कांग्रेस के महाराष्ट्र प्रभारी एचके पाटिल ने दिया बयान, बोले- हमारे सभी विधायक संपर्क में

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

मुंबई, एजेंसी। कांग्रेस के महाराष्ट्र प्रभारी एचके पाटिल ने राज्य में मचे सियासी संकट के बीच कहा है कि सुबह जैसी स्थिति दिखाई गई थी, वैसी नहीं है। उन्होंने कहा कि सरकार को कोई खतरा नहीं है और हमारे पार्टी के नेता सीएम उद्घव ठाकरे से बातचीत कर रहे है। सभी विधायकों से हमारा संपर्क हो चुका है। हमारे सिर्फ एक विधायक विदेश गए हैं जो वापस लौट रहे हैं और वह भी हमारे संपर्क में हैं। हमारा कोई भी विधायक नट रीचेबल नहीं है।
शिवसेना ने शिंदे की जगह अजय चौधरी को नेता बनाया। एकनाथ शिंदे को पद से हटाने वाली चिट्टी पर 22 लोगों ने दस्तखत किए हैं। वहीं, सूरत में मिलिंद नार्वेकर बागी विधायकों से मुलाकात कर होटल से बाहर निकलें हैं। करीब डेढ घंटे तक मिलिंद नार्वेकर की बागी विधायकों से बातचीत हुई। इस दौरान शिवसेना नेता रवि पाठक भी मौजूद थे।
शिवसेना नेताओं ने महाराष्ट्र विधानसभा के उपाध्यक्ष नरहरि जिरवाल से मुलाकात की और उन्हें एक पत्र सौंपा, जिसमें एकनाथ शिंदे को विधायक दल के नेता के पद से हटाने और उनकी जगह अजय चौधरी को शिवसेना विधायक दल का नेता बनाने का अनुरोध किया गया है। महाराष्ट्र में शुरू हुई उथल-पुथल के बीच अजीत पवार उद्घव ठाकरे से मिलने पहुंचे। उद्घव ठाकरे के आवास पर दोनों नेताओं के बीच वार्ता होगी। इस बीच यह भी सामने आया है कि उद्घव ठाकरे ने सात बजे शिवसेना सांसदों की बैठक बुलाई है। सूत्रों के मुताबिक, शिवसेना के बागी विधायकों से पिछले एक घंटे से बातचीत चल रही है। शिवसेना के नेता मिलिंद नार्वेकर बागी विधायकों से बातचीत कर रहे हैं। महाराष्ट्र में शुरू हुई उथल-पुथल के बीच महाराष्ट्र कांग्रेस ने बयान जारी कर बालासाहेब थोराट से जुड़ी खबर को खारिज किया है। महाराष्ट्र कांग्रेस ने कहा है कि कांग्रेस के सभी विधायक प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले और विधायक दल के नेता बालासाहेब थोराट के संपर्क में हैं और विधायकों के संपर्क में नहीं होने की जो भी खबरें हैं वह पूरी तरह निराधार हैं। बालासाहेब थोराट के कांग्रेस विधायक दल के नेता पद से इस्तीफे से जुड़ी खबर भी गलत है क्योंकि वह अपने आवास से ही पूरे हालात पर नजर रख रहे हैं।
में राजनीतिक संकट पर कांग्रेस नेता और उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत का बयान भी आया है। उन्होंने दिल्ली में कहा है कि हमारा गठबंधन शिवसेना से है, उनके घर में क्या चल रहा है इसे उद्घव ठाकरे देखेंगे। इससे भाजपा का असली चेहरा दिखाई दे रहा है, वे कहीं भी विरोध बर्दाश्त करने के लिए तैयार नहीं है। हमारी सरकार ही चलेगी क्योंकि ठश्रच् भी सरकार नहीं बना सकती।
वे कुछ हलचल कर सकते हैं, खरीद फरोख्त करके अस्थिरता पैदा कर सकते हैं, लेकिन उनके मंसूबे पूरे नहीं होंगे। इससे साफ पता चलता है कि भाजपा सिर्फ सत्ता की भूखी है।
कांग्रेस नेता और महाराष्ट्र के पूर्व सीएम पृथ्वीराज चव्हाण ने महाराष्ट्र में उथल-पुथल के लिए भाजपा को जिम्मेदार बताया है। उन्होंने मंगलवार को कहा कि कुछ समय पहले एनसीपी में भी भाजपा ने ऐसा करने की कोशिश की थी। शरद पवार के साथ भी ऐसा किया गया जब डिप्टी सीएम अजीत पवार ने बगावती तेवर अपनाए थे। अब उद्घव ठाकरे की पार्टी शिवसेना में यही हो रहा है। उद्घव के करीबी एकनाथ शिंदे ने बगावती तेवर अपना लिए हैं।
शिवसेना विधायकों और एकनाथ शिंदे को लेकर कांग्रेस नेता दीपेंद्र हुड्डा ने कहा कि हमारी सरकार महाराष्ट्र में मजबूत है। सभी कांग्रेस विधायक और हमारा गठबंधन मजबूत है। जहां तक शिवसेना का सवाल है, उनके प्रमुख उद्घव ठाकरे सफलतापूर्वक इसका हल निकालेंगे।
महाराष्ट्र में शुरू हुए राजनीतिक संकट के बीच जानकारी मिली है कि शिवसेना नेता मिलिंद नार्वेकर और रवि पाठक बागी विधायकों से मिलने सूरत स्थित ले मेरिडियन होटल पहुंच चुके हैं। इसी होटल में शिव सेना के बागी नेताओं ने डेरा जमाया हुआ है। मिलिंद और रवि पाठक ने एकनाथ शिंदे से भी मुलाकात की है।
महाराष्ट्र में गहरा रहे सियासी संकट के बीच शिवसेना नेता संजय राउत ने भाजपा पर हमला किया है। उन्होंने कहा कि सूरत में हमारे विधायकों को डरा-धमका कर रखा गया है। भाजपा अपरेशन लोटस की तरह रणनीति अपना रही है लेकिन देखते हैं कि यह कितना सफल रहता है। उन्होंने आगे कहा कि हमारी बात उन विधायकों से बात हुई है। उन्होने आगे कहा कि एकनाथ शिंदे हमारे साथ हैं, उनकी कुछ गलतफहमियां हैं वो दूर हो जाएगी।
एकनाथ शिंदे का अपने समर्थक विधायकों के साथ गुजरात के सूरत में डेरा जमाए जाने की घटना के बाद महाराष्ट्र में राजनीतिक संकट गहरा गया है। इस बीच कांग्रेस ने अपने विधायकों की बैठक बुलाई है। कांग्रेस विधायकों की बैठक साढ़े पांच बजे होगी।
इस बीच महाराष्ट्र चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि राज्यसभा और डस्ब् चुनावों के लिए ठश्रच् को निर्दलीय और छोटे राजनीतिक दलों का समर्थन मिला है। हमारी जानकारी के अनुसार एकनाथ शिंदे और 35 विधायक जा चुके हैं। इसका मतलब है कि तकनीकी रूप से राज्य सरकार अल्पमत में है, लेकिन व्यावहारिक रूप से सरकार को अल्पमत में आने में कुछ समय लगेगा। अभी तक ऐसी कोई स्थिति नहीं है जो अविश्वास प्रस्ताव के लिए विशेष सत्र बुलाए जाने की मांग करे। 18 जुलाई से विधानसभा का सत्र शुरू होगा और फिर हम इस पर गौर करेंगे।
एकनाथ शिंदे का अपने समर्थक विधायकों के साथ गुजरात के सूरत में डेरा जमाए जाने की घटना के बाद महाराष्ट्र में राजनीतिक संकट गहरा गया है। इस बीच महाराष्ट्र सरकार में मंत्री जयंत पाटिल ने मुंबई में कहा कि एकनाथ शिंदे कल शाम से गुजरात गए हैं और उनके साथ विधानसभा के सदस्य भी हैं। हमने राष्ट्रवादी कांग्रेस की कोई बैठक नहीं बुलाई। हमारे कई डस्। मुंबई में ही हैं और मेरी बात उनसे लगातार हो रही है, हमारे संपर्क में सारे डस्। हैं।
एकनाथ शिंदे का अपने समर्थक विधायकों के साथ गुजरात के सूरत में डेरा जमाए जाने की घटना के बाद महाराष्ट्र में राजनीतिक संकट गहरा गया है। इस बीच सीएम उद्घव ठाकरे ने विधायकों के साथ आपात बैठक भी की। शिवसेना आज शाम चार बजे शक्ति प्रदर्शन करेगी। कुछ दी देर में शिवसेना का शक्ति प्रदर्शन होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!