श्रम कानून में बदलाव की मांग पर दवा प्रतिनिधियों ने किया प्रदर्शन

Spread the love

पिथौरागढ़। दवा प्रतिनिधियों ने श्रम कानून में बदलाव की मांग पर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। कहा केंद्र सरकार उद्योगपतियों के हाथों की कठपुतली बन जनता पर नए कानून थोप रही है। उसे जनता के हितों से कोई सरोकार नहीं है। बुधवार को दवा प्रतिनिधि संगठन के जिलाध्यक्ष भुवन पांडे के नेतृत्व में प्रतिनिधियों ने जिला अस्पताल के बाहर नारे लगाते हुए सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा केंद्र सरकार कोरोना की आड़ में नए जनविरोधी कानून बनाकर जबरन देश की जनता पर थोप रही है। पूंजीपतियों के हाथों की कठपुतली बन संविधान से खेलना भाजपा सरकार की फितरत बन गई है। देश में नए श्रम कानून का जमकर विरोध हो रहा है। बावजूद इसके इसे नहीं बदला जा रहा। केंद्र सरकार किसान विरोधी एक नया अध्यादेश लेकर आ गई है। कहा केंद्र सरकार पूर्ण बहुमत का गलत उपयोग कर बगैर प्रश्नकाल के ही सदन में नए कानूनों को मंजूरी दे रही है, जो देश की जनता के साथ धोखा है। कहा सरकार की इन जनविरोधी नीतियों का पूरा विरोध किया जाएगा। चेतावनी देते हुए कहा जनविरोधी कानूनों को नहीं बदला गया तो देश की जनता सड़कों पर उतरेगी। इस दौरान पीके मिश्रा, भगवान सिंह, जीवन पंत, सुरेश जोशी, गंभीर भंडारी, खीम भंडारी, शंकर, संतोष, हरेंद्र जोशी, भूरा लाल, धीरज, पवन बोरा, महेश महर, सुमित शाह, दीपक, शंकर प्रसाद आदि थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!