स्वच्छता सर्वेक्षण को कोटद्वार नगर निगम ने शुरू की तैयारी

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार।
स्वच्छता सर्वेक्षण-2021 को लेकर नगर निगम ने कमर कसीं है। स्वच्छता सर्वेक्षण में इस बार जनता का अहम रोल है। इसलिए शहरवासियों को जागरूक करने के लिए व्यापक प्रचार-प्रसार की योजना बनाई गई है।
शहर के चौराहों, मुख्य सड़कों, बस व रेलवे स्टेशन आदि जगहों पर स्वच्छता जागरूकता के लिए होर्डिंग, पम्पलेट लगाने की तैयारी है। नगर निगम की सीमा शुरू होने वाले प्रमुख मार्गों में होर्डिंग लगाए जाएंगे।
इस बार सर्वेक्षण में कुछ बदलाव के साथ नयापन होगा। हालांकि स्वच्छता की परीक्षा के लिए सर्वेक्षण हर बार की तरह 6000 अंक का ही होगा। पिछली बार की तरह इस बार भी जनता के हाथ में अंक देने की चाबी होगी। इसके तहत शहर की सफाई व्यवस्था से लेकर नगर निगम द्वारा किए जा रहे कार्यों तक के बारे में बताने के साथ नंबर देने का मौका होगा। नगर निगम ने स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 की तैयारियां शुरू कर दी है। सर्वे में इस बार सबसे ज्यादा अंक नगर के लोगों के फीडबैक पर हैं, यानि नगर के लोग खुश तो ही नंबर एक रह पाएंगे। प्रतियोगिता में बेहतर प्रदर्शन करने को लेकर नगर निगम ब्रांड अम्बेडसर नियुक्त करेगा। निगम का विशेष जोर शौचालयों व वार्डों की सफाई के साथ डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन पर है।
नगर आयुक्त पीएल शाह ने बताया कि शहर का प्रदर्शन पिछली बार से बेहतर हो, इसके प्रयास किए जा रहे हैं। नागरिकों के सहयोग से शहर बेहर प्रदर्शन कर सकता है। सफाई व्यवस्था पर जोर देते हुए बताया कि शौचालयों की रोजाना नियमित रूप से दिन में दो बार सफाई कराई जाएं। स्वच्छता सर्वेक्षण राष्ट्रीय स्तरीय प्रतियोगिता है। जोनल के बाद राष्ट्रीय स्तर पर प्रतियोगिता होती है। उन्होंने बताया कि प्रतियोगिता की तैयारी शुरू कर दी है। सार्वजनिक स्थलों सहित मुख्य चौक-चौराहों पर जागरूकता के लिए होर्डिग्स लगाये जा रहे है। प्रथम चरण में 100 होर्डिग्स लगाये जा रहे है। इसके अलावा जागरूकता के लिए जगह-जगह पम्पलेट लगाने के साथ ही लोगों को बांटे जायेगें। स्वच्छता कों लेकर लोगों को जागरूक करने के लिए नुक्कड़ नाटक भी कराये जायेगें। नगर आयुक्त ने बताया कि स्वच्छता सर्वेक्षण-2021 की तैयारी शुरू हो गई है। 2020 में जो कमियां रहीं, उससे सबक लेकर समस्याओं का निराकरण किया जाएगा। वार्डों में रोज डोर-टू-डोर सफाई हो रही है। घर-घर से गीला-सूखा कचरा हर हाल में अलग लेंगे।

पिछली बार से ज्यादा मेहनत करनी पड़ेगी
स्वच्छता मिशन को लेकर पहले ही काफी कर चुके है। सभी वार्डों में घर-घर कचरा संग्रहण कार्य जारी है। गीला–सूखा कचरा अलग-अलग लेने पर ज्यादा जोर रहेगा। पिछली बार की तुलना में इस बार काफी मेहनत करनी होगी। पिछले वर्ष की स्वच्छता सर्वेक्षण प्रतियोगिता में नगर निगम का प्रदर्शन बेहतर नहीं रहा था।

दो श्रेणी में बंटेगा कूड़ा
नगर निगम प्रशासन शहरवासियों से कचरे को अलग-अलग देने की अपील कर रहा है। गीला और सूखा कचरा अलग-अलग देना होगा। परिसंकटमय कूड़ा यानी जिससे चोटिल होने का खतरा हो उसे अलग देने की अपील की है। पुराने सीएफएल, एलइडी, नुकीली वस्तुएं टार्च बैटरी आदि परिसंकटमय कूड़े की श्रेणी में आते हैं।

जनता का फीडबैक होगा अहम
स्वच्छ सर्वेक्षण कोे पब्लिक फीडबैक से जोड़ा गया है। यानी सर्वे के लिए आने वाली टीमें आम लोगों से चर्चा कर उनके फीडबैक के आधार पर शहर की सफाई का आकलन करेंगी। पूछा जाएगा कि शहर धूल और कचरा मुक्त है या नहीं। शहर में डस्टबिन के इंतजाम, सार्वजनिक शौचालय की उपलब्धता व उनकी स्वच्छता देखी जाएगी। नई गाइडलाइन के तहत स्वच्छ सर्वेक्षण को अधिक पारदर्शी बनाने का प्रयास किया गया है।

साफ-सफाई को लेकर नगर निगम को ये सेवाएं करनी होंगी बेहतर
नगर निगम के 40 वार्डों में डोर-टू-डोर कूड़ाकलेक्शन कमजोर है। घरों से गीला-सूखा कचरा अलग नहीं मिल रहा। निगम के पास करीब दो सौ कर्मी व दो दर्जन से अधिक वाहन है। निगम के लिए सबसे बड़ी समस्या कूड़ा का निस्तारण है। नगर निगम के चालीस वार्डों से प्रतिदिन 65 से 70 टन कूड़ा गाड़ीघाट में खोहनदी के किनारे एकत्रित किया जाता है, लेकिन पूर्व में कूड़ा निस्तारण के लिए ठोस व्यवस्था न होने से वहां कूड़े का ढेर लगाया गया है। हालांकि निगम की ओर से कूड़ा निस्तारण के लिए मशीनें लगाई गई है। लेकिन इन मशीनों से कूड़े की छटांई में काफी समय लग सकता है। निगम द्वारा बड़े नालों की सफाई हर साल कराई जाती है, लेकिन शहर में 70 प्रतिशत नालियों की सफाई नहीं हो रही है। वार्डों की सड़कों पर नाली का पानी बह रहा है। जगह-जगह कचरे के ढेर हैं।

गंदगी से अटे सार्वजनिक शौचालय
शहर के अंदर बने सार्वजनिक शौचालय खराब या फिर गंदगी से अटे हैं। टीम यदि लोगों से फीडबैक लेती है तो रैंकिंग खराब हो सकती है। स्वच्छता सर्वेक्षण-2021 में पिछड़ सकते हैं। नगर आयुक्त पीएल शाह ने बताया कि सार्वजनिक शौचालयों में जल्द ही पानी के कनेक्शन लगाये जायेगें। अधिनस्थों को प्रतिदिन शौचालयों की सफाई कराने के निर्देश दिये गये है। निगम क्षेत्र में करीब 100 सार्वजनिक शौचालय बनाने के लिए शासन को प्रस्ताव भेजा जायेगा। नगर निगम के नगर आयुक्त पीएल शाह ने बताया कि सार्वजनिक शौचालयों की सफाई पर विशेष ध्यान दिया जायेगा। शौचालयों की नियमित सफाई के लिए कर्मचारियों को निर्देश दिये गये है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!