भविष्य में सर्तक और सावधान रहने की जरूरत

Spread the love

कोटद्वार। प्रदेश के शिक्षा, खेल एवं युवा कल्याण मंत्री अरविन्द पाण्डेय ने प्रदेश के राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम अधिकारियों और स्वयं सेवियों के साथ वर्चुअल क्लास के माध्यम से स्वामी विवेकानन्द ई-युवा सम्मेलन में कोविड-19 महामारी के दौरान किए गए सामाजिक कार्यो की समीक्षा की। साथ ही भविष्य की चुनौतियों से निटने के लिए सुझावों पर चर्चा की। राइका कोटद्वार के प्रधानाचार्य द्वारा वर्चुअल क्वास में उपस्थित रासेयो के कार्यक्रम अधिकारियों को स्वनिर्मित मास्क वितरित किये गये।
स्वामी विवेकानन्द ई-युवा सम्मेलन के माध्यम से शिक्षा मंत्री ने प्रदेश के 13 जनपदों में कोरोना महामारी की रोकथाम हेतु राष्ट्रीय सेवा योजना, प्रान्तीय रक्षक दल, नेहरू युवा केन्द्र, महिला एंव युवा मंगल दलों द्वारा किए गए कार्यों की समीक्षा की। शिक्षा मंत्री ने कहा कि प्रदेश और देश में कोरोना के निरन्तर बढ़ते जा रहे संक्रमण के कारण भविष्य में आने वाली चुनौतियों से निपटने के लिए हमें ज्यादा सर्तक और सावधान रहने की जरूरत है। राजकीय इंटर कॉलेज कोटद्वार के वर्चुअल क्लास में विद्यालय के प्रधानाचार्य जगमोहन सिंह रावत के मार्गदर्शन में राष्ट्रीय सेवा योजना के गढ़वाल मंडल कार्यक्रम समन्वयक पुष्कर सिंह नेगी, जिला समन्वयक पौड़ी परितोष रावत, कार्यक्रम अधिकारी सत्यपाल सिंह नेगी, राजन कुमार शर्मा, हिमांशु द्विवेदी, नेहा सेमवाल, डॉ. मंजू कपरवाण, रमाकान्त कुकरेती, दौलत गुसांई, बृजभूषण बिजोंला, रेनू गौड़, डॉ. आशुतोष ढौड़ियाल, अल्का बिष्ट, संदीप रावत, चन्द्रमोहन ध्यानी, सुरजी नेगी के साथ ही स्वयं सेवी रिजवी, सौम्या, मधुलिका, रितिका, अराध्या, दिपाशुं, अंकुश, निशांत, राहुल, राबिन, संतोष नेगी, आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!