लैंसडौन प्रभाग में हाथी ने एक और को उतारा मौत के घाट, 74 वर्ष का था बुजुर्ग

Spread the love

लैंसडौन प्रभाग में हाथी ने एक और को उतारा मौत के घाट, 74 वर्ष का था बुजुर्ग
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। लैंसडौन वन प्रभाग में हाथी ने एक और बुजुर्ग को मौत के घाट उतारा है। डेढ़ माह के अंदर हाथी के हमले में चार लोगों की मौत हो चुकी है। मंगलवार को लालढांग रेंज में कक्ष संख्या 20 सिगड्डी के जंगल में हाथी के हमले में एक 74 वर्षीय बुजुर्ग की मौत हो गई है। कोटद्वार पुलिस ने मृतक के शव का पंचनामा भरकर तथा पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों के सुर्पद कर दिया है। विगत 22 मई को लालढांग रेंज में चमरिया बीट में हाथी के हमले में एक महिला और एक पुरूष की मौत हुई थी।


लैंसडौन वन प्रभाग के डीएफओ दीपक सिंह ने बताया कि जयदेवपुर सिगड्डी निवासी 74 वर्षीय शिवदत्त जोशी पुत्र माधवानन्द जोशी मंगलवार सुबह अपनी पत्नी लीला देवी सहित शारदा देवी, दीपा देवी के साथ कोटद्वार रेंज कक्ष संख्या 20 सिगड्डी के जंगल में चारा-पत्ती लेने गये थे। इसी दौरान 8 बजे के करीब हाथी ने शिवदत्त जोशी पर हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। महिलाओं के शोर मचाने पर हाथी वहां से चला गया। महिलाओं ने घटना की सूचना जयदेवपुर सिगड्डी के लोगों को दी। सूचना पर लोग मौके पर पहुंचे और घटना की सूचना लोगों ने वन विभाग को दी। सूचना पर डिप्टी रेंजर आजम खान, वन दरोगा धनीराम, वन दरोगा हिम्मत सिंह भारती मौके पर पहुंचे। वन कर्मी गंभीर रूप से घायल शिवदत्त जोशी को राजकीय बेस अस्पताल कोटद्वार लेकर आये। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। डीएफओ ने बताया कि मृतक के शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद शव को परिजनों को सौंप दिया है। उन्होंने बताया कि डेढ़ माह के अंदर हाथी के हमले में चार लोगों की मौत हो चुकी है। जनता से सावधानी बरतने और जंगल में न जाने की अपील की जा रही है, फिर भी लोग जंगल में जा रहे है। उन्होंने कहा कि यदि कोई भी जंगल में पाया जाता है तो उसके खिलाफ भारतीय वन अधिनियम के तहत सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जेला भेजा जाएगा। साथ ही जुर्माना लगाया जाएगा। उन्होंने लोगों से जंगल में न जाने की अपील की है, ताकि इस तरह की घटनाओं पर रोक लगाई जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!