कृषि कानूनों को लेकर फैलाया जा रहा भ्रम: नेगी

Spread the love

नई टिहरी। टिहरी विधायक डा धन सिंह नेगी ने कहा कि कृषि कानूनों को लेकर विपक्षी भ्रम फैलाने का काम कर रहे हैं। जबकि यह कानून किसानों की आय 2022 तक दुगुनी करने में सहायक होंगे। कृषि कानूनों में किसानों का तमाम तरह की छूट दी गई। जिससे किसान अपनी मर्जी के मालिक होंगे। राष्ट्रपति ने कानूनों की कृषकों के लिए महत्ता को देखते हुये उन्हें जस के तस पास किया है। विधायक नेगी आवास पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। विधायक ने कहा अब तक देश के मात्र 6 प्रतिशत किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य का लाभ मिलता है। कानून बनने के बाद सभी किसानों को इसका लाभ मिलेगा। कानून के तहत सरकार न्यूनतम समर्थन मूल्य निर्धारित करती रहेगी। जिससे किसानों को लाभ होगा। कांट्रेक्ट फार्मिंग से किसानों का मनचाही कंपनी से मनचाहे दामों पर अनुबंध का अवसर मिलेगा। किसान कभी भी अनुबंध को निरस्त कर सकता है। अनुबंध में किसान पर पैनल्टी न लगाने का प्रावधान है। इस दौरान फसल के नुकसान की भरपाई भी कंपनी को करनी है। किसानों को इससे नुकसान नहीं होगा। कृषि कानून में किसानों को डब्बल बाजार भी उपलब्ध कराया जा रहा है। यह भी भ्रम फैलाया जा रहा है कि कानून लागू कर मंडी एक्ट खत्म किया जा रहा है। जो सही नहीं है, मंडी एक्ट लागू रहेगा। किसान देश के किसी भी कोने में अपनी फसल बेचने के लिए स्वतंत्र होगा। कानून में भंडारण की उपरी सीमा को खत्म कर दिया गया है। जिससे किसान अपनी इच्छा पीपीपी मोड पर पर्याप्त भंडारण कर पायेंगे। जिसका लाभ बिचौलियों के बजाय सीधे किसानों को होगा। जिससे बिचौलिये परेशान हैं। कहा कि किसान किसी भी भ्रम में न आयें। कानून लागू होने से किसानों की आय 2022 तक डब्बल होगी। इस मौके पर बेबी असवाल, धर्मेंद्र सिंह, उदय रावत, बालक सिंह रावत, पंकज, विनोद, त्रिलोक सिंह आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!