लक्षद्वीप में बना गहरे दबाव का क्षेत्र महाराष्ट्र, गुजरात, केरल में रेड अलर्ट, एनडीआरएफ रवाना

Spread the love

नई दिल्ली , एजेंसी। अरब सागर में उठा चक्रवाती तूफान तौकते अगले कुछ घंटों में देश के पश्चिम तटीय क्षेत्रों में कहर ढा सकता है। शुक्रवार को यह लक्षद्वीप में गहरे दबाव क्षेत्र में बदला। इससे केरल, गुजरात, महाराष्ट्र के आसपास के तटीय क्षेत्रों में तेज हवाओं के साथ भारी वर्षा हो सकती है।
अरब सागर में तौकते तूफान बड़ा खतरा बनकर आ रहा है। लक्षद्वीप में गहरे दबाव का क्षेत्र बन गया है, यह अगले 24 घंटे में गुजरात तट की ओर बढ़ेगा। इसे देखते हुए महाराष्ट्र, गुजरात, केरल में रेड अलर्ट जारी किया गया है। बाढ़ की आशंका वाले क्षेत्रों में एनडीआरएफ की टीमें रवाना कर दी गई हैं।
अरब सागर और लक्षद्वीप के ऊपर बने चक्रवात तौकते के तेज होने के मद्देनजर महाराष्ट्र, केरल और गुजरात के कुछ हिस्सों में भारी बारिश की चेतावनी दी गई है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (प्डक्) ने शुक्रवार को कहा कि लक्षद्वीप क्षेत्र में एक दबाव बन गया है। यह अगले 24 घंटों के दौरान एक चक्रवात में बदल जाएगा और गुजरात तट की ओर बढ़ेगा।
अगले 12 घंटों में यह चक्रवाती तूफान और तेज हो सकता है। यह उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने के साथ 18 मई की सुबह तक यह गुजरात तट पर पहुंच सकता है। शनिवार शाम तक इसके उत्तर-उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ने की संभावना है। इसके बाद यह उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ेगा।
गहरे समुद्र में निकले मटुआरों को तट पर लौटने की सलाह दी गई है़ इस बीच, तिरुवनंतपुरम में अरुविक्करा बांध के शटर गुरुवार रात भारी बाढ़ के कारण खोले गए, जिससे करमना और किल्ली नदियों में बाढ़ आ गई। केरल में, एर्नाकुलम के तटीय गांव चेल्लानम में स्थानीय लोगों ने शिकायत की कि उच्च ज्वार की लहरों के कारण समुद्र का पानी रिसने से कई घर क्षतिग्रस्त हो गए़
मौसम विभाग के अनुसार लक्षद्वीप में बना दबाव का क्षेत्र शुक्रवार को गहरे दबाव क्षेत्र में बदल गया। विभाग के ताजा अपडेट के अनुसार केरल के तिरुवनंतपुर जिले में शुक्रवार को रेड अलर्ट जारी किया गया। यहां समुद्र में प्रतिकूल स्थिति देखी गई। षणमुघम के पास तटीय क्षरण के कारण सड़क का आंशिक हिस्सा बह गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!