सीरम इंस्टीट्यूट के प्लांट में आग, वैक्सीन सुरक्षित, पांच की मौत

Spread the love

मुंबई, एजेंसी। महाराष्ट्र के पुणे में वीरवार को सीरम इंस्टीट्यूट अफ इंडिया (एसआइआइ) के मंजरी प्लांट में भीषण आग लग गई। आग लगने से पांच लोगों की मौत हो गई। पुणे के मेयर मुरलीधर मोहोल के मुताबिक, इमारत से काफी लोगों को निकाला गया लेकिन जब आग पर काबू पाया गया तो पांच शव मिले। कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। अभी तक आग के कारणों का पता नहीं चल सका है। आग लगने की जानकाकी मिलते ही फायर ब्रिगेड की दस गाड़ियां मौके पर पहुंची। सीरम इंस्टीट्यूट अफ इंडिया के गेट नंबर एक पर लगी आग धीरे-धीरे आग बिल्डिंग की दूसरी, तीसरी, चौथी और पांचवीं मंजिल तक आग पहुंच गई। आग से हुए नुकसान के बारे में अभी तक जानकारी नहीं मिल पाई है।
आग की वजह से चारों ओर धुएं का गुबार फैल गया। सीरम इंस्टीट्यूट ने ही कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड को बनाया है। इस बीच, एसआइआइ के मंजरी प्लांट में आग लगने की घटना पर सीरम इंस्टीट्यूट अफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला ने कहा कि आग से दुर्भाग्य से कुछ जानमाल का नुकसान हुआ है। उन्होंने दिवंगत लोगों के परिवार के सदस्यों के लिए संवेदनाएं व्यक्त की हैं। महाराष्ट्र के सीएम उद्घव ठाकरे ने कहा कि आग नियंत्रण में है। पुणे नगर निगम के मुख्य अग्निशमन अधिकारी प्रशांत रानसेप ने कहा कि सीरम इंस्टीट्यूट अफ इंडिया की इमारत में आग नियंत्रण में है। आग लगने का कारण अभी तक पता नहीं चल पाया है।
सूत्रों के मुताबिक, सीरम इंस्टीट्यूट में आग लगने की घटना मंजरी प्लांट में हुई। वैक्सीन और वैक्सीन निर्माण संयंत्र सुरक्षित हैं। यह वैक्सीन के उत्पादन को प्रभावित नहीं करेगा। इस बीच, एनडीआरएफ (नेशनल डिजास्टर रिस्पांस फोर्स) की एक टीम पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट अफ इंडिया पहुंची है। वहीं, पुणे के पुलिस कमिश्नर अमिताभ गुप्ता के मुताबिक, हमें 2रू45 बजे सीरम इंस्टीट्यूट की एक इमारत में आग लगने की सूचना मिली। पुलिस और फायर ब्रिगेड तुरंत मौके पर पहुंची। काफी लोगों को निकाल लिया गया है। इस इमारत में वैक्सीन का प्लांट या भंडारण नहीं किया जा रहा था। हम हर पहलू की जांच करेंगे। इस इमारत में निर्माण कार्य चल रहा था।
जिस साइट में आग लगी, वह सीरम इंस्टीट्यूट अफ इंडिया, पुणे में एक निर्माणाधीन इमारत है। वैक्सीन और वैक्सीन निर्माण संयंत्र सुरक्षित हैं। इससे पहले मुंबई के साकी नाका इलाके में मंगलवार को एक दुकान में आग लगने से तीन लोग घायल हो गए थे। साकी नाका इलाके की एक दुकान में मंगलवार सुबह लगभग 10़35 बजे धमाका हुआ, जिसके बाद आग लग गई। इस दुकान में कटाई के काम के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले गैस सिलेंडर और विभिन्न स्क्रैप आइटम रखे हुए थे।आग लगते ही दमकल विभाग को सूचित किया गया। दमकलकर्मियों ने इसे लेवल-2 की आग बताया। इस हादसे में तीन लोगों के चोटें आई हैं, जिन्घ्हें इलाज के लिए रजवाड़ी अस्पताल में भर्ती करवा दिया गया है। आग को काबू करने के लिए 10 दमकल वाहन और पानी के टैंकर मौके पर मौजूद थे।
गौरतलब है कि 17 नवंबर 2020 को भी मुंबई के साकीनाका इलाके में सुबह 90 फीट रोड पर अचानक आग लगने से अफरा-तफरी मच गई थी। यह आग तीन नंबर खाड़ी के पास स्थित साकीनाका की झुग्गियों में लगी थी। झुग्गियों में आग लगने से गरीब मजदूर और अन्य कामगार लोग प्रभावित हुए थे। आग की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची दमकल वाहनों ने समय रहते आग पर काबू पा लिया था नहीं तो आग फैलकर जानमाल को नुकसान पहुंचा सकती थी। दरअसल ये इलाका बेहद तंग गली वाला था जहां घनी आबादी निवास करती है। आग बुझाने में जरा सी भी देरी मुश्किलें और ज्यादा बढ़ा सकती थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!