जिला न्यायालय में तैनात कर्मी की संदिग्ध मौत

Spread the love

संवाददाता, बागेश्वर। कोतवाली पुलिस क्षेत्र के अंतर्गत जिला न्यायालय में तैनात चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी की संदिग्ध मौत हो गई है। बुधवार की शाम आठ बजे मजियाखेत बायापास के पास वह घायलावस्था में पड़े थे। लोगों की सूचना के बाद परिजन मौके पर पहुंचे और 108 आपात कालीन सेवा के माध्यम से जिला अस्पताल में भर्ती किया गया। जहां रात ढाई बजे उपचार के दौरान उसका निधन हो गया। गुरुवार की सुबह सूचना के बाद पुलिस भी अस्पताल पहुंच गई। शव कब्जे में लेकर पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम करावाया। इसके बाद शव परिजनों को सौंप दिया। मृतक के पिता भी पिथौरागढ़ से जिला मुख्यालय पहुंच गए हैं। कोतवाली पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार 41 साल के नयन प्रकाश पुत्र अर्जुन लाल, निवासी लीमा पिथौरागड़ हाल मजियाखेत बागेश्वर जिला न्यायालय में अनुसेवक के पर तैनात थे। बुधवार की सुबह वह अपनी ड्यूटी पर गए, लेकिन देर रात तक घर नहीं पहुंच पाए। सात बजे तक जब वह घर नहीं पहुंचे तो घर वालों ने उनके फोन पर संपर्क करने का प्रयास किया, लेकिन संपर्क नहीं हो पाया। इसके बाद परिजनों के साथ पास-पड़ोस के लोग उनकी खोजबीन में लग गए। इसी बीच उन्हें सूचना मिली कि वह जीआईसी स्कूल के पास बने बाईपास के पास वह घायलावस्था में पड़े हैं। परिजन मौके पर पहुंचे और घटना की सूचना 108 को दी। सूचना के बाद मौके पर 108 पहुंची और घायल कर्मचारी को जिला असपताल ले गए और वहां भर्ती कर दिया, तब वह बेहोशी के हालत में थे। देर रात ढाई बजे उपचार के दौरान उनका निधन हो गया। सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और शव कब्जे में ले लिया। गुरुवार की सुबह सूचना के बाद मृतक के पिता भी पिथौरागढ़ से जिला अस्पताल पहुंच गए। इसके बाद पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सौंप दिया। मृतक के तीन बच्चे हैं। मामले की जांच कर रही एसआई निशा पांडे ने बताया कि इस मामले में किसी ने भी कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं की है। अलवत्ता पुलिस जांच में जुट गई है। पीएम रिपोर्ट के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी। घटना के बाद पत्नी राधा और तीन बच्चों का रोरोकर बुरा हाल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!