ऑक्सीजन की कालाबाजारी करने वालों की अब खैर नहीं: सपताल

Spread the love

उत्तराखंड में नहीं होने देंगे ऑक्सीजन की कमी
कुमाऊं के तीन ऑक्सीजन प्लांट में जल्द शुरू होगा उत्पादन
जयन्त प्रतिनिधि।
देहरादून।
कोरोना मरीजों को राहत देने के लिए उत्तराखंड के कुमाऊं मंडल में तीन नए ऑक्सीजन प्लांट लगाए जा रहे हैं। जिनमें जल्द ही ऑक्सीजन उत्पादन शुरू कर दिया जाएगा। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि उत्तराखंड में किसी भी कीमत में ऑक्सीजन की कमी नहीं होने देंगे। कोरोना संक्रमित लोगों को हर संभव मदद पहुंचाने के लिए प्रदेश सरकार प्रतिबद्ध है। अधिकारियों को निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी में मेडिकल ऑक्सीजन और अति आवश्यक दवाइयों की कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों की पहचान करने और उन पर कड़ी कार्रवाई करने के लिए स्पेशल टीम गठित कर अभियान चलाया जाए।


पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि कोरोना काल में प्रदेश भर में ऑक्सीजन की मांग बढ़ी है। इसकी आवश्यकता को देखते हुए प्रदेश भर में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन सप्लाई की जा रही है। प्रदेश में ऑक्सीजन की किसी भी प्रकार की कमी न हो इसके लिए ऑक्सीजन उत्पादन के संयंत्र लगाए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि काशीपुर के एलडी भट्ट राजकीय चिकित्सालय में डीआरडीओ की ओर से मेडिकल ऑक्सीजन प्लांट लगाया जा रहा है। 500 लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन का उत्पादन क्षमता वाले इस प्लांट का निर्माण नेशनल हेल्थ की देखरेख में किया जा रहा है। पर्यटन मंत्री ने बताया कि बजाज कंपनी की ओर से खटीमा में 400 लीटर प्रति मिनट और मेडिकल कॉलेज रुद्रपुर में 1000 लीटर प्रति मिनट उत्पादन क्षमता का ऑक्सीजन प्लांट लगाए जाने की योजना है। खटीमा में इस माह के अंत तक और मेडिकल कॉलेज रुद्रपुर में 15 जून तक उत्पादन शुरू कर दिया जाएगा। मंत्री श्री महाराज ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि बेवजह अपने घर में ऑक्सीजन सिलेंडर को न रखे। आवश्यकता पूरी होने के बाद सिलेंडर लौटा दें, जिससे वह सिलेंडर किसी जरूरतमंद व्यक्ति के काम आ सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!