दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में तीन आतंकी ढेर, आपरेशन जारी

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

जम्मू, एजेंसी। दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में पड़ने वाले पोहू इलाके में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ चल रही है। दो से तीन आतंकी सुरक्षा बलों से घिर चुके थे। इनमें से दो को सुरक्षा बलों ने कुछ ही देर में ढेर कर दिया। कुछ देर बाद एक और आतंकी को मार गिराया गया। इस दौरान एक जवान के घायल होने की भी खबर है।आतंकियों के खिलाफ आपरेशन अभी जारी है।
जानकारी मिली है कि मारे आतंकियों में द रजिस्टेंस फ्रंट के स्वयंभू डिप्टी आपरेशनल कमांडर आरिफ हजार और उसके दो अन्य साथी शामिल हैं। आरिफ श्रीनगर में पुलिस इंस्पेक्टर परवेज और सब इंस्पेक्टर अरशिद डाउनटाउन में मोबाइल दुकानदारकी हत्या में भी पुलिस को वांछित था। दक्षिण कश्मीर में 24 घंटे के अंदर यह दूसरी मुठभेड़ है। प्रदेश में तीन दिन में तीन मुठभेड़ में सात आतंकी मारे जा चुके हैं।
शनिवार शाम को दक्षिण कश्मीर के ही कुलगाम जिला अंतर्गत पड़ने वाले मिरहामा में मुठभेड़ हुई थी, जिसमें जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकी मार गिराए गए थे। अभी तक प्राप्त जानकारी के मुताबिक एक तरफ सुरक्षा बलों को पुलवामा के पोहू इलाके में रविवावर दोपहर बाद को कुछ आतंकियों की गतिविधि की जानकारी मिली। तुरंत पुलिस, सेना की 50 आरआर और सीआरपीएफ के जवानों ने संयुक्त रूप से पोहू में पहुंच कर उस इलाके की घेराबंदी शुरू कर दी, जहां आतंकियों की मौजूद्गी की सूचना मिली थी। सुरक्षा बलों का घेरा मजबूत होता देख बौखलाए आतंकियों ने सुरक्षा बलों पर फायरिंग शुरू कर दी। फिर देखते ही देखते मुठभेड़ शुरू हो गई।
सुरक्षा बलों ने आसपास के लोगों को पहले वहां से सुरक्षित हटाया। फिर आतंकियों पर कड़ा प्रहार किया गया और कुछ ही देर में दो आतंकियों को मार गिराया गया। उसके बाद फिर कुछ देर में एक और आतंकी को ढेर किया गया। मारे गए आतंकियों में एक टीआरएफ का स्वयंभू डिप्टी आपरेशनल कमांडर आरिफ हजार है और दो उसके साथी। उसकी पहचान अभी उजागर नहीं हुई है। फिलहाल सुरक्षा बल का आतंकियों के खिलाफ आपरेशन अभी भी जारी है। आधिकारिक रूप से तीन आतंकियों के मारे जाने की पुष्टि हो चुकी है।
प्रधानमंत्री की रैली में विघ्न डालने की आतंकियों ने कर रखी थी पूूरी तैयारी रू बता दें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की जम्मू के पल्ली पंचायत में आयोजित रैली में विघ्न डालने के लिए आतंकियों ने पूरा जोर लगा दिया। शुक्रवार तड़के जम्मू में हुई मुठभेड़ के दौरान जैश-ए-मोहम्मद के दो पाकिस्तनी आतंकी मुठभेड़ में ढेर किए गए। फिर दूसरे ही दिन शनिवार शाम को कुलगाम में मुठभेड़ शुरू हो गई। यहां भी जैश के ही दो पाकिस्तानी आतंकी मारे गए और उनके साथी फरार हो गए थे। अभी चौबीस घंटे भी नहीं बीते कि दक्षिण कश्मीर के ही पुलवामा के पोहू इलाके में मुठभेड़ शुरू हो गई। इसमें भी तीन आतंकी मारे गए। यानी तीन दिन में तीन मुठभेड़ में कुल सात आतंकी मारे जा चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!