पौड़ी गढ़वाल में कोविड-19 टेस्ट का बुरा हाल, कोरोना पॉजिटिवों को क्वारंटीन सेंटर से भेजा घर, अब परिवार सहित होगें संस्थागत क्वारंटीन 

Spread the love
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। जनपद पौड़ी गढ़वाल में कोरोना वायरस कोविड-19 की जांच की स्थिति बहुत ही दयनीय दिखाई दे रही है। प्रवास से जनपद में लौटने पर दस दिन तक संस्थागत क्वारंटीन रहने के बाद भी रिर्पोट न पहुंचने पर क्वारंटीन सेंटर से घर भेजे गये जनपद के दो लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिससे पौड़ी गढ़वाल स्वास्थ्य महकमें में हड़कंप मचा हुआ है। इस मामले में जिले में स्थापित कंट्रोल रूम से यह जानकारी दी गई, लेकिन देर सांय तक जनपद का मुख्य चिकित्साधिकारी इस मामले में अनविज्ञता जाहिर करते रहे कि उनके जनपद में आज मंगलवार को किसी की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। दैनिक जयन्त संवाददाता द्वारा जब मुख्य चिकित्सा अधिकारी को आज जारी हेल्थ बुलेटिन व्हटसअप के माध्यम से भेजा गया तो उन्होंने कबूल किया कि ऐसा हुआ है।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. मनोज बहुखण्डी ने बताया कि संस्थागत क्वारंटीन सेंटर से गत 6 जून को घर भेजे गये जनपद के विकासखंड पोखड़ा एवं पाबौ के दो लोगों की रिर्पोट आज मंगलवार को कोरोना पॉजिटिव आई है। जिन्हें अब परिवार सहित संस्थागत क्वारंटीन किया जा रहा है।
जनपद पौड़ी गढ़वाल के स्वास्थ्य महकमें में इस मामले को लेकर हड़कंप इसलिए मचा है कि दस दिन तक संस्थागत क्वारंटीन रहने के बाद भी समय पर क्वारंटीन लोगों की कोरोना रिपोर्ट नहीं पहुंच पाई। जिसका खामियाजा अब कोरोना पॉजिटिव निकले लोगों के परिवारों को भी भुगतना होगा। साथ ही यह भी संभावना जताई जा रही है कि तीन दिन गांव में रहने के दौरान कोरोना पॉजिटिव पाये गये क्वारंटीन लोगों के सम्पर्क में आये लोगों को भी क्वारंटीन किया जा सकता है।
मंगलवार को जनपद पौड़ी गढ़वाल में चार लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। एसीएमओ डॉ. रमेश कुंवर ने बताया कि थलीसैंण ब्लॉक निवासी 34 और 20 वर्षीय युवक मुम्बई महाराष्ट्र से 28 मई 2020 को लौटे थे। प्रशासन की ओर से इन दोनों को चीला में संस्थागत क्वारंटीन किया गया था। वहीं 27 मई को पाबौ ब्लॉक निवासी 40 वर्षीय और पोखड़ा ब्लॉक निवासी 53 वर्षीय व्यक्ति दिल्ली से लौटे थे। इन्हें भी चीला में संस्थागत क्वारंटीन किया गया था। स्वास्थ्य विभाग की ओर से 1 जून को इनके सैंपल जांच के लिए भेजे गये थे। मंगलवार को इन सभी की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। उन्होंने बताया कि मराष्ट्र से आये युवकों को परमार्थ निकेतन में बनाये गये आइसोलेशन वार्ड में भर्ती करा दिया गया है। जबकि पाबौ और पोखड़ा ब्लॉक के दो लोगों को परिवार समेत संस्थागत क्वारंटीन किया जा रहा है।
गत सोमवार को भी जनपद में पति-पत्नी समेत चार प्रवासियों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई थी। पोखड़ा ब्लॉक निवासी 52 वर्षीय पति, 45 वर्षीय पत्नी 1 जून को गाजियाबाद उत्तर प्रदेश से पौड़ी आये थे। दोनों के शरीर का तापमान अधिक होने से की वजह से उन्हें जिला अस्पताल पौड़ी में भर्ती कराया गया था। वहीं 30 मई को पाबौ ब्लॉक निवासी युवक मुम्बई महाराष्ट्र से पौड़ी पहुंचा और दुगड्डा ब्लॉक निवासी एक युवक ऋषिकेश पहुंचा। पाबौ ब्लॉक के युवक को जिला अस्पताल पौड़ी और दुगड्डा ब्लॉक के युवक को परमार्थ निकेतन ऋषिकेश में भर्ती किया गया। दो जून को उक्त सभी के सैंपल जांच के लिए भेजे गये। गत सोमवार को सभी की कोरोना जांच पॉजिटिव आई है।
5वें दिन हुई सैम्पलिंग तो 9वें दिन आई रिर्पोट
प्रवास से लौटे पौड़ी गढ़वाल के जिन लोगों को विगत 27 मई को चीला संस्थागत क्वारंटीन सेंटर में रखा गया था, उनकी सैम्पलिंग पांच दिन बाद एक जून को की गई और जांच रिपोर्ट आठ बाद मंगलवार को नवें दिन प्राप्त हुई।
परिवार सहित संस्थागत क्वारंटीन करने की मजबूरी
दस दिन के संस्थागत क्वारंटीन रखने के बाद 6 जून को डॉक्टरी परीक्षण के बाद चीला संस्थागत क्वारंटीन सेंटर से प्रवासियों को उनके घरों को भेजा गया था। अब चूंकि 10 दिन के क्वारंटीन समय पूरा करने के बाद जब इनमें से दो लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है तो स्वास्थ्य विभाग इस पर लीपापोती करते हुए कह रहा है कि जिन दो क्वारंटीन की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उनमें कोरोना के कोई लक्षण नहीं दिखाई दिये। इसलिए उन्हें परिवार के साथ संस्थागत क्वारंटीन में रखा जायेगा। कोरोना पॉजिटिव को परिवार सहित क्वारंटीन रखने की मजबूरी स्वास्थ्य महकमें की इसलिए भी बन जाती है कि उसने तीन दिन पहले ही उन्हें लक्षण न दिखाई देने की क्लीन चिट दे दी थी।
क्या कहते है सीएमओ
जनपद पौड़ी गढ़वाल के सीएमओ मनोज बहुखण्डी ने बताया कि पाबौ और पोखड़ा ब्लॉक के व्यक्ति का क्वारंटाइन समय पूरा होने के बाद 6 जून को जांच के बाद उन्हें घर भेज दिया था। उनकी जांच रिपोर्ट देर से आई है। उन्होंने बताया कि दोनों में कोरोना के लक्षण नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!