भूमानन्द अस्पताल के चिकित्सकों ने ‘एन्जियोप्लास्टी’ कर दिया हृदय रोगी को नया जीवन

Spread the love

हरिद्वार। श्री स्वामी भूमानन्द अस्पताल में 59 वर्षीय हृदय रोगी की सफलता पूर्वक ‘एन्जियोप्लास्टी’ की गयी। डा.जगजीत सिंह सोड्डी तथा उनकी टीम ने दिल्ली से आए हृदय रोगी की एन्जियोप्लास्टी को सफलता पूर्वक अंजाम दिया। डा.जगजीत सिंह सोड्डी ने बताया कि गत पांच मई को हृदय रोगी सुदर्शन सिंह को उपचार के लिए अस्पताल लाया गया। उनके हृदय की नसे 95 फीसदी तक बंद हो चुकी थी। ऐसी स्थिति में रोगी को शीघ्र उपचार मिलना अत्यन्त आवश्यक था। अन्यथा जान जाने का खतरा बना रहता है। रोगी की गंभीर स्थिति को देखते हुए उनके परिजनों को चिकित्सीय परामर्श देते हुए कहा कि उनकी जल्द से जल्द एन्जियोप्लास्टी करनी होगी। परिजनों के सहमति जताने पर अस्पताल के हार्ट सेंटर में मरीज की सफलतापूर्वक एन्जियोप्लास्टी की गयी। ईश्वर की कृपा से सुदर्शन सिंह स्वस्थ हैं और आईसीयू में चिकित्सकों की देखरेख में है। रविवार तक वे डिस्चार्ज होकर अपने घर जा सकेंगे। सुदर्शन सिंह तथा उनके परिजनों ने चिकित्सालय के संस्थापक अध्यक्ष स्वामी अच्यूतानन्द तीर्थ महाराज, चिकित्सालय के प्रबंधक राजेन्द्र शर्मा, डा.जगजीत सिंह सोड्डी, चिकित्सा अधीक्षक डा.आकाश जैन तथा चिकित्सालय की सहायक टीम, जिन्होेने रोगी को जीवनदान दिया, का धन्यवाद किया और कहा कि भूमानन्द चिकित्सालय संस्था के आदर्श वाक्य ‘चिकित्साल मन्दिर है, चिकित्सक पुजारी और रोगी भगवान है’ का पालन कर रहा है, जिससे जनपद की जनता को अवश्य ही लाभ होगा। भूमापीठाधीश्वर तथा भूमानन्द चिकित्सालय के संस्थापक स्वामी अच्यूतानन्द तीर्थ महाराज ने सफलतापूर्वक एन्जियोपलास्टी कर रोगी को नया जीवन देने वाले डा.जगजीत सिंह सोड्डी व उनकी टीम को आशीर्वाद प्रदान करते हुए कहा कि ‘जनपद हरिद्वार तथा आस-पास के ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र के हृदय रोग से पीड़ित मरीजों को उपचार हेतु देहरादून, ऋषिकेश, दिल्ली व मेरठ आदि जाना पड़ता था। ऐसे में समय पर उपचार न मिल पाने के कारण, रोगी की जान भी चली जाती है। इसे ध्यान में रखते हुए कोविड-19 संक्रमण काल में अथक प्रयास कर हरिद्वार में ही हृदय रोगियों के उपचार हेतु अस्पताल परिसर में आधुनिक चिकित्सा उपकरणों व ‘कार्डियक कैथ लैब’ से सुसज्जित हार्ट सेन्टर की स्थापना की गयी है। अस्पताल के प्रबंधक राजेंद्र शर्मा ने बताया कि अस्पताल में हार्ट सेन्टर की स्थापना होने से अब मरीजों को इलाज के लिए दूर नहीं जाना होगा। ईश्वर की कृपा व स्वामी अच्यूतानन्द तीर्थ महाराज के आशीर्वाद से अस्पताल के चिकित्सक मरीजों को बेहतर इलाज उपलब्ध करा रहे हैं। कोरोना काल में जहां मरीज मामूली बीमारियों के इलाज के लिए भटक रहे हैं। वहीं भूमानन्द अस्पताल के चिकित्सकों ने हृदय रोगी का सफलतापूर्वक उपचार कर नया जीवन दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!