नक्सलियों ने जवानों से भरी बस को आइइडी ब्लास्ट से उड़ाया, हमले में पांच जवान शहीद और कई घायल

Spread the love

नारायणपुर, एजेंसी। सरकार से शांति वार्ता की पेशकश के बाद छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले में नक्सलियों ने गश्त से लौट रहे डीआरजी जवानों की बस को आइइडी ब्लास्ट से उड़ा दिया। बस में 25 जवान सवार थे। इस हमले में ड्राइवर समेत पांच जवान शहीद हो गए हैं, जबकि सात जवान गंभीर रूप से घायल हैं। गंभीर रूप से घायल जवानों को वायुसेना के हेलीकाप्टर से उपचार के लिए रायपुर भेजा गया है। सामान्य रूप से घायल 13 जवानों का उपचार नारायणपुर जिला अस्पताल में किया जा रहा है।
बस्तर आइजी सुंदरराज पी ने बताया कि यह वारदात नारायणपुर से करीब 55 किमी दूर स्थित धुर नक्सल प्रभावित धौड़ाई थाना क्षेत्र के कन्हारगांव व कड़ेनार के बीच हुई है। दंतेवाड़ा को नारायणपुर से जोड़ने वाली बारसूर पल्ली सड़क को फोर्स दो दशक के बाद नक्सली चुंगल से टुड़ाकर इसका निर्माण करा रही है। नारायणपुर-ओरछा मुख्य मार्ग पर धौड़ाई थाना है। इससे पूर्व की ओर अंदर जंगल में 60 किमी सड़क बनाने के लिए कड़ेनार, कन्हारगांव, कोडोली आदि जगहों पर फोर्स के र्केप लगाए गए हैं। कड़ेनार में आइटीबीपी (इंडो तिब्बत सीमा पुलिस) की तैनाती है। यह र्केप तब चर्चा में आया था जब एक जवान ने अपने साथी चार जवानों पर फायोरग कर दी थी।
आइजी सुंदरराज ने बताया कि 22 मार्च को दंतेवाड़ा के बोदली र्केप और नारायणपुर के कड़ेमेटा व नारायणपुर र्केप से दो दिवसीय संयुक्त गश्त के लिए फोर्स रवाना की गई थी। करीब सवा तीन बजे फोर्स वापस कड़ेमेटा पहुंची। इसके बाद नारायणपुर से आया डीआरजी का दल बस में वापसी के लिए मंगलवार को रवाना हुआ। करीब सवा चार बजे कड़ेनार और कन्हारगांव के बीच कड़ेनार से करीब तीन किमी की दूरी पर मरोड़ा गांव के समीप घने जंगल में एक पुलिया के पास नक्सलियों ने बस को आइइडी ब्लास्ट कर उड़ा दिया। ब्लास्ट के बाद बस पुलिया से नीचे गिर गई। इससे पुलिया भी क्षतिग्रस्त हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!