बिना जांच के ही काटा जा रहा मांस, लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

-जिम्मेदार अधिकारी भी नहीं करते गंभीरता से कार्रवाई, खुलेआम उड़ाई जा रही नियमों की धज्जियां
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार : नगर निगम कोटद्वार में नियम तो बनते हैं, लेकिन यहां कोई भी इन नियमों का पालन नहीं करता है। जिसका नतीजा है कि पूरे क्षेत्र में अव्यवस्था का माहौल बना हुआ है। जिससे नगर निगम प्रशासन का मजाक तो बन ही रहा है, साथ ही लोगों पर भी इसका विपरीत प्रभाव पड़ रहा है। यहां बात हो रही है खुलेआम नियमों का उल्लंघन कर मांस बेचने वालों की। नगर निगम क्षेत्र में अधिकांश मांस विक्रेताओं की दुकानों पर नियमों का पालन नहीं किया जाता है, जिससे लोगों के स्वास्थ्य पर भी बुरा असर पड़ता है। हालांकि, इन सब पर नजर रखने के लिए एक पूरी टीम बनाई गई है, लेकिन वह टीम भी अधिकांश गायब ही नजर आती है।
दरअसल, मुर्गे या बकरे को काटने से पहले पशु चिकित्सक द्वारा उसके स्वास्थ्य की जांच की जाती है। यदि वह किसी बीमारी से पीड़ित हैं तो उन्हें काटने से मना कर दिया जाता है। मांस विक्रेताओं के लिए नियम है कि उन्हें हर रोज नगर निगम के स्लाटर हाउस में ही जांच के बाद मांस को काटना होगा। जांच के बाद नगर निगम प्रशासन की टीम मांस पर मुहर भी लगा देती है। जिससे यह पता चल सके कि इस मांस के गुणवत्ता की जांच हो चुकी है। जिससे लोगों को ताजा मांस तो मिलता ही है, साथ ही यह उनके स्वास्थ्य के लिए भी हानिकारक नहीं रहता है। हालांकि, आमतौर पर हम इन नियमों का कम ही पालन होता हुआ देखते हैं। अधिकांश मांस विक्रेता अपनी दुकान पर ही मांस को काटते हैं और बिना किसी जांच के ग्राहकों को बेच देते हैं। ऐसे में उस मांस की गुणवत्ता कैसी थी, यह तो व्यक्ति के बीमार पड़ने के बाद ही पता चल पाती है।

नियमों का पालन न करने पर 10 मांस विक्रेताओं के खिलाफ एडीएम कोर्ट में वाद दायर
पिछले दिनों जरूर खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम सक्रिय हुई थी और नगर निगम प्रशासन के साथ क्षेत्र में चेकिंग अभियान चलाया था। जिसमें अधिकांश मांस विक्रेताओं के यहां नियमों का उल्लंघन होता हुआ पाया गया। टीम ने नगर से लेकर भाबर तक कई मांस विक्रेताओं की दुकानों पर छापेमारी की। जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी अजब सिंह रावत ने बताया कि अंतिम जांच रिपोर्ट के बाद 10 मांस विक्रेताओं के खिलाफ एडीएम कोर्ट में वाद दायर किया गया है। उन्होंने कहा कि मांस विक्रेताओं को स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं कि वह स्लाटर हाउस में ही मांस कटवाएंगे, लेकिन कुछ मांस विक्रेता नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं। कहा कि आगे भी छापेमारी जारी रहेगी और जो भी नियमों का उल्लंघन करता हुआ पाया जाएगा, उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!