सरकार की दोहरी नीतियों के खिलाफ कांग्रेस ने किया सत्याग्रह

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राज्य सरकार पर लॉकडाउन के नियमों को लेकर दोहरे मानदंडों को अपनाने का आरोप लगाते हुये सांकेतिक उपवास रखकर सत्याग्रह किया। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार की दोगली नीति जनता के सामने आ गई है।
बदरीनाथ मार्ग स्थित कार्यालय में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सत्याग्रह किया। कार्यकर्ताओं ने कहा कि सरकार कानूनों के पालन करने में दोहरा मापदंड अपरा रही है। सरकार आम नागरिकों पर संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज कररही है, वहीं अपने मंत्रियों पर कार्यवाही करने से बचने का प्रयास कर रही है। जिसे जनता किसी भी रूप में स्वीकार नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि संविधान सभी के लिए समान है, लेकिन भाजपा सरकार लॉकडाउन के उल्लंघन के दोहरे मानदंड अपना रही है। कार्यकर्ताओं ने लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन करने वाले सभी प्रभावशाली लोगों पर नियमों के अनुरूप कार्यवाही करने की मांग की। एनएसयूआई जिला महासचिव सौरव पाण्डे ने कहा कि उत्तराखंड के काबीना मंत्री सतपाल महाराज और उनके परिजनों ने कोरोना से संक्रमित होने के बावजूद उन सभी कानूनों का उल्लंघन किया है, जो इस कोरोना महामारी के संक्रमण काल में अपराध है। इन सभी गलतियों के लिए राज्य सरकार पहले ही रंवाई उत्तरकाशी के प्रवीण जयाडा जैसे साधारण नौजवान पर संगीन धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर चुकी है। लेकिन उससे अधिक संगीन स्थिति के बावजूद सतपाल महाराज के राजनीतिक रसूख के आगे कानून अब तक कुछ नहीं कर पाया। सत्याग्रह करने वालों में में पूर्व राज्यमंत्री जसवीर राणा, पूर्व प्रधान तेजपाल पटवाल, बृजेन्द्र नेगी, युवा कांग्रेस के पूर्व प्रदेश सचिव प्रवेश रावत, देवेन्द्र भट्ट, पवन रावत, राकेश शर्मा, सौरभ पाण्डे, विक्रम सिंह राणा, आलोक बडोला, अतुल नेगी आदि शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!