कोतवाल कोटद्वार समेत पुलिस टीम को मिला उत्कृष्ट सेवा पदक

Spread the love

कोतवाल नरेंद्र बिष्ट, उपनिरीक्षक सुनील पंवार, कांस्टेबल सुनीत कुमार और कुलदीप सिंह को मिला पदक
डकैती का सफल अनावारण करने को पुलिस मुख्यालय में डीजीपी ने गणतंत्र दिवस पर दिया पुलिस टीम को पदक
कोटद्वार। पिछले वर्ष के 25 दिसंबर को सिताबपुर तल्ला में हुई लाखों रूपये की डकैती का मात्र एक सप्ताह के अंतराल में सफल अनावरण करने पर कोटद्वार की पुलिस टीम को उत्कृष्ट सेवा पदक के सम्मान सम्मानित किया गया। यह सम्मान पुलिस टीम को पुलिस मुख्यालय में पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने गणतंत्र दिवस के अवसर पर दिया।


गणतंत्र दिवस के अवसर पर पुलिस मुख्यालय में आयोजित सम्मान समारोह में कोटद्वार के सिताबपुर तल्ला में हुई लाखों रूपये की डकैती का मात्र एक सप्ताह में सफल अनावरण समेत अन्य उत्कृष्ट कार्यों के लिए कोटद्वार की पुलिस टीम को उत्कृष्ट सेवा पदक दिया गया। जिसमें कोतवाली प्रभारी निरीक्षक नरेंद्र बिष्ट, सीआईयू प्रभारी रफत अली, उपनिरीक्षक सुनील पंवार, कांस्टेबल सुनीत कुमार और कुलदीप सिंह को यह सम्मान उत्कृष्ट कार्यों के लिए दिया गया। गौरतलब है कि कोटद्वार के सिताबपुर तल्ला निवासी प्रमोद कुमार प्रजापति के घर पर 25 दिसंबर की सुबह तड़के बदमाशों ने लाखों की डकैती की घटना को अंजाम देकर पुलिस को हैरान कर दिया था। सूचना मिलते ही अपर पुलिस अधीक्षक कोटद्वार प्रदीप राय, पुलिस क्षेत्राधिकारी अनिल जोशी, कोतवाली प्रभारी निरीक्षक नरेंद्र बिष्ट, सीआईयू टीम और एफएसएल की टीम घटनास्थल पर पहुंची। घटनास्थल का मुआयना कर पुलिस प्रमुख पौड़ी पी रेणुका देवी के दिशा-निर्देशन पर पुलिस टीमें गठित की गई। जिसके बाद पुलिस टीमों ने घटना के अनावरण की लिए अलग-अलग स्थानों पर दबिश देनी शुरू कर दिया। डकैती के एक सप्ताह के अंतराल में ही पुलिस ने मुजफ्फरनगर से बदमाशों की धरपकड़ शुरू कर दी। 4 जनवरी को कोतवाली में पुलिस प्रमुख पौड़ी पी रेणुका देवी ने घटना का खुलासा किया। पुलिस ने 3 जनवरी को पांच लोगों को मुजफ्फरनगर उत्तर प्रदेश से गिरफ्तार किया था। इन पांच बदमाशों से पुलिस ने 2 लाख 60 हजार रूपये की नकदी एवं लगभग 4 लाख रूपये की ज्वैलरी बरामद की थी। इसके बाद 12 जनवरी को डकैती के मास्टर माइंड को पुलिस ने गिरफ्तार किया। मुजफ्फरनगर पिन्ना निवासी मास्टर माइंड प्रवीण प्रजापति से पुलिस ने 20 हजार रूपये की नकदी बरामद की थी। इसके बाद पुलिस रिमांड पर मुजफ्फरनगर कारागार से बिरालसी मुजफ्फरनगर उत्तर प्रदेश निवासी अंकित पुंडीर को लाई। जिसके बाद अंकित पुंडीर की निशानदेही पर 19 जनवरी को पुलिस टीम ने तीन लाख छियासठ हजार रूपये की नकदी, 2 जोड़ी झुमके, 2 अंगूठी, 1 हार पीली धातु और 1 जोड़ी पाजेब सफेद धातु की बरामद की। जिसके चलते यह सम्मान पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार की ओर से पुलिस टीम को दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!