खोह नदी में अनियमित खनन से बना पुल को खतरा

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। काशीरामपुर तल्ला के लोगों ने खोह नदी में रात के समय चैनलाजेशन कार्य होने पर नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा कि रात के समय नदी में चैनलाइजेशन का कार्य होने और डंपरों की आवाजाही से भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। नदी किनारे रहने वाले लोग रात के समय सो भी नहीं पा रहे है। उन्होंने कहा कि नदी में अनियमित खनन होने से जहां पुल को खतरा बना हुआ है, वहीं क्षेत्र में बरसात के समय बाढ़ आने की आशंका बनी हुई है। उन्होंने स्थानीय प्रशासन से रात के समय चैनलाइजेशन कार्य करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।
नगर निगम के पार्षद सूरज प्रसाद कांति ने कहा कि सनेह क्षेत्र के गुलर पुल के समीप खोह नदी में पोकलैण्ड मशीन से चैनलाइजेशन कार्य किया जा रहा है। गुलर पुल से 40 मीटर दूरी पर मशीन से खोदा जा रहा है और नदी के तटबंद को खोदकर चौड़ा किया जा रहा है। जबकि नियमानुसार पुल से 200 मीटर की दूरी तक खनन नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि नदी में मशीनों से चैनलाइजेशन कार्य की वीडियो बनाकर उपजिलाधिकारी कोटद्वार, नायाब तहसीलदार कोटद्वार को मंगलवार रात को लगभग साढ़े 11 बजे भेज दी गई थी, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हो पाई है। जिस कारण स्थानीय लोगों में आक्रोश व्याप्त है। पार्षद सूरज प्रसाद कांति, राजा आर्य, संजीव गौड़, अमित राज सिंह, वीरेन्द्र शर्मा, दीपक रावत ने उपजिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपकर खोह नदी का स्थलीय निरीक्षण करने, रात्रि 8 से सुबह 6 बजे तक दो पुलिस कर्मियों की डयूटी लगाने की मांग की है। उन्होंने मांग पर कार्रवाई न होने पर गुरूवार से धरना प्रदर्शन की चेतावनी दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!