पिथौरागढ़ के वल्दिया बंधु सेना में अफसर बने

Spread the love

पिथौरागढ़। सीमांत पिथौरागढ़ जिले के महरखोला गांव से दो सगे भाई रोहित और विकास वल्दिया सेना के अफसर बने हैं। रोहित और विकास के पिता रंजीत सिंह सूबेदार पद से रिटायर्ड हैं। सैन्य पृष्ठभूमि वाले परिवार से दो भाइयों के सेना में अफसर बनने से गांव में खुशी का माहौल है। दोनों भाई आईएमए देहरादून से पासिंग आउट हुए हैं। दोनों बचपन से ही भारतीय सेना में जाने का सपना देखते थे।
पिथौरागढ़ के सुमित भी बने लेफ्टिनेंट
पिथौरागढ़ जिला मुख्यालय से सटे बाड़ोली गांव के सुमित भट्ट सेना में अफसर बने हैं। देहरादून आइआइएम से चार साल की ट्रेनिंग करने के बाद शनिवार को पासिंग आउट परेड के बाद लेफ्टिनेंट बन गए। सुमित गांव का पहला सैन्य अधिकारी बना है। सुमित का परिवार वर्तमान में सागर मध्यप्रदेश में रहता है। सुमित ने 12वीं तक की शिक्षा केन्द्रीय विद्यालय सागर से ली। सन 2013 में 18 महार रेजीमेंट में सिपाही के पद पर भर्ती हुए और 2015 में इलाहबाद बोर्ड से कमिशन निकाला। चार साल की ट्रेनिंग की पूरी करने के बाद आज सुमित 24 ब्रिगेडियर आसाम में पोस्टिंग हुई है। सुमित के पिता मनोहर चंद्र भट्ट 23 राजपूत रेजीमेंट से लांसनायक पद से रिटायर हैं। सुमित की माता पुष्पा भट्ट गृहिणी हैं। सुमित का बड़ा भाई रोशन 17 राजपूत रेजीमेंट मे हवलदार और बहन गीता आस्ट्रेलिया मे शिक्षिका हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!