अग्निपथ पर आक्रोश की आग, कानपुर को दहलाने की साजिश, क्राइम ब्रांच ने जांच शुरू की

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

नई दिल्ली, एजेंसी। नरेंद्र मोदी सरकार ने मंगलवार को सेना में बहाली के लिए श्अग्निपथश् योजना की घोषणा की थी। देश के कई राज्यों में इसका जमकर विरोध हो रहा है। बिहार और उत्तर प्रदेश में इसका सबसे अधिक असर देखने को मिल रहा है। इस बहाली योजना के खिलाफ प्रदर्शन आज भी जारी है। देशभर में चल रहे हिंसक आंदोलन के बीच बिहार के 12 राज्यों में इंटरनेट पर लगाम कसी गई है। हरियाणा के महेंद्रगढ़ जिले भी 24 घंटे के लिए इंटरनेट बंद किया गया है। उधर, एजेंसियों ने राज्यों को अलर्ट किया है।उधर, यूपी में अग्निपथ के खिलाफ सड़क पर प्रदर्शन कर रहे उपद्रवियों पर योगी सरकार ने सख्त रुख अपनाया है। गिरफ्तार युवकों पर हत्या के प्रयास समेत गंभीर धाराएं जोड़ी गई हैं।अग्निपथ स्कीम के खिलाफ देशभर में चल रहे बवाल के बीच नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार ने कहा कि उन्हें देश के कई हिस्सों में हाल ही में शुरू की गई अग्निपथ योजना को लेकर व्यापक हिंसक विरोध प्रदर्शन की उम्मीद नहीं की थी।
अग्निपथ मामले में कानपुर दहलाने की साजिश रचने का मामला सामने आया है। सोशल मीडिया पर व्हाट्स एप चौट वायरल हो गई थी। जिसमें कुछ युवा बायकट टीओडी नाम के व्हाट्स एप ग्रुप में रामादेवी चौकी फूंकने की योजना बना रहे थे। साथ ही नौबस्ता हमीरपुर रोड पर जाम लाने की भी प्लानिंग थी। मामले में क्राइम ब्रांच ने आधा दर्जन लड़कों को हिरासत में पूछताछ शुरू की है। देश भर में अग्निपथ भर्ती योजना को लेकर विरोध प्रदर्शन जारी रहने के कारण 80 एक्सप्रेस और 134 यात्री ट्रेनों को रद्द हुई हैं और 61 एक्सप्रेस और 30 यात्री ट्रेनों को आंशिक रूप से रद्द कर दिया गया है। कम से कम 11 एक्सप्रेस ट्रेनों को भी डायवर्ट किया गया है।अग्निपथ स्कीम के खिलाफ हैदराबाद के सिकंदराबाद में हुए हिंसक प्रदर्शन में 25-30 प्रदर्शनकारी गिरफ्तार किए गए हैं। एसीपी ने बताया कि इस वक्त हालात नियंत्रण में हैं। एक टीवी डिबेट के दौरान जब असदुद्दीन ओवैसी से यह कहा गया कि वह हिंसा करने वालों से ऐसा ना करने की अपील कर दें तो सांसद ने साफ इनकार कर दिया और कहा कि सरकार इसके लिए जिम्मेदार है। अग्निपथ योजना का विरोध करते हुए बवाल काटने वाले युवकों पर यूपी की योगी सरकार गंभीर हो गई है। बवाल करने वालों पर गंभीर धाराओं में केस दर्ज किया जा रहा है। वाराणसी में अब तक नौ युवकों को गिरफ्तार किया गया है। 10 युवकों को हिरासत में लिया गया है। सभी पर हत्या के प्रयास और बलवा समेत कई धाराओं में केस दर्ज किया गया है। युवकों पर कुल 13 धाराएं लगाई गई हैं।
अग्निपथ स्कीम के खिलाफ देशभर में विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है। एजेंसियों द्वारा सतर्क किए जाने के बाद केंद्र सरकार अब अलर्ट मोड पर आ गई है। बिहार में सरकार ने 12 जिलों में इंटरनेट पर लगाम कस ली है। फेसबुक, व्हाट्सएप, ट्वीटर समेत 22 एप्स पर तीन दिन मैसेज-फोटो-वीडियो बैन रहेंगे। इसके अलावा हरियाणा के महेंद्रगढ़ में भी राज्य सरकार ने 24 घंटे के लिए इंटरनेट बंद रखने के निर्देश दिए हैं।
अग्निपथ स्कीम को लेकर चल रहे बवाल के बीच भारतीय वायु सेना ने शुक्रवार को बड़ा ऐलान किया। कहा कि साल 2022 के लिए अग्निपथ योजना के तहत भर्ती 24 जून से शुरू होगी।
केंद्र की विवादित अग्निपथ योजना की आड़ में दिल्ली में फिर दंगा कराने की साजिश की आशंका जताई जा रही है। उत्तर-पूर्वी दिल्ली के खजूरी इलाके में शुक्रवार को वजीराबाद रोड पर कुछ लोगों ने अग्निपथ के विरोध में बसों को निशाना बनाने का प्रयास किया। हालांकि, पुलिस ने तुरंत मौके पर पहुंचकर स्थिति को नियंत्रित कर लिया।
भारतीय नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार ने अग्निपथ स्कीम को लेकर हो रहे हिंसक आंदोलन पर बयान जारी किया। उन्होंने कहा कि अग्निपथ योजना एक परिवर्तनकारी योजना है। यह भारत में निर्मित और भारत के लिए बनी योजना है।अग्निपथ योजना को लेकर बिहार के कई जिलों में हो रहे हिंसक प्रदर्शन के बीच आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने ट्वीट कर प्रदर्शनकारियों से शांतिपूर्ण तरीके से अपनी मांग रखने की अपील की है। लालू यादव ने ट्वीट कर लिखा श्युवाओं को लोकतांत्रिक एवं शांतिपूर्ण तरीके से अपनी माँगों को रखना चाहिए।
दिल्ली पुलिस ने जानकारी दी कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली के खजूरी इलाके में वजीराबाद रोड पर कई युवाओं ने अग्निपथ स्कीम के विरोध में बसों को निशाना बनाने का प्रयास किया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर स्थिति को नियंत्रित किया। उपद्रवियों के खिलाफ दंगा मामले के तहत दर्ज किया जा रहा है।
सेना में भर्ती की नई स्कीम अग्निपथ के ऐलान के बाद से ही बिहार जल रहा है। राज्य के पटना, सासराम, जमुई, सीतामढ़ी, रक्सौल, समस्तीपुर, हाजीपुर, बेतिया, आरा और छपरा समेत तमाम इलाके जल उठे। कहीं सेना भर्ती की नई स्कीम के विरोधियों ने ट्रेन को आग के हवाले कर दिया तो कहीं सड़कों पर उतरकर हिंसक प्रदर्शन हुए हैं। यही नहीं इस बीच बिहार पुलिस बहुत सक्रिय नहीं दिखी। नीतीश कुमार और उनकी सरकार के इस रवैये के चलते ही सवाल खड़े हो रहे हैं कि क्या वह अग्निपथ पर भाजपा की अग्निपरीक्षा ले रहे हैं। हरियाणा सरकार ने अग्निपथ स्कीम के विरोध में चल रहे उग्र प्रदर्शन के चलते जिला महेंद्रगढ़ में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं, सभी एसएमएस सेवाओं को निलंबित करने का आदेश दिया है। आदेश अगले 24 घंटों के लिए तत्काल प्रभाव से यानी कल शाम 4़30 तक लागू रहेगा।केंद्र की अग्निपथ योजना को लेकर जारी हिंसा के बीच तेलंगाना के सिकंदराबाद में बड़ा हादसा टल गया। नई सैन्य भर्ती नीति यानी अग्निपथ योजना के विरोध में गुस्साई भीड़ ने तेलंगाना में कई ट्रेनों में आग लगा दी और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाया। प्रदर्शनकारियों ने एक यात्री ट्रेन के उस डिब्बे में आग लगाने की कोशिश की, जिसमें लगभग 40 लोग सवार थे।
अग्निपथ आंदोलन ने ट्रेनों के आवागमन पर काफी ज्यादा असर डाला है। अलग-अलग जगहों पर ट्रेन में आग भी लगा दी गई है। इसके चलते कई जगहों पर ट्रेनों को र्केसल कर दिया गया है और कई के रूट डायवर्ट कर दिए गए हैं। पूर्व मध्य रेलवे ने इन ट्रेनों को र्केसल कर दिया है। अगर आप भी ट्रेन से यात्रा के लिए निकलने वाले हैं तो पहले चेक जरूर कर लें।
अग्निपथ स्कीम के खिलाफ देशभर में विरोध प्रदर्शन थमने का नाम नहीं ले रहा है। सुरक्षा एजेंसियों ने कई राज्यों में अलर्ट जारी किया है। कई राज्यों में उग्र प्रदर्शन चल रहा है। इस दौरान पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प की भी खबरें हैं।
बिहार में विरोध प्रदर्शन के बीच उपद्रवियों ने विक्रमशिला ट्रेन को पूरी तरह बर्बाद कर कर दिया। उपद्रवी माचिस लेकर स्टेशन पर पहुंचे थे। स्टेशन के ही प्लेटफर्म संख्या दो के नजदीक की दुकान से कुछ छात्रों ने माचिस खरीदी और पहले एसी थर्ड टियर के शीट और उसमें रखे चादर-तकिया को आग के हवाले कर दिया। एसी बोगी होने के कारण आग तेजी से पकड़ गया और एक-एक कर विक्रमशिला की 23 बोगियां धधक उठी।
भाजपा सांसद ने अग्निपथ स्कीम को लेकर चल रहे बवाल पर ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा, सैन्य अभ्यर्थियों के इस संघर्ष में मैं हर कदम पर उनके साथ खड़ा हूँ। आप सभी से विनम्र निवेदन है कि धैर्य से काम लें और ‘लोकतांत्रिक मर्यादा’ बनाए रखते हुए अपने ज्ञापन विभिन्न माध्यमों से सरकार तक पहुँचाये। ‘सुरक्षित भविष्य’ हर युवा का अधिकार है! न्याय होगा।
कांग्रेस सांसद दीपेन्द्र सिंह हुड्डा ने नई दिल्ली में पार्टी मुख्यालय में कहा हम केन्द्र सरकार से अग्निपथ योजना को तत्काल प्रभाव से वापस लेने की मांग करते हैं। यह भर्ती योजना न तो राष्ट्रीय सुरक्षा के हित में है और न ही हमारे युवाओं के भवष्यि के लिए सुरक्षित है। यह एक ऐसी योजना है जो भारतीय सेना और राष्ट्र के लिए अनुकूल नहीं है।
अग्निपथ स्कीम को लेकर चल रहे विरोध प्रदर्शन के बीच केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने सेना के अभ्यर्थियों से संपर्क किया और योजना के बारे में संदेह दूर करने का प्रयास किया। मोदी सरकार की अग्निपथ योजना की अग्निवीर सेना भर्ती को लेकर युवाओं का बिहार में उग्र प्रदर्शन शुक्रवार को भी जारी है। ताजा खबर मधेपुरा से आ रही है, जहां प्रदर्शनकारियों ने बीजेपी के दफ्तर में तोड़फोड़ के बाद र्केपस में आगजनी की है। इससे पहले गुरुवार को प्रदर्शनकारियों ने नवादा में भाजपा दफ्तर को आग के हवाले कर दिया था। सेना भर्ती की नई योजना अग्निपथ के विरोध में शुक्रवार को अलीगढ़ में जमकर बवाल हुआ। सुबह करीब 11 बजे शुरू हुआ बवाल शाम साढ़े चार बजे के बाद तक जारी रहा। यमुना एक्सप्रेस-वे और टप्पल-जट्टारी क्षेत्र अग्निपथ में तब्दील हो गया। योजना का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों ने पुलिस चौकी जट्टारी को फूंक दिया। चौकी में खड़े कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया। अग्निपथ स्कीम पर पंजाब सीएम भगवंत मान ने कहा कि हम सैनिकों को किराए पर नहीं रख सकते। केवल 21 साल की उम्र में हम उन्हें पूर्व सैनिक कैसे बना सकते हैं? वे कठोर परिस्थितियों में देश की रक्षा करते हैं। राजनेता कभी सेवानिवृत्त नहीं होते हैं, केवल सैनिक होते हैं, जनता जो सेवानिवृत्त होती है, हमें किराए पर सेना की आवश्यकता नहीं है। अग्निपथ योजना को वापस लेना चाहिए। केंद्रीय मंत्री एवं पूर्व थलसेना प्रमुख जनरल वीके सिंह ने शुक्रवार को विपक्षी दलों पर आरोप लगाया कि वे सशस्त्र बलों में अल्पकालिक भर्ती के लिए केंद्र द्वारा लायी गई अग्निपथ योजना के संदर्भ में लोगों को उकसाकर विवाद उत्पन्न कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि चूंकि विपक्ष के पास इसके सिवा करने को कुछ और नहीं है, इसलिए वह योजना का क्रियान्वयन शुरू होने से पहले ही इस पर विवाद उत्पन्न कर रहा है। अल्पकालिक अवधि के लिए संविदा नियुक्ति के आधार पर तीनों सेनाओं में युवाओं की भर्ती की केंद्र सरकार की नई ‘अग्निपथ’ योजना के खिलाफ राजस्थान के अनेक हिस्सों में युवाओं का विरोध-प्रदर्शन शुक्रवार को तीसरे दिन भी जारी रहा। इस दौरान अनेक जगह युवाओं ने रैली निकालते हुए विरोध प्रदर्शन किया, रेल मार्ग को अवरुद्घ किया और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचा।
अलीगढ़ के टप्पल में नहीं संभल रहे हालात। आगरा जोन के ।क्ळ राजीव ष्ण टप्पल पहुंचे, आउट अफ कंट्रोल हुई भीड़ को तितर बितर करना चुनौती। क्ड-ैैच् से भी नहीं संभल रहे हालात। पुलिसकर्मियों से हाथपाई कर रहे हैं उपद्रवी। केंद्र सरकार की नयी श्अग्निपथ योजनाश् के खिलाफ विरोध शुक्रवार को ओडिशा तक पहुंच गया। सशस्त्र बलों में भर्ती के लिए बड़ी संख्या में आकांक्षी युवाओं ने कटक में मुख्य रिंग रोड को अवरुद्घ कर दिया और सिल्वर सिटी के छावनी क्षेत्र में होर्डिंग फाड़ दिए। प्रदर्शनकारियों में से कई युवाओं ने दावा किया कि उन्होंने पिछले साल सेना में भर्ती के लिए शारीरिक दक्षता और चिकित्सा परीक्षण पहले ही पास कर लिया था और वह सामान्य प्रवेश परीक्षा (सीईई) की प्रतीक्षा कर रहे थे। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अग्निपथ योजना के लिए मोदी सरकार को आड़े हाथों लेते हुए इसे देश एवं युवाओं के साथ छलावा करार दिया हैं। बघेल ने कहा कि दो वर्ष तक सेना में भर्ती को रोककर अग्निपथ योजना का नया शिगूफा मोदी सरकार ने छोड़ दिया हैं। उन्होने कहा कि चार वर्ष बाद इस योजना में चयनित होने वाले युवा क्या करेंगे।उन्होने इन्हे पुलिस की भर्ती में प्राथमिकता देने के बारे में किए जा रहे वादे के बारे में कहा कि क्या जितने युवा चार वर्ष में रिटायर्ड होंगे सभी की पुलिस में भर्ती संभव हैं।प्रदर्शनकारियों ने गौतम बुद्घ नगर और जेवर में यमुना एक्सप्रेस वे को जाम कर दिया। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने आम जनता की गाड़ियों को भी नहीं बक्शा। प्रदर्शनकारियों ने सड़क पर चल रही लोगों की गाड़ियों पर पथराव शुरू कर दिया। इसकी वजह से राहगीरों में दहशत फैल गई। लोग गाड़ी छोड़ अपने बच्चों को लेकर सड़कों पर भागते नजर आए।
अग्निपथ योजना के खिलाफ हरियाणा में शुक्रवार को दूसरे दिन भी विरोध प्रदर्शन जारी रहा। गुरुग्राम, फरीदाबाद और पलवल समेत कई जिलों में आज प्रदर्शनकारियों ने हिंसक प्रदर्शन किए और वाहनों में तोड़फोड़ करते हुए सड़कों पर उतरकर पथराव किया। ट्रेनों में आगजनी की घटना के बाद रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने प्रदर्शनकारियों से शांति बरतने की अपील की है। कहा है कि रेलवे की संपत्ति को नुकसान न पहुंचाएं। रेल मंत्रालय के अनुसार, रेलवे के 24 अलग-अलग हिस्सों में प्रदर्शन चल रहा है। साथ ही 216 ट्रेनें प्रभावित हुईं। अग्निपथ स्कीम के विरोध पर हरियाणा के मंत्री अनिल विज ने कहा कि लोकतंत्र में विरोध प्रदर्शन करना एक अधिकार है लेकिन आगजनी और हिंसा का सहारा लेना बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। हिंसा में शामिल पाए जाने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। भारतीय वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी आज छह इलाकों का दौरा करेंगे और अग्निपथ योजना के बारे में सैनिकों को संबोधित करेंगे। इसका उद्देश्य बल में अंतिम व्यक्ति तक योजना की जानकारी साझा करना है। गुरुग्राम में जिला प्रशासन ने एहतियात के तौर पर धारा 144 लागू कर दी है। हालांकि प्रशासन का कहना है कि सैनिकों की भर्ती के लिए केंद्र की अग्निपथ योजना के खिलाफ शुक्रवार को कोई ताजा विरोध नहीं हुआ। उपायुक्त निशांत यादव ने कहा कि यह आदेश इसलिए जारी किया गया, क्योंकि दूसरे दिन भी विरोध प्रदर्शन जारी रहने की संभावना है और प्रशासन ने रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, बाजारों, राष्ट्रीय राजमार्गों और बिजली ग्रिड सहित जिले के विभिन्न स्थानों पर गुस्साई भीड़ के जुटने की आशंका जताई है। अग्निपथ योजना के खिलाफ विरोध प्रदर्शन की कड़ी में अलीगढ़ में टप्पल के पास रोडवेज बसों को आग लगा दी गई है, जबकि उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में 100 लोगों को पकड़ा गया है। ये गिरफ्तारियां आज सुबह अग्निवीर के विरोध के दौरान दो ट्रेनों में तोड़फोड़, पथराव, ट्रेन के एक डिब्बे में आग लगाने के आरोप में हुईं। केंद्र सरकार द्वारा सेना में अनुबंध प्रणाली लाने वाली अग्निपथ योजना को अविलंब वापस लेने के सवाल पर बिहार के छात्र-युवा संगठन आइसा-इनौस, रोजगार संघर्ष संयुक्त मोर्चा और सेना भर्ती जवान मोर्चा ने मोर्चा संभाल लिया है। पीएम मोदी को 72 घंटे का अल्टीमेटम दिया है। संगठन ने 18 जून को बिहार बन्द और फिर भारत बंद की ओर बढ़ने का ऐलान किया है। वहीं आरजेडी ने भी 18 जून को बिहार बंद का ऐलान किया है। अग्निपथ स्कीम के हिंसक विरोध और ट्रेनों को फूंके जाने के बीच रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने शांति की अपील की है। उन्होंने कहा कि रेलवे आपकी और राष्ट्र की संपत्ति है। इसकी पूंजी को किसी भी तरह नुकसान न पहुंचाए। यह आपकी ही सेवा के लिए है। दिल्ली के आईटीओ में छात्र संगठन अग्निपथ योजना के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। जेएनयू छात्र भी प्रदर्शन के लिए आईटीओ जा रहे हैं। उनका कहना है कि उन्हें बीच में ही रोका जा रहा है। जानकारी के अनुसार, कुछ छात्रों को हिरासत में लिया गया है। यूपी के अलीगढ़ जिले में भी अग्निपथ स्कीम को लेकर विरोध हिंसक हो गया है। थाना टप्पल के अंतर्गत आने वाली चौकी जट्टारी के अंदर प्रदर्शनकारियों ने आग लगा दी है। अग्निपथ योजना के विरोध में युवाओं ने यमुना एक्सप्रेसवे को जाम कर दिया है। इसके चलते मथुरा के मांट के पास टोल पर ट्रैफिक को रोक दिया गया है। मौके पर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी पहुंचे और उन्हें समझा-बुझाकर उन्हें वापस भेजने की कोशिश की। अग्निपथ योजना को लेकर देश के अलग-अलग हिस्घ्सों में मचे बवाल के बीच बेतिया में डिप्घ्टी सीएम रेणु देवी के घर पर हमला हुआ है। इसके अलावा बिहार बीजेपी के अध्घ्यक्ष संजय जायसवाल के घर पर भी हमला हुआ है। एक समाचार चौनल के मुताबिक उनके घर को जलाने की कोशिश की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!