भाजपा ने बंगाल चुनाव के लिए जारी किया संकल्प पत्र, हर वर्ग के लोगों के लिए की घोषणाएं

Spread the love

कोलकाता, एजेंसी। बंगाल की सत्ता से ममता बनर्जी को उखाड़ देंकने के लिए पूरी ताकत से जुटी भाजपा ने रविवार को विधानसभा चुनाव के लिए अपना संकल्प पत्र (घोषणा पत्र) जारी कर दिया। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कोलकाता में संकल्प जारी करते हुए कहा कि इसका मुख्य विचार सोनार बांग्ला का निर्माण करना है। संकल्प पत्र में उन्होंने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) लागू करने से लेकर घुसपैठ रोकने सहित महिलाओं, युवाओं, किसानों समेत सभी वर्गों के लिए वादों की झड़ी लगा दी। इसके साथ बंगाली संस्ति, अस्मिता, पर्यटन, खेल समेत हर क्षेत्र के लिए बड़ी घोषणाएं कर सबको साधने की कोशिश की है।
शाह ने आधी आबादी पर विशेष जोर देते हुए कहा कि बंगाल में भाजपा की सरकार बनती है तो राज्य सरकार की सभी नौकरियों में महिलाओं को 33 फीसद आरक्षण, सभी बेटियों के लिए केजी से लेकर पीजी तक की मुफ्त पढ़ाई के साथ सरकारी परिवहन में महिला को मुफ्त यात्रा का लाभ मिलेगा। पांच साल के भीतर प्रत्येक परिवार के एक सदस्य को रोजगार और मंत्रिमंडल की पहली बैठक में सीएए को लागू किया जाएगा। राज्य में वोट बैंक के हिसाब से महत्वपूर्ण मतुआ शरणार्थियों के लिए उन्होंने सीएए के अलावा और भी कई बड़ी घोषणाएं की। शाह ने कहा कि मुख्यमंत्री शरणर्थी योजना की शुरुआत भी जाएगी और इसके तहत प्रत्येक शरणर्थी परिवार को पांच साल तक प्रतिवर्ष 10 हजार रुपये सीधे उनके बैंक खाते में दिए जाएंगे।
शाह ने यह भी कहा कि बांग्ला को संयुक्त राष्ट्र की आधिकारिक भाषा बनाने के लिए केंद्र सरकार हरसंभव प्रयास करेंगी। इसके साथ ही उन्होंने प्रत्येक मतुआ परिवार को प्रति महीने तीन हजार रुपये का भत्ता देने का भी वादा किया। शाह ने आगे कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ सभी किसानों को देने के साथ ही 75 लाख किसानों को जो 18 हजार रुपये तीन साल से ममता दीदी ने नहीं पहुंचाया है, वह भी सीधे किसानों को बैंक खाते में देंगे। उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत हर वर्ष किसानों को भारत सरकार की ओर से जो 6000 रुपये दिये जाते हैं, उसमें राज्य सरकार का चार हजार रुपया जोड़कर 10 रुपये देने की भी बात कहीं।
इसके अलावा मटुआरों को हर वर्ष छह हजार रुपये दिए जाएंगे। शाह ने कहा कि भाजपा ने अपने घोषणा पत्र को हमेशा एक संकल्प पत्र के रूप में स्थान दिया है। उन्होंने कहा कि यह पार्टी का संकल्प है कि कैसे बंगाल को सोनार बांग्ला के रूप में परिवघ्तत किया जाएगा। उन्होंने कहा कि बंगाल ने सदियों तक भारत की अगुवाई की है और वह चाहे आजादी का संग्राम रहा हो, चाहे राजनीति का क्षेत्र या फिर विज्ञान, शिक्षा और साहित्य का। राज्य की सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए शाह ने दावा कि पिछले 10 वर्षों में बंगाल के अंदर तृणमूल कांग्रेस के कुशासन ने एक काले अध्याय की शुरुआत की है, जिसकी वजह से चारों ओर निराशा व्याप्त है। उन्होंने कहा, ममता बनर्जी ने अपने वोट बैंक के लिए तुष्टीकरण को चरम सीमा पर पहुंचाया है। देश की सुरक्षा जैसे संवेदनशील विषयों को भी इन्होंने वोट बैंक की राजनीति से जोड़कर देखा। परंपरागत उत्सवों को भी वोट बैंक की राजनीति का जरिया बनाया। घुसपैठ रोकने को लेकर भी उन्होंने बड़ा वादा किया और कहा कि आदमी तो दूर परिंदा भी पर नहीं मार पाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!