ऑनलाइन ठगी के तीन पीड़ितों के खाते में वापस कराई रकम

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार : ऑनलाइन ठगी की अलग-अलग घटनाओं में त्वरित कार्रवाई करते हुए साइबर सेल व पुलिस टीम ने पीड़ितों के खाते में रकम वापस लौटाई है। साथ ही आमजन से अपील की है कि किसी भी अनजान कॉल या मैसेज के झांसे में आकर अपने बैंक खाते से संबंधित जानकारी साझा न करें।
जनपद पुलिस के मीडिया प्रभारी मुकेश गैरोला ने बताया कि बीती 20 मार्च को राजेंद्र बिष्ट निवासी गंदरियाल खाल, लोकमणिपुर कोटद्वार ने कोतवाली में शिकायत दर्ज कराई थी। जिसमें पीड़ित ने बताया था कि किसी अज्ञात व्यक्ति ने फोन किया और उन्हें अपना रिश्तेदार बताया। आरोपी ने राजेंद्र बिष्ट को झांसे में लेकर उनसे 10 हजार रुपये की ऑनलाइन ठगी कर ली। राजेंद्र की शिकायत पर साइबर सेल ने त्वरित कार्रवाई करते हुए जांच शुरू की। पता चला कि उनकी रकम टेलेंटक्रू टेक्नोलोजी प्राइवेट लिमिटेड के गेमिंग प्लेटफार्म में जमा हुई है। टीम ने कंपनी से पत्राचार कर उक्त रकम को पीड़ित के खाते में वापस कराया। उधर, दूसरे मामले में बीती 21 जनवरी को सचिन नेगी निवासी- ग्राम कुम्भीचौड़, कोटद्वार पौड़ी गढ़वाल ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उन्होंने गलती से गूगल पे के माध्यम से 20 हजार रुपये किसी दूसरे व्यक्ति के खाते में ट्रांसफर कर दिए हैं। जांच में पता चला कि उक्त रकम इंडसइंड बैंक में जमा हुई है। पुलिस ने बैंक के नोडल अधिकारी से बात कर उक्त रकम पीड़ित के खाते में वापस कराई। तीसरे मामले में 30 मार्च 2022 को साक्षी भट्ट, निवासी- सनदाल, कान्डाखाल, तहसील कोटद्वार ने पुलिस के पास शिकायत दर्ज कराई कि किसी अज्ञात व्यक्ति ने गूगल पे के माध्यम से उनके साथ नौ हजार रुपये की ठगी की है। जांच में पता चला कि उक्त रकम कैशफ्री के माध्यम से बैटबॉल 11 में जमा हुई थी। पुलिस ने कैशफ्री के नोडल अधिकारी से बात कर ठगी गई रकम में से 3 हजार चार सौ रुपये पीड़िता के खाते में वापस करा दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!