चीन सीमा विवाद से लेकर वीवो पर छापेमारी तक

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

नई दिल्ली, एजेंसी। विदेश मंत्रालय ने आज जी-20 में भारत की अध्यक्षता से लेकर चीन से सीमा विवाद तक कई मुद्दों पर बयान दिया। साथ ही जल्द ब्रिटेन का प्रधानमंत्री पद छोड़ने वाले बोरिस जनसन से पीएम मोदी की बातचीत की भी जानकारी दी। प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा, भारत दिसंबर में जी-20 की अध्यक्षता ग्रहण करेगा। इस साल हमारे राष्ट्रपति पद के दौरान देश भर में बड़ी संख्या में जी-20 कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।
दलाई लामा को जन्मदिन की बधाई देने के मुद्दे पर उन्होंने कहा, पीएम मोदी ने पिछले साल भी दलाई लामा के साथ बात की थी, यह हमारी सरकार की लगातार नीति रही है कि उन्हें भारत में अतिथि के रूप में माना जाए। देश में उनके बड़े फलोअर्स हैं। उनका जन्मदिन भारत और दुनिया भर में मनाया जाता है।
बाली में भारत-चीन विदेश मंत्रियों की बातचीत पर बागची ने कहा, विदेश मंत्री ने पूर्वी लद्दाख में सीमा विवाद पर सभी बकाया मुद्दों के शीघ्र समाधान और टकराव वाले क्षेत्रों की स्थिति के बारे में बात की। उन्होंने शांति बहाल करने के लिए सेना को पूरी तरह हटाने के लिए गति बनाए रखने की जरूरत दोहराई। उन्होंने द्विपक्षीय प्रोटोकल का पालन करने के महत्व की पुष्टि की। वे जल्द से जल्द वरिष्ठ कमांडरों की बैठक करने के लिए उत्सुक हैं, अभी इसकी तारीख चय नहीं हुई है।
चीनी मोबाइल कंपनी वीवो पर ईडी की छापेमारी और निदेशकों के देश से भागने के संबंध में बागची ने कहा, हमें अधिकारियों से जानकारी नहीं मिली है। यह एक कानूनी मुद्दा है, जब भी हमें कुछ मिलेगा और चीन से बात करने की जरूरत होगी, हमारे पास पारस्परिक सहायता की एक प्रणाली है। उन्होंने कहा कि यहां काम करने वाली कंपनियों को देश के कानून का पालन करने की जरूरत है। हमारे कानूनी अधिकारी देश के कानून के अनुसार कदम उठा रहे हैं। मैं इस मामले में इस तरह की टिप्पणी की वजह नहीं देखता।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!