौरव चंद्र भट्ट एमए अंग्रेजी महाविद्यालय रानीखेत, निशा राजपूत एमए द्वितीय सेमेस्टर महाविद्यालय कोटद्वार ने संयुक्त रुप से द्वितीय, मनोरमा सनवाल बीएससी प्रथम सेमेस्टर महाविद्यालय लोहाघाट चंपावत, शिवानी नेगी बीए चतुर्थ सेमेस्टर महाविद्यालय जयहरीखाल, तनुज कुमार लोहुमी पीजी कॉलेज हल्द्वानी, निकिता बीए तृतीय वर्ष महाविद्यालय रायपुर देहरादून संयुक्त रूप से तृतीय स्थान पर रहे।
महाविद्यालय की प्राचार्या प्रो. जानकी पवार ने कहा कि देश की विविधता में एकता को बढ़ावा देने के लिए भारत सरकार के पर्यटन मंत्रालय की योजना ‘देखो अपना देश’ के अंतर्गत एक भारत श्रेष्ठ भारत क्लब के माध्यम से छात्र-छात्राओं में उत्तराखंड की संस्कृति के प्रति जागरूक करने के लिए श्रृंखलाबद्ध ऑनलाइन प्रतियोगिता आयोजित की गई। इस मौके पर डॉ. प्रीति रानी, डॉ. अमित जायसवाल, डॉ. किशोर सिंह चौहान, डॉ. शोभा रावत, डॉ. मुकुल कुमार, डॉ. तनु मित्तल, डॉ. सुनीता नेगी, डॉ.विनोद सिंह, डॉ. लता कैडा उपस्थित रहे।

सिद्धबली के पास पहाड़ी से एनएच पर गिरा बोल्डर, हादसा टला
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। राष्ट्रीय राजमार्ग 534 नजीबाबाद-बुआखाल पर कोटद्वार-दुगड़्डा के बीच पहाड़ी से पत्थर गिरने से मार्ग पर यातायात ठप हो गया है। गनीमत रही कि जिस समय सड़क पर पत्थर गिरे उस समय कोई वाहन आवाजाही नहीं कर रहा था, जिस कारण एक बड़ा हादसा होने से टल गया।
मंगलवार सांय को करीब पौने सात बजे नेशनल हाईवे 534 पर कोटद्वार-दुगड्डा के बीच सिद्ध्रबली मंदिर से आगे पहाड़ी से अचानक पत्थर गिरकर सड़क पर आ गया। कुछ सेकेण्ड पहले की वहां से एक वाहन गुजरा था, यदि पत्थर वाहन के ऊपर गिरता तो एक बड़ी अनहोनी हो सकती थी। बता दें कि मंगलवार सुबह से दुगड्डा ब्लॉक में भारी बारिश हो रही है और इस कारण यहां जगह-जगह भूस्खलन हो रहे हैं। ऐसे में यात्रा कर रहे लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ज्ञात हो कि तीन दिन पहले भी एनएच 534 कोटद्वार-दुगड्डा के बीच चूनाधार के समीप सड़क का कुछ हिस्सा खोह नदी में समा गया था। जिस कारण सड़क पर यातायात बाधित हो गया था। राष्ट्रीय राजमार्ग विभाग ने पहाड़ी की ओर कटान कर यातायात सुचारू कर दिया था। कोतवाली प्रभारी निरीक्षक मनोज रतूड़ी ने बताया कि सिद्धबली मंदिर से आगे पहाड़ी से पत्थरों के गिरने का सिलसिला जारी है। पहाड़ी से बड़े-बड़े पत्थर गिर रहे है। इस संबंध में राष्टीय राजमार्ग विभाग के अधिकारियों को सूचना दे दी गई है। साथ ही मार्ग पर बड़े वाहनों की आवाजाही बंद कर दी है।

पौड़ी गढ़वाल में दो दिन से नहीं आया कोरोना केस
जयन्त प्रतिनिधि।
पौड़ी। पौड़ी जनपद के लिए सोमवार और मंगलवार का दिन राहत भरा रहा। जिले में दो दिन से कोई भी कोरोना संक्रमित नहीं हुआ है। जिले में अब तक 199 लोगों कोरोना संक्रमित हो चुके है। जनपद में वर्तमान समय में 17 रोगी आइसोलेशन में भर्ती है, जो बेस अस्पताल कोटद्वार में है। कोविड केयर सेंटरों में 29 लोग हैं। जनपद में 2832 लोगों को विभिन्न क्षेत्र में स्वास्थ्य विभाग की निगरानी पर होम क्वारंटाइन में रखा गया है।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय परिसर में स्थापित वार रूम की रिपोर्ट के अनुसार जनपद में आइसोलेशन व रेण्डम रूप से 9554 सैम्पल जांच हेतु भेजे गये, जिनमें से 8424 निगेटिव, 931 लम्बित है। 199 एक्टिव केस में से 182 ठीक हुए, 4 की मृत्यु हुई। जबकि जिले में 13 अभी एक्टिव केस है। जनपद में वर्तमान समय में 17 रोगी आइसोलेशन में भर्ती है, जो बेस अस्पताल कोटद्वार में है। कोविड केयर सेंटरों में 29 लोग हैं, जिनमें 10 नर्सिंग कॉलेज डोब श्रीकोट, 6 परमार्थ निकेतन स्वार्गाश्रम ट्रस्ट, 13 सीसीसी कौड़िया कैम्प में है। जनपद में 38 लोगों को क्वारंटाइन में रखा गया है, जिनमें 6 होटल कार्बेट पैराडाइज, 1 पैरामाउंट होटल, 9 जीएमवीएन पौड़ी, 9 जूनियर हाईस्कूल ग्रास्टनगंज, 8 बारातघर कन्यूनिटी हॉल, 5 होटल रिलेक्स कोटद्वार में क्वारंटाइन पर है। आइसोलेशन से भर्ती 382 कोरोना संदिग्ध लोगों का सैम्पल जांच हेतु भेजा गया, जिनमें से 318 की रिपोर्ट निगेटिव, 13 की लंबित है। जबकि अब तक 51 की पॉजिटिव रिपोर्ट आ चुकी है। वहीं क्वारंटाइन आदि अन्य स्थलों में बाहर से आये 9172 लोगों का रेण्डम रूप से ली गई सैम्पल जांच हेतु भेजा गया, जिनमें से 8106 की रिपोर्ट निगेटिव, 918 की लंबित है। जबकि 148 लोगों की अब तक पॉजिटिव रिपोर्ट आ चुकी है। जिसमें 2 संक्रमित जनपद टिहरी जनपद क भी है। जनपद में 2832 लोगों को विभिन्न क्षेत्र में स्वास्थ्य विभाग की निगरानी पर होम क्वारंटाइन में रखा गया है। जिला प्रशासन/स्वास्थ्य विभाग द्वारा क्वारंटाइन पर निवासरत लोगों कोे उचित समयावधि तक क्वारंटाइन पर रहने की आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। साथ ही नियत समय पर खांसी, जुखाम, बुखार, कफ, सांस की तकलीफ आदि रोग की लक्षण होने पर करीब के स्वास्थ्य केन्द्र अथवा आपदा कन्ट्रोल रूम दूरभाष नम्बर 01368-221840, वार रूम कोविड 19 दूरभाष नम्बर 01368-222213, पर सूचित करने को कहा है। जबकि ग्राम प्रधान एवं ग्राम विकास अधिकारियोंं को भी क्वारंटाइन में रहने वाले लोगों का स्वास्थ्य खराब होने पर तत्काल सूचना देने को कहा गया है।

डीएम ने दिये आयुष रक्षा किट को प्राथमिकता से वितरित करने के निर्देश
विभिन्न विभागों में तैनात 250 कार्मिकों को भेंट की आयुष रक्षा किट
जयन्त प्रतिनिधि।
पौड़ी। काविड-19 के दृष्टिगत मंगलवार को आयुष विभाग द्वारा जनपद स्थित कार्यालयों में तैनात कार्मिकों को आयुष रक्षा किट (रोग प्रतिरोधक औषधी) वितरित की गई। जिला आयुर्वेद यूनानी अधिकारी पौड़ी ने जिलाधिकारी धीराज सिंह गब्र्याल को आयुष रक्षा किट भेंटकर किट वितरण का शुभारंभ किया। जिलाधिकारी ने जिला आयुर्वेद यूनानी अधिकारी को निर्देशित किया कि जनसामान्य एवं कोरोना वारियर्स को आयुष रक्षा किट (रोग प्रतिरोधक औषधी) को प्राथमिकता से वितरित करें।
जिला आयुर्वेद एवं यूनानी अधिकारी सुभाष चन्द्र ने कहा कि मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिह रावत एवं आयुष मंत्री डा. हरक सिह रावत के निर्देशन पर आयुष एवं आयुष शिक्षा विभाग उत्तराखण्ड द्वारा पूरे राज्य में आयुष रक्षा किट (रोगप्रतिरोधक औषधी) जनसामान्य एवं कोविड वारियर्स को नि:शुल्क वितरित की जा रही है। उन्होंने कहा कि आयुष रक्षा कीट में औषधी सेवन करने की जानकारी दी गई है। किट के भीतर अश्वगंधा वटी, संशमनी वटी तथा इम्यूनिटी क्वाथ चूर्ण मौजूद है। जिसे नियमित 15 दिनों तक सेवन किया जाना है। उन्होंने कहा कि जिला आयुष टीम द्वारा मंगलवार को जिला मुख्यालय में कार्यालय जिलाधिकारी पौड़ी गढ़वाल, कार्यालय आयुक्त गढ़वाल, अपर निदेशक शिक्षा, ग्राम्य विकास, अपर निदेशक माध्यमिक, जिला शिक्षा अधिकारी, जिला युवा कल्याण, कार्यालय ग्राम्य विकास निदेशालय आदि कार्यालयों में 250 से अधिक किटों को वितरण किया गया है। टीम में डा. रिजु जखमोला, चीफ फार्मासिस्ट दिनेश प्रसाद थपलियाल, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी दिनेश पुरोहित सहित संबंधित कार्मिक मौजूद थे।

डीएम ने किया कोषागार का निरीक्षण
जयन्त प्रतिनिधि।
पौड़ी। जिलाधिकारी धीराज सिंह गब्र्याल ने मंगलवार को मुख्य कोषागार पौड़ी का रूटीन निरीक्षण कर, वित्तीय कार्यो का जायजा लिया। उन्होंने डबल लॉक कक्ष में मूल्यवान वस्तु, पेंशन एवं लेखा अभिलेखों का निरीक्षण किया। डबल लॉक कक्ष में मौजूद पुराने स्टाम्प पेपर को लेकर उन्होंने कोषाधिकारी प्रवीण बडोनी को प्राथमिकता के साथ निस्तारण करने निर्देश दिये। इस अवसर पर सहायक लेखा अधिकारी राजेश कुमार सहित अन्य कार्मिक उपस्थित थे।

कोटद्वार की कौड़िया पुलिस चैकपोस्ट को टक्कर मार कर 15 पेटी शराब लेकर तश्कर पहुंचे सतपुली
कौड़िया चेक पोस्ट व सतपुली बैरियर में पुलिस कर्मियों को मारी टक्कर, हादसा टला
जयन्त प्रतिनिधि।
सतपुली। मंगवार को कोटद्वार, दुगड्डा और गुमखाल पुलिस चौकियों को चकमा देकर शराब तस्कर गुड़गांव से कार में 15 पेटी शराब लेकर सतपुली पहुंच गये। सतपुली में शराब तस्कर ने पुलिस बैरियर को तोड़ने का प्रयास किया, लेकिन वह असफल रहा। सतपुली पुलिस ने दो शराब तस्कारों को गिरफ्तार कर 15 पेटी अवैध शराब बरामद की है। साथ ही कार को भी सीज कर लिया है। शराब तस्कर गुरूग्राम हरियाणा से शराब ला रहा था। कार चालक ने कोटद्वार की कौड़िया चेक पोस्ट व सतपुली बैरियर में डयूटी पर तैनात पुलिस कर्मियों को टक्कर मारी। गनीमत रही कि पुलिस कर्मियों को गंभीर चोटें नहीं आई।
मंगलवार को सुबह कोटद्वार कौडिया चेक पोस्ट की ओर आरजे लिखा हुआ एक वाहन नजीबाबाद की ओर से तेजी से आ रहा था। चेक पोस्ट पर उपनिरीक्षक महेश पाल व कांस्टेबल चरण सिंह ने रोकने का प्रयास किया तो वाहन चालक डयूटी पर तैनात कर्मियों को टक्कर मारकर व बैरियर तोड़कर फरार हो गया। जिसकी सूचना पुलिस कर्मियों ने उच्चाधिकारियों व कंट्रोल रूम को दी। उच्चाधिकारियों के निर्देशानुसार पुलिस टीम गठित कर सभी थाना/चौकियों को अपने-अपने क्षेत्रान्तर्गत समस्त बैरियर/चैक पोस्टों पर सघन चैकिंग अभियान चलाकर संदिग्ध वाहन (सफेद रंग की ब्रेजा) को रोकने हेतु निर्देशित किया गया। वाहन चालक दुगड्डा और गुमखाल पुलिस को भी चकमा देकर फरार हो गया। थाना सतपुली पुलिस द्वारा संदिग्ध वाहन को पकड़ने के लिए बैरियर लगाया गया। कार चालक ने पुलिस बैरियर देखते ही और तेजी से वाहन चलाकर बैरियर पर टक्कर मार दी। जिससे बैरियर पर तैनात कांस्टेबल शूरवीर सिंह को चोटें आई। पुलिस ने वाहन चालक सहित दो लोगों को गिरफ्तार कर कार से 15 पेटी हरियाणा ब्रांड की शराब बरामद की। थानाध्यक्ष त्रिभुवन रौतेला ने बताया कि शमीर पुत्र सुमीर खान निवासी हाउस नम्बर 6, गली नम्बर 6, बजरंग धाम, शीतला मंदिर कॉलोनी, थाना सेक्टर 5, जिला गुडगांव हरियाणा, रमीज पुत्र सल्लामुद्दीन ग्राम तलारपुर, पालपुर, थाना शेखपुर अहीर, जिला अलबर, राजस्थान को गिरफ्तार किया गया है। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि प्रकार पुलिस द्वारा जिस प्रकार कार आने से पहले ही बैरिकेटिंग लगा दिया था और कार सवार ने बैरिकेटिंग को तोड़ने की कोशिश की, लेकिन बेरिकेटिंग में कार के टायर फंसने के कारण वह पकड़े गये। वरना वो कार लेकर यहां से भी फरार हो जाते।

गिरफ्तार अभियुक्तों का नाम पता
शमीर पुत्र सुमीर खान निवासी हाउस नम्बर 6, गली नम्बर 6, बजरंग धाम, शीतला मंदिर कॉलोनी, थाना सेक्टर 05, जिला गुडगांव (हरियाणा), रमीज पुत्र सल्लामुद्दीन निवासी ग्राम तलारपुर, पालपुर, थाना शेखपुर अहीर, जिला अलबर (राजस्थान)। पुलिस ने 15 पेटी अवैध अंग्रेजी शराब (कीमत 81,000 रूपये लगभग), कार बरामद की।

पुलिस टीम
थानाध्यक्ष त्रिभुवन रौतेला ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ कोतवाली कोटद्वार में आईपीसी की धारा 279/336/427 एवं थाना सतपुली में आईपीसी की धारा 307/60(1)/72 आबकारी अधिनियम व 2/3 लोक संपति निवारण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। उपनिरीक्षक कैलाश चन्द्र सेमवाल, कांस्टेबल शूरवीर सिंह, कुलदीप सिंह, प्रकाश चन्द्र आदि पुलिस टीम में शामिल थे।

12 सितम्बर को लगेगी ई-लोक अदालत
जयन्त प्रतिनिधि।
पौड़ी। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण पौड़ी गढ़वाल द्वारा 12 सितम्बर, 2020 को जनपद के समस्त न्यायालयों मुख्यालय पौड़ी, कोटद्वार, श्रीनगर तथा लैंसडोन में ई-लोक अदालत का आयोजन किया जायेगा।
ई-लोक अदालत में धन वसूली वाद, मोटर दुर्घटना वाद, 138 एनआई एक्ट, पारिवारिक विवाद से संबंधित वाद, शमनीय प्रकृति के अपराधिक वाद के साथ-साथ प्री-लिटिगेशन मामले भी निपटाये जायेंगे। उक्त आशय की जानकारी देते हुए मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट/प्रभारी सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण पौड़ी गढ़वाल ने कहा कि कोई भी व्यक्ति जिनके इस प्रकार के वाद न्यायालय में लम्बित हैं अथवा प्री-लिटिगेशन का मामला, संबंधित न्यायालय में ड्राप बॉक्स के माध्यम से अथवा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण पौड़ी गढ़वाल की ई-मेल पर अथवा जिला न्यायालय पौड़ी गढ़वाल की ई-मेल पर सुलह समझौता प्रार्थना पत्र प्रस्तुत कर नियत कराया जा सकता है।

श्रीनगर से गुमशुदा महिला का शव ऐठाणा के जंगल में मिला
जयन्त प्रतिनिधि।
श्रीनगर गढ़वाल। पिछले 11 दिनों से लापता महिला का शव संदिग्ध परिस्थितियों में ऐठाणा के जंगल से बरामद किया गया। मृतका के दामाद ने शव की पहचान अपने सास के रूप में की। पुलिस ने बिसरा सुरक्षित रख लिया है।
17 जुलाई को कोतवाली श्रीनगर के अंतर्गत कमलेश्वर मोहल्ला निवासी 70 वर्षीय उमा रावत की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। तभी से पुलिस उसकी ढूंढ-खोज कर रही थी। सोमवार को कुछ लोग ऐठाणा के जंगल में आम तोड़ने गए हुए थे उन्होंने एक आम के पेड़ पर नीले रंग की साड़ी बंधी देखी। वहीं पास में एक महिला का शव भी पड़ा हुआ था। सूचना मिलने पर डिप्टी एसपी श्यामदत्त नौटियाल और श्रीनगर कोतवाल नरेंद्र सिंह बिष्ट तुरंत मौके पर पहुंचे। पुलिस ने गुमशुदा महिला की शिनाख्त के लिए सुमित नेगी को बुलाया, जिसने उसकी शिनाख्त अपनी सास के रूप में की। बाजार चौकी प्रभारी इंद्रजीत राणा ने बताया कि प्रथम दृष्टया पता चला है कि मृतका और उसके पति के बीच कुछ आपसी मतभेद होने के कारण वह मानसिक रूप से भी परेशान थी। महिला उपनिरीक्षक ममता मखलोगा ने पंचायतनामा भरकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर ही मौत के सही कारणों का पता चलेगा।

संजय ध्यानी बनें गढ़वाल विश्वविद्यालय के उपकुलसचिव
जयन्त प्रतिनिधि।
श्रीनगर गढ़वाल। गढ़वाल केंद्रीय विश्वविद्यालय के ग्रुप ए संवर्ग में पदोन्नति देने को लेकर बीते 29 जून को हुई डीपीसी के परिणामों को कुलपति प्रो. अन्नपूर्णा नौटियाल ने स्वीकृत कर दिया।
मंगलवार को कुलसचिव ने पदोन्नति के आदेश जारी कर दिए गए। संजय ध्यानी उपकुलसचिव पद पर पदोन्नत हुए हैं। अभी तक वह सहायक कुलसचिव प्रशासन थे। प्रभारी अधिशासी अभियंता विजयानंद बहुगुणा को अधिशासी अभियंता के पद पर पदोन्नति मिल गई है। आशुतोष बहुगुणा सहायक जनसंपर्क अधिकारी से जनसंपर्क अधिकारी पद पर पदोन्नत हुए हैं। बीते 29 जून को ग्रुप ए संवर्ग में पदोन्नति को लेकर हुई डीपीसी में गढ़वाल केंद्रीय विश्वविद्यालय को तीन सहायक कुलसचिव भी मिल गए हैं। कुलपति सचिवालय के विजय सिंह रावत और सेक्शन अरविद कुमार, मोहन बिष्ट सहायक कुलसचिव पद पर पदोन्नत हुए हैं। विश्वविद्यालय के कंप्यूटर विभाग में सीनियर टेक्निकल असिस्टेंट के पद पर कार्यरत प्रदीप मल्ल प्रोग्रामर के पद पर पदोन्नत हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!