ध्वस्त होने के कगार पर चार दशक पुराना बांघाट पुल

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
पौड़ी। प्रांतीय खण्ड लोक निर्माण विभाग पौड़ी के अधीन प्रांतीय राजमार्ग संख्या 32 में नयार नदी पर बना चार दशक पुराना बांघाट मोटर पुल लोनिवि की लापरवाही से किसी भी समय ध्वस्त हो सकता है।
मुख्य बाजार सतपुली व विकासखंड कल्जीखाल की पट्टी मनियारस्यूं के गांवो व जिला मुख्यालय पौड़ी व देवप्रयाग-ऋषिकेश को जोड़ने वाले बांघाट पुल की बुनियाद पर 6 माह पूर्व खोदे गए गड्ढे यह दर्शाता है कि यदि बरसात के मौसम से पहले इस पुल की बुनियाद पर मरम्मत न की गई तो हर साल की तरह बरसात के मौसम में नयार नदी पर आने वाला उफान इस पुल को भी ले डूबेगा। प्रांतीय खंड पौड़ी द्वारा पुल के जीणोद्र्घार का कार्य जिस ठेकेदार को दिया गया था उसके द्वारा 6 महीने पहले पुल की बुनियाद को खंगाल तो दिया गया लेकिन उसके पश्चात कार्य स्थगित कर दिया गया। जो बेहद जोखिम भरा हो चुका है। जिला पंचायत सदस्य गढ़कोट संजय डबराल का कहना है कि इस पुल से विभिन्न गांवो के लोग रोजाना मुख्य बाजार सतपुली व हंस अस्पताल चमोलीसैण में स्वास्थ्य परीक्षण हेतु आते है। यदि पुल ध्वस्त होता है हजारों लोग इससे प्रभावित होंगे। संबंधित विभाग द्वारा इसका संज्ञान लेकर पुल का जीणोद्र्घार जल्द शुरू करवाना चाहिए। प्रांतीय खंड पौड़ी के अधिशासी अभियंता अरुण कुमार पाण्डेय ने कहा कि पहला ठेकेदार काम छोड़कर चला गया है अब दूसरे ठेकेदार से कार्य पूरा करवाया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!