परिवहन महासंघ के प्रतिनिधिमंडल ने पीसीसी अध्यक्ष से की मुलाकात

Spread the love

संवाददाता, देहरादून। उत्तराखण्ड प्रदेश परिवहन महासंघ के प्रतिनिधिमंडल ने संघ के अध्यक्ष सुधीर राय के नेतृव में उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष प्रीतम सिंह से मुलाकात कर महासंघ की विभिन्न समस्याओं से सम्बन्धित मांग पत्र प्रेषित करते हुए इन समस्याओं के समाधान का अनुरोध किया। प्रीतम सिह को सौंपे ज्ञापन में उत्तराखण्ड परिवहन महासंघ के पदाधिकारियों ने कहा कि वर्तमान परिवहन व्यवसाय से जुडे लोगों की आर्थिक स्थिति माह अप्रैल, मई, जून तीन महीनों की आय पर निर्भर करती है। इन्हीं तीन माह में परिवहन से जुडे व्यापारी सालभर की आजीविका कमाता है। परन्तु वर्तमान में वैश्विक महामारी कोरोना के चलते लगाये गये लॉक डाउन के कारण माह मार्च से इस व्यवसाय से जुडे लोग बेरोजगारी की कगार पर हैं तथा उनके सामने परिवार के भरण-पोषण का संकट खड़ा हो गया है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार वर्ष 2013 में आई दैवीय आपदा के चलते तत्कालीन कांग्रेस सरकार द्वारा 2 वर्ष का टैक्स मॉफ किया गया तथा आपदा में फंसे वाहनों को 25000 रूपये तथा चलक, परिचालकों को 5000-5000 रूपये दिये गये थे, इसी प्रकार वर्तमान स्थिति को देखते हुए कम से कम 2 वर्ष के लिए व्यावसायिक वाहनों का टैक्स मॉफ किया जाय। लॉक डाउन के कारण वाहनों का संचालन नहीं हो पाया है ऐसी स्थिति में उतनी अवधि के लिए वाहनों के बीमे की सीमा बढ़ाया जाना चाहिए।परिवहन महासंघ के पदाधिकारियों ने यह भी कहा कि वाहनों का संचालन न होने के कारण सभी वाहन चालक बेरोजगार हो चुके हैं तथा उन्हें परिवार का भरण-पोशण करने में भी कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। इस हेतु सभी वाहन चालकों को सरकार की ओर से कम से कम 10000 से 15000 तक आर्थिक सहायता दी जाय। उन्होंने कहा कि लॉक डाउन के चलते यात्री वाहनों के लिए जारी की गई गाईड लाईन (एसओपी) के नियमों में ढील देते हुए वाहनों में यात्रियों की क्षमता बढाई जाय या किराया बढ़ाने की अनुमति दी जाय अथवा सब्सिडी सरकार द्वारा वहन की जाय। इस प्रकार विक्रम टैम्पों में 4 ़ 1 तथा ऑटो में 2 ़ 1 सवारी क्षमता दी जाय उन्होंने यह भी अवगत कराया कि लॉक डाउन में सरकार द्वारा अनुमति प्राप्त वाहनों को पुलिस द्वारा चेकिंग के नाम पर प्रताडित किया जा रहा है। अत: इन वाहनों को सीज व प्रताड़ित न किया जाय। प्रदेष कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने उत्तराखण्ड प्रदेष परिवहन महासंघ के प्रतिनिधमण्डल को आष्वासन दिया कि उनकी जायज मांगों को सरकार के सम्मुख प्रमुखता से उठाते हुए इन मांगों पर निर्णय लेने के लिए दबाव डाला जायेगा। प्रतिनिधिमण्डल में परिवहन महासंघ के अध्यक्ष सुधीर राय, नगर अध्यक्ष एवं विक्रम टैम्पू महासंघ अध्यक्ष विनय सारस्वत, जीप कमाण्डर सोमो एसोसियेशन अध्यक्ष भगवान सिंह राणा, टैक्सी एसोसियेषन के अध्यक्ष विजय पाल सिंह रावत, ऑटो महासंघ के संरक्षक आशुतोश शर्मा, लोकल रोटेशन अध्यक्ष नवीन रमोला, रूपकुण्ड अध्यक्ष बलवीर सिह रौतेला, टैक्सी एसोसियेशन के अध्यक्ष उमेश चैहान, विक्रम यूनियन अध्यक्ष फेरू जगवानी शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!