स्पर्श गंगा अभियान दिवस पर की प्राकृतिक जल स्रोतों की सफाई

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई जनता इंटर कालेज देवराजखाल के स्वयं सेवियों ने कोरोना महामारी की वजह से स्कूल बन्द होने के कारण अपने-अपने गांव में प्राकृतिक जल स्रोतों की साफ-सफाई कर स्पर्श गंगा अभियान को सफल बनाया। वहीं मेहरबार्न ंसह कंडारी सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज कोटद्वार में नदियां कैसे स्वच्छ रहेगी विषय पर आयोजित भाषण प्रतियोगिता में अंकुश ने प्रथम, मानसी नेगी ने द्वितीय, निशान्त शर्मा ने तृतीय स्थान प्राप्त किया।
इकाई के कार्यक्रम अधिकारी डॉ. आशुतोष ढौंडियाल ने स्वयंसेवी छात्र-छात्राओं के साथ ऑनलाइन बैठक कर स्पर्श गंगा अभियान के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि स्पर्श गंगा अभियान के तहत गंगा नदी एवं उसकी सहायक नदी नालों, प्राकृतिक जल स्रोतों की साफ-सफाई की जाती है। इसी से प्रेरित होकर स्वयं सेवियों द्वारा अपने गांव में प्राकृतिक जल स्रोतों, जल धाराओं, पानी की टंकियों, हैंडपंप, नवल, स्टैंड पोस्ट, खाल-चाल आदि की साफ-सफाई की गई। विद्यालय के प्रबंधक गिरीश चन्द्र्र मुंडेपी, अध्यक्ष राजे सिंह रावत, प्रधानाचार्य अनुराज कांत ने स्वयं सेवियों के कार्य की सराहना की। कार्यक्रम को सफल बनाने में स्वयं सेवी छात्रा वर्षा, सिमरन, निधि, मीनाक्षी, कोमल, निशा, साक्षी, अनामिका, श्वेता, रश्मि, संध्या, साक्षी, प्रिया, ममता, पूनम गौड़, तनिष्का, अंजलि, शिवानी, अंजलि रावत, सुहानी, अंजलि, भावना, सृष्टि, निकिता, कंचन, अक्षय, अभय, गौरव, अनुज, पीयूष, हनी, साहिल, आदर्श, अनूप, सचिन, विकास, करण, रोहित, अंकित, साहिल सिंह, अनुज कुमार, सोमदत्त, आयुष, रूद्राक्ष, ध्रुव बन्दूणी, राजीव, अमन, मयंक, इंद्रजीत, अमन रावत आदि ने सहयोग किया।
गुरूवार को स्पर्श गंगा दिवस पर एनएसएस स्वयं सेवियों ने खोह नदी के तट पर स्वच्छता अभियान चलाया। नदी पर फैले प्लास्टिक और कचरे को एकत्र किया। साथ ही गंगा को बचाने का तथा नदियों को प्रदूषण मुक्त करने का संकल्प लिया। स्पर्श गंगा दिवस के उपलक्ष पर आर्य कन्या इंटर कॉलेज की एनएसएस स्वयं सेवियों ने जागरूकता रैली निकालकर लोगों को जागरूक किया।  रैली को विद्यालय प्रधानाचार्य श्रीमती रेनू नेगी ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। रैली नजीबाबाद रोड, पटेल मार्ग, बदरीनाथ मार्ग, ग्रास्टनगंज होते हुए वापस विद्यालय पहुंची। रैली का नेतृत्व कार्यक्रम अधिकारी अलका बिस्ट व सहायक कार्यक्रम अधिकारी हेमा अग्रवाल ने किया।

नदी जल का संरक्षण करने पर जोर दिया
कोटद्वार। राष्ट्रीय सेवा योजना प्रकोष्ठ गढ़वाल मंडल के तत्वाधान में मेहरबार्न ंसह कंडारी सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज कोटद्वार की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा स्पश गंगा दिवस धूमधाम से मनाया गया। स्वयं सेवियों ने विद्यालय परिसर के साथ ही बुद्धापार्क में सफाई अभियान चलाकर साफ-सफाई की। इस अवसर पर विद्यालय परिसर में संगोष्ठी का आयोजन किया गया। रासेयो के जिला समन्वयक परितोष रावत ने नदी जल का संवर्धन व संरक्षण करने पर जोर दिया। उन्होंने स्वयं सेवियों से अपील करते हुए कहा कि वह नदियों को प्रदूषण मुक्त करने के लिए लोगों को प्रेरित करें। गंगा केवल नदी ही नहीं बल्कि देशरूपी शरीर में बहने वाला रक्त है, जो सम्पूर्ण भारत वर्ष को जीवन प्रदान करता है। इसलिए गंगा स्वच्छता अभियान प्रत्येक व्यक्ति की भावनाओं से जुड़ा होना चाहिए। विद्यालय के प्रधानाचार्य चन्दर्न ंसह ने कहा कि हमें स्वयं स्वच्छ रहकर दूसरों को भी स्वच्छ रहने के लिए प्रेरित करना चाहिए।

गंगा व सहायक नदियों को स्वच्छ बनाने की अपील
कोटद्वार। राजकीय इंटर कॉलेज सेंधीखाल की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा स्पर्श गंगा दिवस पर स्थानीय लोगों से गंगा एवं उसकी सहायक नदियों को स्वच्छ बनाने की अपील की। स्वयं सेवियों ने स्पर्श गंगा अभियान के तहत गंगा की सहायक नदियों में सफाई अभियान चलाकर प्लास्टिक, बोतल सहित अन्य कूड़ा एकत्रित कर नष्ट किया। कार्यक्रम अधिकारी दौलत सिंह गुसांई, सहायक कार्यक्रम अधिकारी बालमोहन ध्यानी, पूर्व कार्यक्रम अधिकारी सत्यपाल सिंह रावत, विनोद घिल्डियाल के नेतृत्व में अभियान चलाया गया। विद्यालय के प्रधानाचार्य नरेन्द्र मोहन बमराड़ा ने नदी जल का संवर्धन व संरक्षण करने की आवश्यकता पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि हमें किसी भी प्रकार का प्रदूषण नहीं फैलाना चाहिए। पर्यावरण को साफ एवं स्वच्छ रखने के लिए अधिक से अधिक संख्या में पौधों को लगाकर नदियों एवं पर्यावरण को बचाना होगा। ताकि नदियां प्रदूषण से मुक्त हो सके।

जल धाराओं को स्वच्छ रखना सभी का नैतिक कर्तव्य
कोटद्वार। राजकीय बालिका इंटर कॉलेज कलालघाटी की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के स्वयं सेवियों ने स्पर्श गंगा दिवस के अवसर पर मालिनी नदी की नहर में सफाई अभियान चलाया। कार्यक्रम अधिकारी डॉ. मंजू कपरवाण ने स्वयं सेवियों को सम्बोधित करते हुए नदी जल का संवर्धन व संरक्षण करने की आवश्यकता पर जोर दिया। उन्होंने छात्रों का आह्वान करते हुए कहा कि सभी स्वयं सेवी स्वयं भी नदियों को प्रदूषण मुक्त कराने के इस पुनीत कार्य में अन्य लोगों हेतु प्ररेणा स्रोत बनें। उन्होंने कहा कि 17 दिसंबर 2009 से गंगा स्वच्छता के लिए चलाये जा रहे स्पर्श गंगा अभियान चलाया जा रहा है। उन सभी जल धाराओं को जो गंगा नदी में मिलती है स्वच्छ करना आवश्यक है। इसलिए हम सभी का नैतिक कर्तव्य है कि सभी जल धाराओं को स्वच्छ रखें, तभी स्पर्श गंगा दिवस मनाने की सार्थकता होगी। इस अवसर पर स्वाति, प्रियांशी, शोभा, अजंलि, संध्या, रेशमा, खुशी आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!