रुड़की तहसीलदार सुनैना की मौत से गांव स्याल्सू सेमा में मातम पसरा

Spread the love

रुद्रप्रयाग। रुड़की की तहसीलदार और रुद्रप्रयाग जिले की ग्राम पंचायत सेमा भरदार के स्याल्सू निवासी सुनैना राणा की नैनीताल से लौटते हुए बिजनौर के पास नहर में डूबने से हुई मौत पर उनके गांव में भी मातम पसर गया। हर कोई इस काबिल अधिकारी के चले जाने का दुख बयां नहीं कर पा रहे हैं। भले ही सुनैना का गांव वाला मकान अधिकांश बंद रहता है किंतु गांव के कार्य और बड़े आयोजनों में उसके पति और परिवारजन यहां आते रहते हैं।सुनैना की जब से स्याल्सू सेमा के पेशे से शिक्षक राम सिंह के साथ विवाह हुआ। वह कभी गांव में नहीं रही। ग्रामीणों के मुताबिक ससुराल में सभी लोग पहले से ही चढ़ीगढ़ रहते हैं। उनका एक देवर ऋषिकेश में रहता है। गांव का मकान बंद रहता है। जखोली ब्लॉक के सेमा स्ल्यासू में जैसे ही ग्रामीणों को घटना की जानकारी मिली तो, लोग काफी दुखी हैं। सेमा भरदार ग्राम पंचायत की प्रधान शशि नौटियाल ने बताया कि सौम्य सरल और मृदु व्यवहार की सुनैना का पूरी ग्राम पंचायत को दुख है। उन्होंने इसे बड़ी क्षति बताते हुए कहा कि उनके परिवार के लोग जब भी कभी गांव आते तो हर किसी से मिलना जुलना कर ही लौटते। उन्होंने बताया कि ससुराल के सभी लोग शुरू से ही चढ़ीगढ़ ही रहते हैं। गांव के मकान पर ताला लगा है जबकि देखरेख उनकी नजदीकी रिश्तेदार करते हैं। उन्होंने बताया कि दो-चार दिन पहले उनके परिवार के कुछ लोग गांव आए थे। इधर जिला पंचायत अध्यक्ष अमरदेई शाह, जखोली के ब्लॉक प्रमुख प्रदीप थलियाल, सामाजिक कार्यकर्ता रमेश नौटियाल ने भी घटना पर गहरा दुख व्यक्त किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!