साकेत कोर्ट में वकीलों ने आफताब के खिलाफ की नारेबाजी

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

नई दिल्ली, एजेंसी। बहुचर्चित श्रद्घा वालकर हत्याकांड के मुख्य आरोपी आफताब अमीन पूनावाला की गुरुवार को दक्षिण दिल्ली के साकेत कोर्ट में पेशी हुई। पुलिस ने आरोपी के रिमांड की मांग को लेकर कोर्ट से अर्जी दाखिल की थी। कोर्ट ने पांच दिनों के लिए आफताब की कस्टडी बढ़ा दी है। वहीं पेश के दौरान कोर्ट के बाहर वकीलों ने जमकर हंगामा किया। वकीलों को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को भारी मशक्कत करनी पड़ी। वकीलों की मांग थी कि आफताब को मौत की सजा दी जाए। वकीलों ने जमकर आरोपी के लिए फांसी की मांग को लेकर नारेबाजी की।
बता दें कि आफताब पूनावाला पर आरोप है कि उसने अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्घा वालकर की गला घोंटकर हत्या कर दी और फिर उसके शव के 35 टुकड़े कर डाले। फिर उसने इन शवों को महरौली के जंगल में ठिकाने लगा दिए। पुलिस जांच में सामने आया है कि दोनों के बीच इसी साल 18 मई को शादी के मुद्दे पर झगड़ा हुआ, इस दौरान आफताब ने श्रद्घा की हत्या कर दी।
मुंबई की युवती श्रद्घा वाकर की हत्या के मामले में दिल्ली पुलिस की जांच में एक और सनसनीखेज खुलासा हुआ है। दिल्ली पुलिस की जाचं में छतरपुर के जिस फ्लैट में आरोपी आफताब अमीन पूनावाला ने श्रद्घा का कत्ल किया, उस फ्लैट का पानी का बिल भी जांच में अहम सबूत बनेगा। सूत्रों के अनुसार हत्या के बाद आफताब ने खून के धब्बों को साफ करने के लिए बहुत सारे पानी का इस्तेमाल किया, जिसके कारण पानी का बिल ज्यादा आया और बिल लंबित हो गया। पुलिस को जानकारी मिली है कि आफताब और श्रद्घा पर 300 रुपये का पानी का बिल बकाया है। पड़ोसियों ने पुलिस को बताया कि आफताब नियमित रूप से बिल्डिंग की पानी की टंकी की जांच करने जाता था।
श्रद्घा हत्याकांड के आरोपी आफताब ने एक और नया खुलासा किया है। आरोपी आफताब श्रद्घा से पीछा टुड़ाना चाहता था। श्रद्घा और आफताब के बीच आए दिन छोटी-छोटी बातों पर झगड़ा होता था। दिल्ली में भी झगड़ा होता था। झगड़ा होना मुंबई में शुरू हो गया था। आरोपी ने पूछताछ में खुलासा किया है कि वह हर रोज के झगड़े से परेशान हो गया था। इसी वजह से वह श्रद्घा से पीछा टुड़ाना चाहता था।
दिल्ली पुलिस सूत्र का कहना है कि श्रद्घा हत्याकांड में आरोपी आफताब ने पुलिस के सामने कबूल किया कि पहचान छिपाने के लिए उसने श्रद्घा के शव के टुकड़े करने के बाद उसका चेहरा जला दिया था। उसने यह भी कबूल किया कि उसने हत्या के बाद शव को ठिकाने लगाने के तरीके इंटरनेट पर सर्च किए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!