ग्रामीणों ने हॉट मिक्स प्लांट का बंद कराया कार्य

Spread the love

रुद्रप्रयाग। अगस्त्यमुनि विकास खंड के मोहनखाल-चंद्रनगर क्षेत्र के किणझाणी गांव में संचालित हॉट मिक्स प्लांट का ग्रामीणों ने विरोध करते हुए कार्य रुकवा दिया। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि यह अवैध रूप से संचालित हो रहा है। और इसके संचालन से पर्यावरण को भी भारी नुकसान हो रहा है। ग्रामीणों ने आम बैठक में इसे हटाने का प्रस्ताव सर्वसम्मति से पास किया, बावजूद इसके यह संचालित हो रहा है। विकास खंड की सीमांत गांव किणझाणी में आबादी क्षेत्र में हॉट मिक्स प्लांट लगाने का आरोप गांव के ग्रामीणों ने लगाया है। सोमवार को ग्रामीणों ने प्लांट का कार्य बंद करा दिया। ग्रामीणों का कहना है कि पूर्व में गांव की तीन बार खुली बैठक में इसका विरोध कर चुके हैं। विभाग को भी अवगत करा चुके हैं, लेकिन प्लांट का संचालन बंद नहीं हो रहा है। ग्रामीणों ने कहा कि प्लांट में बाहरी व्यक्ति कार्य करने आते हैं। ऐसे में ग्रामीणों में कोरोना महामारी फैलने का भय बना हुआ है। इसके अलावा आबादी क्षेत्र के निकट प्लांट होने से ग्रामीणों को कई प्रकार की दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। क्षेत्र में धूल उड़ने से लोगों को सांस लेने में दिक्कत हो रही है। क्षेत्र के पर्यावरण को भी भारी नुकसान पहुंच रहा है। सोमवार को किणझाणी गांव के ग्रामीण प्रधान महेन्द्र सिंह बिष्ट के नेतृत्व में एकत्रित हुए और हॉट मिक्स प्लांट पर पहुंचकर विरोध जताया। प्रधान महेन्द्र सिंह बिष्ट ने कहा कि ग्रामीणों के विरोध के बावजूद प्लांट संचालित किया जा रहा है। दिन में प्लांट को बंद रखकर रात्रि के समय प्लांट का संचालन किया जा रहा है। ग्रामीणों ने चेतावनी देते हुये कहा कि यदि गांव के बीच में संचालित हो रहे प्लांट को बंद नहीं किया गया तो समस्त ग्रामीण उग्र आंदोलन के लिये बाध्य हो जाएंगे। विरोध करने वालों में ग्रामीण देवेश्वरी देवी, बीना देवी, मीरा देवी, रामेश्वरी देवी, लक्ष्मी देवी, जितेन्द्र सिंह, कई लोग शामिल थे। इधर, लोक निर्माण विभाग ऊखीमठ के अधशासी अभियंता मनोज भटट ने कहा कि बांसबाड़ा-कणसिल-चन्दनगर-मोहनखाल मोटरमार्ग पर डामरीकरण का कार्य चल रहा है। डामरीकरण करने को लेकर कुछ दिनों के लिये हॉट मिक्स प्लांट लगाया गया है, लेकिन ग्रामीण इसका विरोध कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!