विभिन्न क्षेत्रों में बेहतर काम करने वाली महिलाओं को सम्मानित किया

Spread the love

देहरादून। महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाना है तो उन्हें स्वरोजगार से जोड़ना होगा। उन्हें रोजगार उपलब्ध कराना होगा। यह कहना है कि पूर्व मिस इंडिया ग्रैंड इंटरनेशनल अनुकृति गुसाईं का। उन्होंने कहा कि महिला उत्थान एवं बाल कल्याण संस्थान इस दिशा में तेजी से काम कर रहा है। महिला दिवस पर संस्थान की ओर से समाज के विभिन्न क्षेत्रों में काम कर रही महिलाओं को सम्मानित किया गया। सम्मान समारोह के उद्घाटन मौके पर मुख्य अतिथि प्रमुख सचिव राधिक झा ने कहा कि महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाकर सही मायनों में उनका सम्मान किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि यदि महिलाएं स्वावलंबी होंगी, तो हमारा समाज और हमारा राष्ट्र भी विकास के पथ पर आगे बढ़ेगा। उन्होंने बताया कि संस्थान ने 12 हजार महिलाओं को प्रशिक्षण देकर, उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए एक प्लेटफार्म भी उपलब्ध कराया है। उन्होंने उम्मीद जताई कि संस्था भविष्य में महिलाओं को ओर अधिक संसाधन उपलब्ध कराएगी। इस दौरान विभिन्न क्षेत्रों में बेहतर काम करने वाली महिलाओं को सम्मानित किया गया।
इन महिलाओं को किया गया सम्मानित: प्रमुख सचिव राधिका झा, आइपीएस निवेदिता कुकरेती, फिक्की फ्लो की चेयरपर्सन किरण भट्ट टोडरिया, एक्टर मोहिना कुमारी, सिंगर प्रियंका महर, डीएफओ मसूरी कहकशां नसीम, मशरूम लेडी दिव्या रावत, डॉ. गीता खन्ना, योग एंबेसडर दिलराज कौर, डिप्टी लेबर कमिश्नर मधु नेगी।
केवि की छात्रा गार्गी ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री से किया संवाद: महिला दिवस के मौके पर केंद्रीय विद्यालय-एक सालावाला की छात्रा गार्गी नौडियाल को केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल से ऑनलाइन संवाद करने का अवसर मिला। केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय की ओर से आयोजित कार्यक्रम में देशभर से नौ छात्राओं का इसके लिए चयन हुआ था। इस दौरान निशंक ने छात्राओं से उनकी पढ़ाई और कॅरियर के बारे में चर्चा की। संवाद के दौरान गार्गी ने आइएएस बनना अपना लक्ष्य बताया तो केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने इसका कारण भी जाना। गार्गी ने जवाब देते हुए कहा कि वह अपने समाज एवं देश के लिए बेहतर नीतियां तैयार कर नई दिशा देना चाहती हैं। इस पर निशंक ने उन्हें शुभकामनाएं दीं। गार्गी 12वीं कक्षा में कला संवर्ग की छात्रा है। उनके पिता वीके नौडियाल केवि आइटीबीपी में भौतिक विज्ञान के शिक्षक हैं और मां विभा नौडियाल केवि-एक सालावाला में शिक्षिका हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!