उत्तराखण्ड में कोरोना के 43 नए मामले सामने आए

Spread the love

देहरादून। उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। बुधवार को कोरोना के 43 नए मामले सामने आए हैं, जिनमें 14 अल्मोड़ा, आठ देहरादून, नौ टिहरी गढ़वाल, दो रुद्रप्रयाग, एक पौड़ी गढ़वाल और एक उत्तरकाशी से है। वहीं, 14 लोग पूरी तरह से स्वस्थ हुए हैं। इसके बाद प्रदेशभर में संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 1985 हो गई है। हालांकि, कुल संक्रमित मरीजों में से अब तक 1230 लोग ठीक होकर अस्पतालों से डिस्चार्ज हो चुके हैं। कोरोना पॉजिटिव 13 लोग राज्य से बाहर जा चुके हैं, जबकि 25 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है। वहीं, होम क्वारंटाइन में रह रहे युवक समेत तीन की मौत हो गई। इनके कोरोना सैंपल जाच के लिए भेजे जाएंगे।
हरिद्वार में दिल्ली से लौटे एक आश्रम के बाबा कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। पुलिस ने फिलहाल आश्रम को सील कर दिया है। साथ ही बाबा को आइसोलेट कराया। पुलिस के मुताबिक उत्तरी हरिद्वार के सप्त ऋ षि क्षेत्र में हरिहर धाम से जुड़ा एक बुजुर्ग बाबा चार-पांच दिन पहले दिल्ली से लौटा थे। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने उनका कोरोना सैंपल लिया था। बुधवार को रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर बाबा को मेला अस्पताल में आइसोलेट करा दिया गया है। पुलिस ने आश्रम समेत आसपास की गलियों को सील कर दिया है
ऋ षिकेश के भल्ला फार्म श्यामपुर में होम क्वारंटाइन में रह रहे एक 50 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई। यह व्यक्ति दिल्ली से 10 दिन पहले यहां आया था। प्रथम दृष्टिया मृत्यु का कारण हार्ट अटैक बताया गया है। स्वास्थ्य विभाग की टीम मौके पर है।
ऊधमसिंह नगर जिले के काशीपुर में बुधवार की सुबह संदिग्ध परिस्थिति में दो लोगों की मोत हहो गई। दिल्ली से आये 29 वर्षीय युवक की होम क्वारंटाइन में मौत हुई है। वहीं, टांडा उज्जैन मोहल्ले में एक 22 वर्ष की युवती की भी मौत हो गई है। युवक हार्ट पेशेंट और युवती को तीन चार दिन से खांसी बुखार था। दोनों संदिग्धों का कोरोना सैंपल जांच के लिए भेजा जा रहा है। शव फिलाहल पुलिस टीम ने अपने कब्जे में ले लिया है। गुरुग्राम से लौटी प्रतापनगर निवासी एक महिला की जिला अस्पताल में मौत हो गई। महिला को बीती देर शाम अस्पताल में भर्ती कराया गया था। डॉक्टरों के मुताबिक वो कुछ दिन पहले गुरुग्राम से टिहरी प्रतापनगर अपने गांव आई थी। महिला के साथ छोटे बच्चे होने के कारण उसे होम क्वारंटाइन में भेज दिया गया था। डॉक्टरों के मुताबिक महिला ने कोई दवाई खाई थी, उसे ब्लीडिंग हुई और रात को उसने अस्पताल में दम तोड़ दिया। महिला का कोरोना सैंपल जांच के लिए भेज दिया गया है। महिला के पति को भी क्वारंटाइन किया गया है। साथ ही महिला का इलाज करने वाली दो महिला डॉक्टरों को भी आइसोलेट किया गया है।
सेलाकुई रहने वाले टिहरी गढ़वाल के एक युवक की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। युवक चार दिन पहले सेलाकुई से टिहरी गया था। टिहरी में ही उसका टेस्ट किया गया था, जहां बुधवार को रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। एसडीएम सौरभ असवाल के अनुसार युवक की ट्रैवल हिस्ट्री खंगाली जा रही है।
रुद्रप्रयाग में दो लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। यह दोनों ही स्थानीय हैं, जिसके बाद अब जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 48 पहुंच गया है। स्वास्थ्य विभाग की टीम दोनों की कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग कर रही है। साथ ही उन्हें आइसोलेशन में शिफ्ट किया जा रहा है।
द्वाराहाट विकासखंड के कफड़ा का एक व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिला है। गत 11 जून को दिल्ली से पहाड़ लौटते समय 12 जून को भुजान में टैस्टिंग के बाद यह होम क्वारंटाइन था। बुधवार को रिपोर्ट आने पर वह पॉजिटिव पाया गया। अब उसे बेस हॉस्पिटल अल्मोड़ा ले जाया जा रहा है। 46 वर्षीय इस व्यक्ति को मधुमेह का रोगी भी बताया जा रहा है। दिल्ली से वह किनके साथ आया और किसके संपर्क में रहा, इसके बारे में भी जानकारी व निगरानी रखी जा रही है। जो 28 दिन तक जारी रहेगी। हाई रिस्क वालों को क्वारंटाइन किया जाएगा। संक्रमितों की संख्या में फिर आ रही तेजी को भांप स्वास्थ्य विभाग व प्रशासन और अधिक सतर्कता बरतने की रणनीति बना रहा है।
अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स ऋषिकेश) में बुधवार को तीन लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, इनमें दो मरीज ऋषिकेश और एक हरिद्वार का है। एम्स संस्थान के जनसंपर्क अधिकारी हरीश मोहन थपलियाल ने बताया कि पहला मामला शिवाजीनगर ऋषिकेश का है। 62 वर्षीय एक व्यक्ति बीते मंगलवार को एम्स ओपीडी में आया था, जो इसके बाद से सीमा डेंटल कॉलेज ऋषिकेश में क्वारंटाइन था। उइसकी रिपोर्टपॉजिटिव पाई गई है। पेशेंट एसिम्टमेटिक (जिसमें रोग के लक्षण नहीं दिखाई पड़ते) है। यह व्यक्ति बीते दिनों दिल्ली से ऋषिकेश आया था।
दूसरा मामला हरिद्वार का है। हरिहर धाम सप्तऋषि, हरिद्वार निवासी एक 67 वर्षीय व्यक्ति बीते मंगलवार को लीवर की समस्या को लेकर एम्स की नॉन कोविड ओपीडी में परीक्षण के लिए आया था। बताया गया कि यह व्यक्ति बीती तीन जून को दिल्ली से हरिद्वार आया था। इसके बाद से होम क्वारंटाइन में था।
तीसरा मामला बैराज रोड टिहरी विस्थापित पशुलोक क्षेत्र का है। यहां वीरभद्र अपार्टमेंट निवासी एक 25 वर्षीया युवती जो कि 15 दिन पूर्व दिल्ली से ऋषिकेश आई थी और होम आइसोलेशन में थी। युवती बुखार की शिकायत के साथ बीते मंगलवार को एम्स ओपीडी में आई थी। यहां पर इसका कोविड सैंपल लिया गया था, जो कि बुधवार को कोविड पॉजिटिव पाई गई है। उन्होंने बताया कि इन सभी मामलों के बाबत अग्रिम कार्रवाई के लिए स्टेट सर्विलांस ऑफिसर को सूचित कर दिया गया है, साथ ही तीनों मरीजों को नजदीकी कोविड केयर सेंटर( सीसीसी) में एडमिट का सुझाव दिया गया है।मसूरी के निकट कैंप्टीफाल में अभी व्यापारी बाजार खोलने के पक्ष में नजर नहीं आ रहे हैं। कोरोना के मद्देनजर यहां के बाजार बंद पड़े हैं। इससे यह पर्यटक स्थल सूना पड़ा है। कैंप्टीफाल के व्यापार संघ अध्यक्ष सुंदर सिंह रावत ने बताया कि जब पर्यटक ही नहीं आ रहे हैं तो बाजार खोलने का कोई ओचित्य नहीं है। कोविड से सुरक्षा के लिए फिलहाल बाजार बंद रखना ही श्रेयकर होगा। फिर भी एक दो दिनों में व्यापारियों के साथ बैठक कर स्थिति की समीक्षा की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!