कश्मीर में पंच की हत्या में शामिल हिजबुल मुजाहिदीन के तीन आतंकी गिरफ्तार, जैश-ए-मोहम्मद का माड्यूल ध्वस्त-दो गिरफ्तार, हथियार बरामद

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

श्रीनगर, एजेंसी । विधानसभा चुनावों का अभी ऐलान नहीं हुआ है, लेकिन आतंकी संगठनों ने इन्हें बाधित करने के लिए पंचायत प्रतिनिधियों की हत्या की साजिश रची है। इसके लिए वादी में आतंकी संगठनों ने अपने अलग-अलग माड्यूल सक्रिय कर दिए हैं। जैश-ए-मोहम्मद के एक ऐसे ही माड्यूल के दो सदस्यों को सुरक्षाबलों ने मंगलवार को उत्तरी कश्मीर के पट्टन, बारामुला में गिरफ्तार कर, बारामुला में पंचायत प्रतिनिधियों की सिलसिलेवार हत्या की साजिश को नाकाम बनाया। वहीं कुलगाम में एक पंच की हत्या में शामिल हिजबुल मुजाहिदीन के तीन आतंकी भी पकड़े गए। पकड़े गए आतंकियों से सुरक्षाबलों ने पिस्तौल, ग्रेनेड व अन्य साजो-सामान भी बरामद किया है।
यहां मिली जानकारी के अनुसार, पुलिस को सोमवार की रात को अपने तंत्र से पता चला था कि दो से तीन आतंकी बारामुला के पास हांजीवीरा पट्टन इलाके में देखे गए हैं। यह आतंकी बारामुला, पट्टन और सोपोर में पंचायत प्रतिनिधियों की सिलसिलेवार टार्गेट किलिंग की साजिश को अंजाम देने का मौका तलाश रहे हैं। पुलिस ने उसी समय सेना की 29 आरआर के साथ मिलकर कुछ खास जगहों को चिन्हित करते हुए नाके लगाए। आज सुबह साढ़े पांच बजे के करीब हांजीवीरा-बारामुला सड़क पर नाका लगाए जवानों ने एक टवेरा वाहन को देखा। जवानों ने उसे रूघ्कने का संकेत किया। यह टवेरा वाहन बारामुला की तरफ से आ रहा था।
टवेरा चालक ने जैसे ही आगे नाका देखा,उसने नाके से कुछ दूरी पर पहले अचानक ही ब्रेक लगा दी। इसके साथ ही चालक व उसका साथी वाहन को वहीं छोड़कर निकटवर्ती बाग की तरफ भागा। नाके पर तैनात जवानों ने दोनों का पीछा किया और कुछ ही देर में उन्हें पकड़ लिया। दोनों की पहचान आकिब मोहम्मद मीर और दानिश अहमद डार के रूप में हुई है। यह दोनों ही सोपोर के रहने वाले हैं। इनके पास से दो पिस्तौल, दो मैगजीन, 10 कारतूस, दो ग्रेनेड व अन्य साजो सामान मिला है। टवेरा वाहन को भी जब्त कर लिया गया है। शुरुआती जांच में इन दोनों ने बताया कि वह जैश ए मोहम्मद के साथ जुड़े हुए हैं और उन्हें सरहद पार बैठे उनके हैंडलर ने जम्मू कश्मीर में निकट भविष्य में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए अभी से डर का माहौल बनाने के लिए कहा है।
उसने उन्हें बारामुला व उसके साथ सटे इलाकों में मुख्यधारा के राजनीतिक दलों के कुछ कार्यकर्ताओं के अलावा पंचायत प्रतिनिधियों की टार्गेट किलिंग का जिम्मा सौंप रखा है। वह आज पट्टन के इलाके में अपनी इसी साजिश को अमली जामा पहनाने वाले थे कि पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया। करीब 10 दिन पूर्व पट्टन के गोशबुग इलाके में आतंकियों ने सरपंच मंजूर अहमद बांगरु को मौत के घाट उतारा था।
इस्

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!