नेटवर्क विहीन क्षेत्र में राहत टीम को सेटलाईट फोन के साथ ही भेजे: डीएम

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
चमोली।
जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने बुधवार को वर्चुअल माध्यम से तहसील स्तरीय अधिकारियों की बैठक लेते हुए सड़क, बिजली, पेयजल एवं अन्य व्यवस्थाओं की विस्तृत समीक्षा की। उन्होंने सभी एसडीएम को निर्देश दिए कि विगत दिनों बारिश के चलते जहां भी सड़के, विद्युत एवं पेयजल आपूर्ति बाधित है उनको जल्द से जल्द सुचारू किया जाए और प्रभावित क्षेत्रों में क्षति का आंकलन कर इसकी रिपोर्ट दें। डीएम ने नेटवर्क विहीन क्षेत्र में राहत टीम को सेटलाईट फोन के साथ ही भेजने के निर्देश दिए, ताकि उनसे रेग्यूलर संपर्क रखा जा सके।
जिलाधिकारी ने कहा कि बारिश के कारण जहां भी निजी एवं सरकारी परिसंपत्तियों को नुकसान हुआ है संबधित पटवारी के माध्यम से शीघ्र उसका आंकलन कर रिपोर्ट उपलब्ध करें, ताकि प्रभावितों को समय से मुआवजा वितरण किया जा सके। उन्होंने सभी सड़क निर्माणदायी संस्थाओं को निर्देश दिए कि बरसात सीजन के लिए जो मीशीने हायर कर रखी है उसके अतिरिक्त भी जेसीबी मशीनों की व्यवस्था रखें ताकि सड़क अवरूद्व होने पर अतिरिक्त मशीने की जरूरत पड़ने पर उपयोग में लाया जा सके। साथ ही सभी एसडीएम एवं सड़क निर्माणदायी संस्थाओं से जुड़े अधिकारियों को अपने क्षेत्रों में सड़कों का निरीक्षण करने और सड़कों पर पड़े मलवे का शीघ्र उचित निस्तारण कराने के निर्देश दिए, ताकि बरसात के दौरान सड़क कटिंग के मलवे से किसी के घर एवं खेतों को नुकसान न पहुंचे। जिलाधिकारी ने सड़क, विद्युत, पेयजल आपूर्ति बाधित होने तथा व्यवस्था को सुचारू करने की सही तिथि एवं समय की जानकारी नियमित रूप से कंट्रोल रूम को उपलब्ध कराने को कहा।
जिलाधिकारी ने निर्देश दिए विगत कुछ दिनों में बरसात के कारण जितनी भी सड़के बंद पडी है। उनको प्राथमिकता पर सुचारू करना सुनिश्चित करें। कहा कि कुछ स्थानों पर जेसीबी मशीन को पूरे दिन काम करना पड रहा है ऐसे में मशीनों के लिए अतिरिक्त तेल की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए। उन्होंने एडीएम को निर्देशित किया कि तहसीलों में भी तेल का स्टॉक उपलब्ध करा दें ताकि आपात स्थिति में इसको उपयोग किया जा सके। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि सड़क बंद होने पर आपात स्थिति में जहां पर भी लोगों को ठहराया जा रहा है उसके बिल का भुगतान भी समय पर कराना सुनिश्चित करें। इस दौरान अपर जिलाधिकारी हेमंत वर्मा, डीडीएमओ एनके जोशी, तहसील स्तर से सभी एसडीएम सहित विद्युत, जल संस्थान एवं सड़क निर्माणदायी संस्थाओं के अधिकारी जुडे़ थे।

चमोली गढ़वाल में 169 सड़के बंद
वीसी में तहसीलों से अवगत कराया गया कि पोखरी में 18, कर्णप्रयाग-1 में 24 तथा कर्णप्रयाग-2 में 19 तथा गोपेश्वर में 2 सहित कुल 169 सड़के बंद हुई थी जिसमें से 107 सड़के सुचारू कर दी गई है। बुधवार सुबह तक कुल 62 सड़के बंद थी जिसमें से 11 सड़के सुचारू करने के बाद अब 51 सड़के बंद है जिन्हे खोलने का काम जारी है। इसके अलावा पोखरी, नारायणबगड तथा कर्णप्रयाग में कुछ स्थानों पर पेयजल आपूर्ति को सुचारू करने का काम जारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!