जम्मू कश्मीर निवासी शातिर चोर गिरफ्तार, माल बरामद

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
श्रीनगर गढ़वाल। पुलिस ने जम्मू एवं कश्मीर के डोडा जिले के गुड़ेकड़ा थाना गुंदो निवासी शातिर चोर को गिरफ्तार कर उससे श्रीनगर गढ़वाल क्षेत्र में की गई दो चोरियों का माल भी बरामद कर लिया। यह शातिर चोर जावेद अहमद बट उर्फ मेहराजुद्दीन अपने भाई शहराजुद्दीन उर्फ राजू के साथ मिलकर चोरी किया करता था।
अगस्त में लोनिवि कॉलोनी डाकबंगला क्षेत्र निवासी जयानंद नौडियाल के घर से दिनदहाड़े इन दोनों चोर भाइयों ने सोने के जेवर चोरी कर लिए थे, जिसमें लगभग तीन लाख 80 हजार रुपये के जेवर के साथ ही बीते 17 दिसंबर को एजेंसी मोहल्ला क्षेत्र में इन्हीं दोनों से चोरी किए गए पाजेब, एक मोबाइल फोन और 5200 रुपये नगद भी बरामद हुआ है। पकड़े गए चोर का छोटा भाई शहराजुद्दीन उर्फ राजू को बुधवार को चमोली पुलिस ने चोरी करते गिरफ्तार किया था। यह चोर श्रीनगर की चोरी के सामान सहित अपने घर डोडा जिले को भाग रहा था। कोतवाल मनोज रतूड़ी के निर्देशन में एसएसआई रणवीर चंद रमोला, इंद्रजीत राणा, रफत अली दरोगाओं के साथ ही आनंद प्रकाश, मनोज भट्ट, बृजमोहन भट्ट, पूरन बिष्ट और एसओजी के हरीश फिरोज भी देर रात से ही इस चोर की तलाश में श्रीनगर से लेकर कलियासौड़ के बीच तक जगह-जगह नाकेबंदी किए थे। गुरुवार प्रात: लगभग सात बजे फरासू के समीप एसएसआई रणवीर रमोला और इंद्रजीत राणा के साथ ही पूरन बिष्ट, आनंद प्रकाश की टीम ने जब ऋषिकेश की ओर जा रही एक बस को रोककर तलाशी लेनी चाही तो अचानक यह चोर बस से कूदकर भागने लगा। पुलिस ने पीछा कर उसे दबोच लिया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पौड़ी पी रेणुका देवी ने शातिर चोर को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को 2500 रुपये का ईनाम घोषित किया है।

जम्मू से काम करने आया था चोर
श्रीनगर कोतवाली में शातिर चोर जावेद अहमद बट उर्फ मेहराजुद्दीन ने बताया कि अपने छोटे भाई शहराजुद्दीन के साथ वह टॉवर लगाने अथवा लकड़ी के चिरान के कार्य को लेकर यहां आए थे। चमोली में अपने जीजा के डेरे में वह रहते थे। चोरी से पहले घरों की रेकी कर यह पता कर लेते थे कि घरवाले घर से बाहर हैं अथवा नहीं। श्रीनगर की दोनों चोरियों में छोटा भाई घर के बाहर खड़ा रहकर निगरानी करता था और बड़ा भाई मुंह पर मास्क लगाने के साथ ही मोबाइल फोन पर बात करने का बहाना बनाकर घर में घुस जाता था।

पुलिस को मिली सफलता
श्रीनगर पुलिस के साथ ही एसओजी अगस्त में डाकबंगला क्षेत्र में दिन दहाड़े सोने के जेवरों की चोरी की घटना का पर्दाफाश करने को लेकर हाथ-पांव मार रही थी, लेकिन कुछ पता नहीं चल पा रहा था। कोतवाल मनोज रतूड़ी और एसएसआई रणवीर रमोला ने श्रीनगर में कार्यभार संभालते ही इस चोरी का पर्दाफाश करने की ठानी। पूरन बिष्ट, आनंद प्रकाश के साथ ही बाजार चौकी प्रभारी इंद्रजीत राणा भी चोरों का पता लगाने में जुटे थे, आखिर गुरुवार सुबह पुलिस को सफलता मिल गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!