पुरानी पेंशन बहाली को एक बड़े आंदोलन की आवश्यकता

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
पौड़ी। संयुक्त मोर्चा के प्रांतीय संगठन मंत्री रज्जन कफलटिया ने बताया कि मोर्चा लगातार अपनी कार्यशैली को बेहतर करते हुए पुरानी पेंशन की लड़ाई को नए मुकाम तक ले जा चुका है। अब बस एक बड़े आंदोलन की आवश्यकता है जिसकी तैयारियों पर जोर दिया जा रहा है। यह भ्रमण उसी का हिस्सा है। लगातार संगठन को मजबूत करने के प्रयास जारी है।
राज्य में लगातार चल रहे पुरानी पेंशन बहाली के आंदोलन को मजबूती देने के लिए संयुक्त मोर्चा की प्रदेश कार्यकारिणी व संगठन प्रभारी प्रदेश स्तरीय तैयारियों की समीक्षा हेतु पूरे राज्य में भ्रमण पर हैं। इसी क्रम में गुरूवार को पौड़ी में प्रान्तीय महासचिव की अध्यक्षता में बैठक हुई। सीताराम पोखरियाल ने बताया की यह टीम संयुक्त मोर्चा की गढ़वाल मंडल कार्यकारणी की तैयारियों की समीक्षा कररही है। इसके आधार पर तय किया जाएगा कि भविष्य के आंदोलन को मजबूती देने के लिए और कितनी तैयारियों की आवश्यकता है। सभी प्रकार की आवश्यक तैयारियों को पूरा कर ही धरातल पर उतरा जाएगा। प्रान्तीय उपाध्यक्ष देवेंद्र बिष्ट ने कहा कि संयुक्त मोर्चे ने आज उत्तराखंड के प्रत्येक नई पेंशन पीड़ित व्यक्ति को जागृत किया है। आज उसे ये एहसास दिलाया है कि पुरानी पेंशन कितनी आवश्यक है। कुमाऊं मंडल उपाध्यक्ष कपिल पांडे ने कहा कि पौड़ी आंदोलनों का गढ़ रहा है। यहां से जली मशाल राज्य के प्रत्येक हिस्से में अलख जगाती है। बैठक में सतेंद्र भंडारी, रघुवीर भंडारी, गणेश लाल, नरेंद्र सिंह रावत, पंकज बुटोला, पंकज नेंगी, जसपाल रावत, सुरेन्द्र नेगी, पूरन सिंह रावत, भूपेंद्र सिंह नेंगी, कविता शाह, सपना भंडारी, संतोष रावत आदि उपस्थित थे।

06

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!