सोलानी नदी के पास रहने वाले लोगों को अलर्ट किया

Spread the love

रुडकी। जोशीमठ में जल प्रलय के बाद जनपद में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। सोलानी नदी के पास कई लोगों के मकान बने हैं, जिनको पुलिस ने सतर्क रहने के लिए कहा है। कहा कि पुलिस प्रशासन का सहयोग करें जो आवश्यक दिशा निर्देश दिया गया है उसे मानें। चेतावनी दी कि यदि किसी ने निर्देशों का उल्लंघन किया तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। रविवार सुबह चमोली के जोशीमठ में ग्लेशियर के फटने से जल प्रलय आ गई। कुछ ही मिनटों में कई किलोमीटर तक जल प्रलय ने जमकर कहर बरपा दिया। प्रदेश में जल प्रलय के बाद पुलिस प्रशासन अलर्ट हो गया। जिले में डीएम और एसएसपी की ओर से हाई अलर्ट जारी कर दिया गया। जिसके बाद रुड़की पुलिस को उच्चाधिकारियों ने आवश्यक दिशा निर्देश दिए। जिसके बाद रुड़की पुलिस हरकत में आ गई और सोलानी नदी के पास घर बनाने वाले लोगों के दरवाजे खटखटाने शुरू कर दिए। लोगों को बताया गया कि जल प्रलय की वजह से हाई अलर्ट है। वह पूरी तरीके से चौंकाने रहे। खासतौर से रात के वक्त एक दूसरे के संपर्क में रहें। पुलिस प्रशासन की ओर से दिए गए निर्देशों का पालन करें। सीओ रुड़की बहादुर सिंह चौहान ने बताया कि जल प्रलय को लेकर जनपद में हाई अलर्ट जारी किया गया है। रुड़की से होकर सोलानी नदी गुजर रही है। जहां पर कई लोगों ने अपने आवास बना रखे हैं। रुड़की पुलिस ने नदी किनारे बसे लोगों को घर जाकर आवश्यक दिशा निर्देश दिए हैं।
दिन भर चर्चा करते नजर आए लोग: जल प्रलय को लेकर दिनभर हर कोई शहर में चर्चा करता नजर आया। खासकर मोबाइल और टीवी से लोगों की नजरें नहीं हटी। पल-पल की हर खबर को लोगों ने देखा। प्रार्थना की कि सब कुछ सामान्य हो जाए। जल प्रलय और सरकार की ओर से बचाव कार्यों को लेकर चर्चा होती रही। पुलिस ने शहरभर में मुनादी कर भी लोगों को हाई अलर्ट रहने को कहा।
वीडियो देखकर दहशत में आए लोग: सोशल मीडिया पर जल प्रलय की वीडियो कुछ ही मिनटों में वायरल हो गई। जिसको देखकर हर कोई दहशत में आ गया। रुड़की में भी कई लोग एक दूसरे को वीडियो शेयर करते रहे। वीडियो में दिखाया गया कि किस तरह कुछ ही मिनटों में पानी का सैलाब आया और चारों तरफ तबाही मचा दी।
फोन पर पूछा हाल चाल: शहर में कई लोग ऐसे भी हैं जिनके परिचित पहाड़ी इलाकों में रहते हैं। कई लोगों ने फोन कर पहाड़ी इलाकों में रहने वाले अपने परिचितों को फोन कर उनका हालचाल जाना। कई लोगों ने पहाड़ी इलाकों में रहने वाले परिचितों को रुड़की और यूपी में आकर रहने की बात कही। दिनभर अन्य राज्यों में रहने वाले लोगों ने रुड़की में अपने परिचितों को फोन को हालचाल जाना। कहा कि यदि उन्हें खतरा महसूस हो रहा है तो उनके घर आकर रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!