डीएम ने दी ईई सिचाई खंड नैनीताल हरीश चंद्र सिंह को विशेष प्रतिकूल प्रविष्टि

Spread the love

संवाददाता, नैनीताल। जिलाधिकारी सविन बंसल ने अधिशासी अभियन्ता सिचाई खंड नैनीताल हरीश चंद्र सिंह भारती को विशेष प्रतिकूल प्रविष्टि दी है। ईई ने 27 अप्रैल से 10 मई 2020 तक उपार्जित अवकाश का उपभोग करने के उपरान्त भी अभी तक कार्यालय ज्वाइन नहीं किया। कोविड-19 महामारी के कार्यो के निर्वहन, कर्तव्य पालन में उदासीनता बरतने तथा उच्चाधिकारियों के आदेशों का निरंतर उल्लंघन करने को गम्भीरता से लेते हुए डीएम ने नाराजगी व्यक्त करते हुए कार्रवाई की है।डीएम ने कहा है कि 27 अप्रैल से 10 मई 2020 तक उपार्जित अवकाश के बाद 11 मई को ईई ने ज्वाइन करना था। लेकिन अब तक न हीं वह उपस्थित हुए और न हीं उच्चाधिकारियों को अग्रिम अवकाश हेतु कोई प्रार्थना पत्र दिया। 10 मई को दूरभाष के माध्यम से उन्होंने अवगत कराया गया कि उनकी पत्नी की अस्वस्थता के कारण वह उपस्थित नहीं हो सकते। जिस पर उन्हें वस्तु स्थिति से उच्चाधिकारियों को अवगत कराने के लिए निर्देशित किया। 22 मई तक उच्चाधिकारियों को कोई सूचना न देने के कारण फिर से उन्हें उच्चाधिकारियों को सूचना देने को कहा। जिसके बाद उन्होंने 15 जून तक उपार्जित अवकाश हेतु आवेदन व्हाट्सएप के माध्यम से प्रेषित किया। अधीक्षण अभियन्ता ईई कार्यमण्डल हल्द्वानी ने उपार्जित अवकाश की समाप्ति के बाद भी उनके मुख्यालय में उपस्थित न होने, आपदा के समय जिम्मेदारी देने पर भी कोई सूचना न देने पर कार्रवाई हेतु डीएम को पत्र भेजा। सिंचाई विभाग के एसई, सीडीओ तथा एसडीएम की आख्या को गंभीरता से लेते हुए डीएम ने भारती के खिलाफ कार्रवाई की।
कोरोना के निपटने को बनाया था जोनल मजिस्ट्रेट
बताया जाता है कि कोविड संक्रमण आपदा दौर में उन्हें नैनीताल, भवाली व भीमताल क्षेत्र में स्थापित क्वारंटाइन सेन्टर/शैल्टर हाउस की व्यवस्थाओें के संचालन हेतु जोनल मजिस्ट्रेट नियुक्त किया गया था। बता दें कि इससे पूर्व भी उच्चाधिकारियो के आदेशों का उल्लंघन करने, दायित्वों के प्रति लापरवाही तथा उदासीनता बरतने के लिए भारती को कई बार कारण बताओ नोटिस जारी किये जा चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!