ठक्कर बापा छात्रावास में स्व बहुगुणा की अस्थियों के दर्शन किए

Spread the love

नई टिहरी। पद्मविभूषित व चिपको आंदोलन के नेता स्व सुन्दरलाल बहुगुणा की अस्थियों का दर्शन के लिए ठक्कर बापा छात्रावास में रखा गया। जहां पर लोगों ने अस्थियों के दर्शन करन के बाद आड़ू व चुलु के पेड़ लगाकर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर दर्शनार्थ पहुंचे कांग्रेस नेता व पूर्व कैबिनेट मंत्री किशोर उपाध्याय, ब्लाक प्रमुख प्रताप नगर प्रदीप रमोला, शांति भट्ट, देवेंद्र नौडियाल, मुशर्रफ, अमित पंत, आदि मौजूद आदि पहुंचे। कहा कि स्व बहुगुणा हमेशा फलदार वृक्ष के पक्षधर थे। इसलिए छात्रावास के आंगन में आगंतुकों फलदार वृक्षों का रोपण कर उनके आदर्शों पर चलने का प्रण भी लिया। किशोर उपाध्याय ने कहा कि बहुगुणा जैसी शख्सियत पूरे उत्तराखंड में न तो वर्तमान में है और नहीं भविष्य में होगी। उनके तप और सामर्थ्य का अवलोकन पूरा विश्व करता है। बहुगुणा को देश मे ही नहीं, अपितु पूरे विश्व मे एक दर्शानर्थ के रूप में जाना जाता है। विदेशों में भी उनके कार्यों को लेकर चर्चाये होती रहती हैं। अस्थियों के साथ चल रहे हिमालय बचाओ आंदोलन के समीर रतूड़ी ने कहा कि स्व बहुगुणा शारीरिक रूप से हमारे बीच मे नहीं हैं, लेकिन जो नींव वे संघर्ष की, पर्यावरण प्रेम की, जन मानस के मुद्दों की समझ की हमारे बीच रख के गये हैं, वे हमेशा स्व बहुगुणा जीवित रखेंगे। उन्होंने बताया कि ठक्कर बापा छात्रावास स्व बहुगुणा जी के संघर्षों का एक प्रतिफल है। इसी छात्रावास से उन्होंने कई जनसंघर्ष के बिगुल बजाए हैं। ऐसे में उनके अस्थियों को दर्शानर्थ को रखना बेहद महत्वपूर्ण था। उन्होंने बताया कि टिहरी बांध विरोध के आंदोलन के दौरान स्व बहुगुणा ने प्रण किया था, कि वे अपने आश्रम तब जायेंगे, जब बांध का काम रुक जाएगा। बांध के न रुकने के कारण स्व बहुगुणा अपने आश्रम नहीं गये। उनकी अस्थियों को सिलयारा स्थित आश्रम में ले जाया जाएगा। सोमवार को पर्वतीय नवजीवन मंडल आश्रम में उनकी अस्थियां दर्शानार्थ को रखी जायेंगे। मंगलवार को देवप्रयाग संगम में उनकी अस्थियों को प्रवाहित किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!