जांच पत्र बनवाने गया था शिकायतकर्ता, बदले में मांगी रिश्वत

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

 

हरिद्वार। यूपीसीएल में ठेकेदारी का काम करने के लिए हैसियत प्रमाण पत्र बनवाने के लिए पटवारी ने रूपए 4000 की रिश्वत मांगी इसकी शिकायत होने पर विजिलेंस उत्तराखंड कि देहरादून टीम ने रिश्वतखोर पटवारी को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया है।
सतर्कता अधिष्ठान देहरादून से मिली जानकारी के अनुसार बीती रविवार को हरिद्वार निवासी एक व्यक्ति द्वारा 1064 एंटी करप्शन पर शिकायत दर्ज करवाते हुए बताया कि यू0पी0सी0एल0 में ठेकेदारी करने के लिये हैसियत प्रमाण पत्र बनाने के लिए उनके द्वारा हरिद्वार तहसील में अनलाईन आवेदक किया था। जिसपर उनके आवेदन पर पटवारी नरेश कुमार सैनी निवासी-सैनीपुरम कलोनी, शेरपुर, हरिद्वार रोड़ रूड़की, जनपद हरिद्वार, हाल तैनाती लेखपाल, तहसील हरिद्वार द्वारा उसमे जांच पत्र लगवाने को कहा। पटवारी ने पीड़ित से जांच पत्र लगवाने के बदले उसे 4000 रूपये रिश्वत देने को कहा।
पीड़ित की इस शिकयत पर पुलिस अधीक्षक सतर्कता अधिष्ठान सैक्टर देहरादून द्वारा पीड़ित की शिकयत पर जांच करवाते हुए पटवारी के विरुद्घ रिश्वत का आरोप सही पाया गया। जिसपर सतर्कता टीम द्वारा पटवारी को गिरफ्तार करने के लिए ट्रैप बिछाते हुए आज शिकायतकर्ता को उक्त पटवारी नरेश कुमार सैनी को रिश्वत देने को कहा। योजना के अनुसार जैसे ही पटवारी द्वारा आज पीड़ित से सैनीपुराम कालोनी,रूड़की से पीड़ित से 4000 रुपये लिए, विजिलेंस टीम ने पटवारी को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!