मानव जीवन की रक्षा को कोटद्वार में रोपे पौधे

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

-विभिन्न संगठनों ने धूमधाम से मनाया विश्व पर्यावरण दिवस
-पौधों की सुरक्षा और पर्यावरण की रक्षा का लिया संकल्प
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार : विकास की दौड़ में घायल हो रहे पर्यावरण और मानव जीवन की रक्षा को कोटद्वार में विभिन्न संगठनों ने पौध रोपण किया। इस दौरान लोगों ने रोपे गए पौधों की सुरक्षा और सिर्फ एक दिन नहीं बल्कि हर दिन पर्यावरण की रक्षा का संकल्प लिया। स्कूली बच्चों से लेकर युवा व बुजुर्ग हर कोई पर्यावरण को लेकर चिंतित नजर आया और अन्य लोगों से भी अधिक से अधिक पौधे लगाने की अपील करते दिखे।
राष्ट्रीय सेवा योजना जनपद पौड़ी की पहल पर कोटद्वार नगर क्षेत्र की एनएसएस इकाईयों की ओर से विश्व पर्यावरण दिवस पर जन जागरूकता रैली निकाली गई। साथ ही रोहित अग्रवाल सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज उमराव नगर पदमपुर मोटाढाक में पौधारोपण किया। यहां कार्यक्रम का शुभारंभ एनएसएस के गढ़वाल मंडल समन्वयक पुष्कर सिंह नेगी, जिला समन्वयक पौड़ी पारितोष रावत, रमाकांत कुकरेती, कार्यक्रम अधिकारी गणेश भट्ट आदि ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया। इस अवसर पर स्वयंसेवकों द्वारा दीप मंत्र एवं सरस्वती वंदना कर प्रकृति की खुशहाली की कामना की गई। इस कार्यक्रम में विभिन्न स्कूलों के छात्र-छात्राओं और शिक्षकों ने प्रतिभाग किया। इस दौरान छात्र-छात्राओं ने कई औषधीय पौधों का रोपण किया।


पर्यावरण संतुलन को पौध रोपण जरूरी
विव पर्यावरण दिवस पर राजकीय कन्या इंटर कॉलेज कलालघाटी में एनएसएस स्वयंसेवियों द्वारा विद्यालय में स्वच्छता कार्यक्रम चलाया गया और पौध रोपण भी किया गया। विद्यालय की प्रधानाचार्य पुष्पा धस्माना व शिक्षिकाओं ने अपने घर व गांव में भी पौध रोपण किया। एनएसएस कार्यक्रम अधिकारी डॉ. मंजु कपरवाण ने कहा कि वर्तमान में बिगड़ते पर्यावरण संतुलन को बचाने के लिए पौध रोपण की बहुत आवश्यकता है। इस मौके पर इको क्लब प्रभारी सावित्री रावत, स्वयंसेवी दिशा, अश्विनी, प्राची, प्रियंका, अंजलि आरुषी आदि मौजूद रहे।

जिन ट्रकों में पेड़ों को काटकर ले जाते थे, आज उन्हीं में ऑक्सीजन सिलेंडर ले जाने पड़ रहे
विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर ग्रीन आर्मी की ओर से डिग्री कॉलेज कोटद्वार में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस मौके पर बतौर मुख्य अतिथि गौरी पुस्तकालय की संचालिका मोनिका ने कहा कि कुछ समय पहले जिन ट्रकों में पेड़ों को काटकर ले जाया जाता था, आज उन्हीं ट्रकों में ऑक्सीजन सिलेंडर ले जाने पड़ रहे हैं। यह मनुष्य द्वारा प्रकृति के साथ छेड़छाड़ का ही नतीजा है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में पनप रही हजारों बीमारियों का कारण कहीं न कहीं वनों का कटान ही है। इस दौरान ग्रीन आर्मी ने नए पौधे रोपे और पुराने पौधों की निराई-गुड़ाई की। इस मौके पर ग्रीन आर्मी के कार्यकारी अध्यक्ष आशीष रावत, सचिव संदीप रावत, कार्यक्रम संयोजक शुभम सुयाल, रोहित, रूपेश, पूजा, अंकित, अविनाश, साक्षी, सुशांत, दीपक, ईशा, ज्योति आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!