समाज के निर्माण में शिक्षक की अहम भूमिका: प्राचार्या

Spread the love

बीएड प्रशिक्षणार्थियों को आर्दश व्यक्तित्व बनने हेतु प्रेरित किया
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार।
डॉ. पीताम्बर दत्त बड़थ्वाल हिमालयन राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय कोटद्वार में संचालित स्व वित्त पोषित बीएड विभाग के तत्वावधान में अभिव्यक्ति-परिचय कार्यक्रम का आयोजित किया गया। मुख्य अतिथि प्राचार्या प्रोफेसर जानकी पंवार ने समस्त विद्यर्थियों को बीएड पाठ्यक्रम में चयनित होने पर शुभकामनाएं दी। उन्होंने शिक्षा के महत्व के बारे में जानकारी दी। प्राचार्या ने प्रशिक्षणार्थियों को एक अच्छा नागरिक व समाज के लिए आदर्श व्यक्तित्व बनने हेतु प्रेरित किया। 
कार्यक्रम में स्व वित्त पोषित बीएड सत्र 2020-2022 के प्रथम वर्ष के समस्त छात्र-अध्यापकों व छात्रा अध्यापिकाओं ने प्राचार्य के समक्ष अपना संक्षिप्त परिचय दिया। इस मौके पर छात्र-छात्राओं ने रंगारंग सांस्कृति कार्यक्रम प्रस्तुत किये। प्राचार्या प्रो. जानकी पंवार ने भविष्य के शिक्षकों को आदर्श शिक्षक के गुण बताए गए। आदर्श शिक्षक में नम्रता और श्रद्धा का भाव होना आवश्यक है। उसे कभी भी क्रोध या घृणा स्वभाव को प्रदर्शित नहीं करना चाहिए। समाज के निर्माण में शिक्षक की एक अहम भूमिका होती है। सभ्य समाज उन्हीं बच्चों से बनता है जिनकी प्राथमिक शिक्षा का जिम्मा एक शिक्षक पर होता है। शिक्षक ही है जो उसे समाज में एक अच्छा नागरिक बनाने के साथ उसका सर्वोत्तम विकास भी करता है। शिक्षा देने के साथ ही वह उसे एक पेशेवर व्यक्ति बनने और एक अच्छा नागरिक बनने के लिए प्रेरित करता है। उन्होंने कहा कि एक आदर्श शिक्षक अच्छे और श्रेष्ठ गुणों से परिपूर्ण होता है। उन्हें अपने समय का सदुपयोग भलीभांति करना आना चाहिए। शिक्षक को समय का पालन करना चाहिए। इस मौके पर स्व वित्त पोषित बीएड के विभागाध्यक्ष डॉ. हरीश प्रजापति, विभाग के प्रवक्ता डॉ. संदीप किमोठी, डॉ. रश्मि बहुखंडी, डॉ. अनिल कुमार मान, डॉ. दयाकिशन जोशी आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!