बिजली की बढ़ी हुई दरों को वापस लेने की मांग को लेकर किया प्रदर्शन

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने बिजली की दरों में बढ़ोत्तरी के विरोध में प्रदर्शन किया। उन्होंने प्रदेश सरकार से बिजली की दरों में वृद्धि को जल्द वापस लेने की मांग की है। वहीं कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने अधीक्षण अभियंता विद्युत विभाग कोटद्वार को ज्ञापन सौंपकर बिजली की बढ़ी हुई दरों को वापस लेने और प्रतिमाह बिल उपभोक्ताओं तक पहुंचाने की मांग की है।
बुधवार को विद्युत विभाग कार्यालय कोटद्वार के बाहर प्रदर्शन करते हुए कार्यकर्ताओं ने कहा कि प्रदेश सरकार बिजली के दरों में बेहताशा वृद्धि कर रही है। जिससे आम जनता को आर्थिक मार पड़ रही है। उत्तराखण्ड बिजली उत्पादक प्रदेश होने के बावजूद सबसे ज्यादा प्रति यूनिट भुगतान करना सरकार की नाकामी को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि पड़ोसी राज्य दिल्ली में सरकार लोगों को बिजली-पानी फ्र्री दे रखी है, उत्तराखंड सरकार को भी दिल्ली की तर्ज पर जनता को राहत देनी चाहिए। जिस प्रकार प्रति यूनिट बढ़ोत्तरी की गई है, उसी प्रकार बिजली का बिल दो महीने का एक साथ पकड़ा कर उपभोक्ताओं का आर्थिक शोषण किया जा रहा है। इससे जनता आक्रोशित है। उन्होंने सरकार से बिजली की बढ़ी हुई दरों को वापस लेने, बकाया बिलों को माफ करने व अनावश्यक बिलों पर अविलंब निर्णय लेने की मांग की है। प्रदर्शन करने वालों में आप के प्रदेश उपाध्यक्ष सेवानिवृत मेजर जनरल डॉ. सीके जखमोला, प्रदेश प्रवक्ता अरविंद वर्मा, महानगर अध्यक्ष राकेश अग्रवाल, डॉ. अनिल मोहन, सुबोध मंमगाई, वीरेंद्र रावत, डॉ. विनोद सामंत, महिताब रावत, राजेन्द्र आर्य, हर्षिता, तनुज रावत, शिव प्रसाद धस्माना, डॉ. नंद किशोर जखमोला आदि शामिल रहे।

बिजली की दरों को वापस लेने, बिलों को प्रतिमाह देने की मांग की
कोटद्वार। धीरेंद्र सिंह बिष्ट उपाध्यक्ष जिला कांग्रेस कमेटी पौड़ी गढ़वाल ने कहा कि उत्तराखण्ड में कोरोना काल में विद्युत बिलों में की गई अप्रत्याशित वृद्धि से प्रदेश की जनता को झटका लगा है। इसके अलावा बिलों में जो तकनीकी खेल चल रहा है उससे जनता को आर्थिक नुकसान हो रहा है। जिस प्रकार प्रति यूनिट बढ़ोत्तरी की गई है और बिजली का बिल दो माह का एक साथ पकड़ा कर उपभोक्ताओं का आर्थिक शोषण किया जा रहा है। जिससे जनता में भारी रोष व्याप्त है। लगातार हो रही विद्युत दरों में वृद्धि से जनता को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है। इसके अलावा भी कई तरह के चार्ज लगाकर जनता की कमर तोड़ने का सरकार द्वारा काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जनता के हित में बढ़ी हुई बिजली की दरों को अविलम्ब वापस लेने, बिजली के बिलों को प्रतिमाह उपभोक्ताओं को देने की मांग की है। यदि सरकार ने इन मांगों को जल्द नहीं माना तो कांग्रेस कार्यकर्ता जनता के सहयोग से सड़कों पर उतरकर इसका पुरजोर विरोध करेगी। ज्ञापन प्रेषित करने वालों में कांग्रेस जिला उपाध्यक्ष धीरेंद्र सिंह बिष्ट, यूथ कांग्रेस विधानसभा अध्यक्ष विजय रावत, जितेंद्र भाटिया आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!