शराब की दुकान के विरोध में डटी हुई हैं महिलाएं

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। नगर निगम के वार्ड नंबर तीन सनेह क्षेत्र में अंग्रेजी शराब की दुकान खोले जाने के विरोध में 10वें दिन भी महिलाओं का धरना-प्रदर्शन जारी रहा। महिलाओं का कहना है कि शराब ने ग्रामीणों की जिंदगी को नरक बना दिया है। कई परिवार बर्बाद हो चुके हैं। शराब की दुकान निरस्त नहीं होने तक आंदोलन जारी रहेगा। धरनास्थल पर महिला कांग्रेस की जिलाध्यक्ष रंजना रावत ने महिलाओं को मास्क वितरित किये।
मंगलवार को सनेह में दुकान के बाहर धरना महिलाओं ने धरना दिया। हालांकि वो इस दौरान मास्क लागकार सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी कर रही है। महिलाओं का कहना है कि गांव में शराब दुकान खुलने से पूरा माहौल खराब हो रहा है, गांव के बच्चों का भविष्य बर्बाद हो रहा है। महिलाएं किसी भी कीमत पर समझौता नहीं करने की बात कह रही हैं। महिलाओं ने आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि गत सोमवार को स्थानीय विधायक एवं प्रदेश के वन मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत ने 24 घंटे में शराब की दुकान बंद कराने का आश्वासन दिया था, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हो पाये है। जिससे महिलाओं में आक्रोश व्याप्त है। उन्होंने कहा कि जहां यह शराब की दुकान खुली है, यह स्कूली बच्चों का मुख्य रास्ता है, महिलाओं व बच्चों को इस शराब की दुकान से काफी परेशानी हो रही है। वहीं इस दुकान के खुलने से क्षेत्र के युवा नशे के आदी हो रहे है। साथ ही क्षेत्र की शांति भंग हो रही है। धरना देने वालों में रेनू कोटियाल, बिमला कोटियाल, पूर्व प्रधान गमली देवी, सतेश्वरी देवी, सुधांशु नेगी, महिला कांग्रेस की जिलाध्यक्ष रंजना रावत, प्रीती देवी, पूनम राणा, कुसुम नेगी, शोभा देवी, डिपंल देवी, वीना देवी, कमला देवी, छोटी देवी अन्य महिलायें शामिल रही। (फोटो संलग्न है)
कैप्शन03: सनेह में शराब की दुकान के बाहर धरना देती हुए महिलाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!