प्रदेश में खनन कारोबार काला सोना कारोबार जैसा बन गया मोर्चा

Spread the love

विकासनगर। जन संघर्ष मोर्चा अध्यक्ष एवं जीएमवीएन के पूर्व उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने कहा कि सरकार, नेताओं की संलिप्तता के चलते प्रदेश में खनन कारोबार काला सोना कारोबार जैसा बन गया है। आलम यह है कि एक ट्रैक्टर (ट्रॉली) रेत- बजरी 5000- 7000 में जनता को मजबूरी में खरीदना पड़ रहा है, जबकि राजस्व के नाम पर सरकार को 200-400 भी नसीब नहीं हो रहा है। नेगी ने कहा कि फर्जी रवन्नो, भंडारण, खनन पट्टों, क्रशर की आड़ में नेताओं और अधिकारियों की मिलीभगत से यह कारोबार सबसे अच्छा एवं अत्याधिक मुनाफा देने वाला कारोबार बन गया है। प्रदेश की जनता इन माफियाओं के हाथों लूटने को मजबूर है, लेकिन सरकार को सिर्फ और सिर्फ इन कारोबारियों की चिंता है, जनता की नहीं। इन्हीं अवैध कारोबार की वजह से नेताओं एवं बदमाशों-माफियाओं का गठजोड़ विकास दुबे आदि जैसे बदमाश पैदा करता है। नेगी ने कहा कि वर्ष 2006 से भारत सरकार के ईआईए नोटिफिकेशन के पश्चात इस कारोबार में अप्रत्याशित वृद्धि हुई। मोर्चा सरकार से मांग करता है कि खनन कारोबार को सरकारी एजेंसी के हवाले करें जिससे जनता को सही मूल्य पर खनिज सामग्री उपलब्ध हो एवं सरकार को भारी भरकम राजस्व की प्राप्ति हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!