यूक्रेन में मौजूद रूस या उसके नागरिकों की संपत्तियां होंगी जब्त, देश की संसद ने दी कानून को मंजूरी

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

मास्को, एजेंसी। रूस और यूक्रेन के बीच छिड़े युद्घ का आज आठवां दिन है। यूक्रेनियन संसद ने यूक्रेन में रूस या रूस के नागरिकों के स्वामित्व वाली संपत्ति को जब्त करने की अनुमति दे दी है। इस संबंध में यूक्रेन की संसद में एक बिल पेश किया गया था जिसे अब मंजूरी दे दी गई है। साथ ही यूक्रेन पर हमले के विरोध में कनाडा ने रूस, बेलारूस के आयात शुल्क पर 35 फीसदी की बढ़ोतरी की है। वहीं भारत सरकार के आपरेशन गंगा के तहत युद्घक्षेत्र में फंसे भारतीयों की निकासी लगातार जारी है। सरकार ने अपने चार मंत्रियों को विशेष दूत की भूमिका में यूक्रेन से लगे पड़ोसी देशों में भेजा है। ताकि वक्त रहते वहां से भारतीय नागरिकों की सुरक्षिक स्वदेश वापसी संभव हो सके। इस मिशन पर यूक्रेन के पड़ोसी देश स्लोवाकिया से अपने नागरिकों की निकसी के लिए केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू को जिम्मेदारी सौंपी गई है। समाचार एजेंसी पीटीआई ने रिजिजू के हवाले से बताया है कि, गुरूवार को 370 छात्रों के लेकर दो उड़ाने स्लोवाकिया के कोसिसे से दिल्ली के लिए रवाना होंगी।
यूक्रेनियन संसद ने यूक्रेन में रूस या रूस के नागरिकों के स्वामित्व वाली संपत्ति को जब्त करने की अनुमति दे दी है। इस संबंध में यूक्रेन की संसद में एक बिल पेश किया गया था जिसे अब मंजूरी दे दी गई है। वहीं यूक्रेन पर हमले के विरोध में कनाडा ने रूस, बेलारूस के आयात शुल्क पर 35 फीसदी की बढ़ोतरी की है।
यूक्रेन और रूस के बीच जंग छिड़े आज आठ दिन बीत चुके हैं। रायटर्स के मुताबिक यूक्रेनी प्रतिनिधिमंडल युद्घविराम को लेकर रूसी पक्ष के साथ वार्ता के लिए बेलारूस पहुंचा है। आज दोनों पक्षों के बीच दूसरे दौर की वार्ता होगी। सोमवार को रूस और यूक्रेन के बीच पहले दौर की वार्ता हुई थी। खार्कीव के बाहरी इलाके पिसोचिन से दो बसों के जरिए 56 भारतीय छात्र लवीव के लिए रवाना हुए हैं। यहां मिलिट्री स्कूल और एक हास्टल में करीब 800 भारतीय छात्रों को ठहराया गया है। भारतीयों की सुरक्षित निकसी के लिए सरकार ने विशेष दूत की भूमिका में केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू को स्लोवाकिया भेजा है। समाचार एजेंसी ने रिजिजू के हवाले से बताया है कि गुरुवार को 370 छात्रों के लेकर दो उड़ाने स्लोवाकिया के कोसिसे से दिल्ली के लिए रवाना होंगी।
रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने पश्चिमी राजनेताओं पर परमाणु युद्घ का मुद्दा टेड़ने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि रूस परमाणु युद्घ का पक्षकार नहीं है, लेकिन पश्चिमी राजनेताओं ने युद्घ में परमाणू के इस्तेमाल की चर्चा की।
विदेश मंत्रालय की सलाहकार समिति की बैठक में राहुल गांधी ने चीन और पाकिस्तान के रूस के करीब आने का मुद्दा उठाया। सूत्रों के मुताबिक उन्होंने कहा कि प्राथमिकता अभी यूक्रेन से छात्रों को निकालना है। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि हमें प्रतिक्रिया करने में देर हुई और एडवाइजरी भ्रमित कर रही थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!