कोटद्वार के सिगड्डी में खनन के ओवर लोडेड डंपरों को रोका, प्रशासन ने किये सीज

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। भाबर के सिगड्डी क्षेत्र के जयदेवपुर में स्थानीय लोगों ने खनन कारोबारियों पर मनमानी का आरोप लगाते हुए ओवर डंपरों को रोककर जाम लगा दिया। लोगों का कहना है कि ओवरलोड डंपरों की आवाजाही के कारण उन्हें भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सूचना मिलते ही आनन-फानन में प्रशासन और पुलिस की टीम मौके पर पहुुंची और प्रभारी तहसीलदार ने डंपरों को सीज किया।
शनिवार को सिगड्डी क्षेत्र के जयदेवपुर में दोपहर करीब एक बजे स्थानीय लोगों ने मुख्य मार्ग पर ओवर लोडेड डंपरों का रोककर जाम लगा दिया। देखते ही देखते मौके पर लोगों की भीड़ जमा हो गई। लोगों ने खनन कारोबारियों पर नियमों को ताक पर रखकर मनमानी करने का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा काटा। सूचना मिलते ही प्रभारी तहसीलदार विकास अवस्थी, नायब तहसीलदार आरपी पंत और कलालघाटी पुलिस चौकी प्रभारी संदीप शर्मा टीम के साथ मौके पर पहुंचे। स्थानीय लोगों ने प्रशासन के अधिकारियों से डंपरों में भरी खनन सामग्री की जांच करने की मांग की। जांच करने पर मानकों के विपरीत उपखनिज पाये जाने पर दो डंपरों को प्रशासन द्वारा सीज कर दिया गया। लोगों ने पुलिस और प्रशासन की टीम को बताया कि ओवर लोडेड डंपरों की आवाजाही के कारण जहां सड़क और पेयजल लाइन क्षतिग्रस्त हो रही है, वहीं दुर्घटना का भी खतरा बना रहता है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि पिछले काफी समय से शासन-प्रशासन से शिकायत कर रहे है, लेकिन कोई सुध लेने को तैयार नहीं है। उन्होंने पुलिस और प्रशासन से डंपर चालकों की मनमानी पर रोक लगाने की मांग की।

कोटद्वार प्रशासन सनेह के अवैध भण्डारण पर वेबस, रात में हो रहा है ट्रैक्टर ट्रालियों से भण्डारण
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। मानकों के विरूद्ध उपखनिज के भण्डारण की स्वीकृति के बाद कोटद्वार तहसील में चर्चा में आये सनेह के भण्डारण पर प्रशासन द्वारा जांच कराने के बावजूद उसकी स्वीकृति रद्द करने के बजाय उसे बेखौफ भण्डारण करने की खुली छूट दी जा रही है। यह आरोप ग्रामीणों द्वारा लगाते हुए कहा गया कि इस भण्डारण में नियम विरूद्ध रात्रि में ट्रैक्टर ट्राली और डंपरों द्वारा भंडारण किया जा रहा है। रात्रि में भारी वाहनों की आवाजाही से स्थानीय लोगों का रात का चैन खत्म हो गया है।
कोटद्वार नगर निगम क्षेत्र के अन्तर्गत वार्ड नंबर 3 के सनेह मल्ली में रात के समय अवैध भण्डारण कर रहे ट्रैक्टर ट्रालियों पर रोक लगाने की मांग स्थानीय लोगों ने की है। लोगों का कहना है कि खनन कारोबारियों ने ग्रामीणों के विरोध के बावजूद भंडारण शुरू कर दिया है।
उपजिलाधिकारी योगेश मेहरा को सौंपे ज्ञापन में ग्रामीणों ने बताया किखनन भंडारण में यूपी क्षेत्र के अंतर्गत नदियों से रात के 2 बजे के बाद ट्रैक्टरों का तांता लगना शुरू हो जाता है। जिसके चलते ग्रामीणों को भारी परेशानी होती है। टै्रक्टर ट्रालियों के शोर के कारण बच्चे सो नहीं कर पा रहे हैं। ट्रैक्टरों और डंपरों की आवाज से ग्रामीण काफी परेशान हैं। उन्होंने कहा कि आजकल धान की रोपाई चल रही है, काश्तकार दिन भर खेतों में मेहनत कर रात को चैन की नींद सोना चाहता है, लेकिन रात के समय अवैध भंडारण कर रहे ट्रैक्टर और डंपर की आवाजाही से ग्रामीणों की नींद में खलल भी पड़ रही है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र की सड़कें डंपर और ट्रैक्टर के योग्य नहीं है। डंपर और ट्रैक्टर चलने से ग्रामीण सड़कों को भी भारी क्षति पहुंचनी शुरू हो गई है। ग्रामीणों का कहना है कि अगर भंडारण बंद नहीं किया गया तो उन्हें उग्र आंदोलन करने पर विवश होना पड़ेगा। ज्ञापन देने वालों में पूर्व बीडीसी सदस्य बृजेन्द्र सिंह नेगी, जितेन्द्र सिंह, लक्ष्मण सिंह, वीरेन्द्र सिंह, जगमोहन, हेमा देवी, रेनू देवी, गोपाल दत्त जखमोला, इन्द्रमोहन जखमोला आदि शामिल थे।
बताया गया कि सनेह क्षेत्र में प्रशासन द्वारा उपखनिज के भण्डारण की स्वीकृति शासन द्वारा जारी मानकों के खिलाफ दिये जाने का आरोप स्थानीय जनता ने लगाया था। जिस पर प्रशासन व खनिज विभाग द्वारा जांच किये जाने पर इस भंडारण को मानकों के विपरीत पाया गया। बावजूद इसके इस भंडारण की स्वीकृति को रद्द करने इसमें सूर्योदय से सूर्यास्त तक के विपरीत रात्रि में भण्डारण किये जाने की सूचना ग्रामीणों ने उपजिलाधिकारी कोटद्वार को दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!